पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Nirmala Sitharaman | Finance Minister Nirmala Sitharaman To Nandan Nilekani On Income Tax E filing Website Login Issue

नई टैक्स फाइलिंग वेबसाइट में दिक्कत:वित्त मंत्री ने डिजाइन करने वाली इंफोसिस और कंपनी के को-फाउंडर नीलेकणि को ट्वीट किया, बोलीं- सर्विस में कमी न होने दें

मुंबई9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आयकर विभाग ने सोमवार देर रात नए इनकम टैक्स ई-फाइलिंग पोर्टल लॉन्च कर दिया। दावा किया गया था कि नई वेबसाइट को पहले से बेहतर बनाया गया है, लेकिन कुछ ही घंटों बाद नई वेबसाइट में गड़बड़ियों की शिकायतें आने लगीं। इसे लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इंफोसिस के को-फाउंडर नंदन नीलेकणि से इसमें सुधार के लिए कहा। नए पोर्टल को डिजाइन और मेंटेन करने की जिम्मेदारी इंफोसिस को ही दी गई है।

इंफोसिस के को-फाउंडर को आड़े हाथ लिया
निर्मला ने अपने ट्वीट में लिखा कि विभाग का ई-फाइलिंग पोर्टल 2.0 का लंबे समय से इंतजार था। इसे सोमवार रात 10.45 बजे लॉन्च किया गया। इसे लेकर कई लोग शिकायत कर रहे हैं। वे साइट को ओपन नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने नंदन नीलेकणि के टैग करते हुए लिखा कि टैक्स पेयर्स को सर्विस की क्वालिटी में कमी न होने दें। टैक्सपेयर्स के लिए प्रक्रिया आसान बनाना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए।

इस पर नंदन नीलेकणि ने सफाई दी कि पोर्टल में कुछ दिक्कतें आई हैं। इंफोसिस उन्हें दूर करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने वित्त मंत्री को टैग कर सोशल मीडिया पर लिखा कि नया ई-फाइलिंग पोर्टल फाइलिंग प्रोसेस को आसान करेगा। हमने पहले दिन कुछ तकनीकी मुद्दों को देखा है। इंफोसिस को इसके लिए खेद है। उम्मीद है सिस्टम इसी सप्ताह ठीक हो जाएगा।
18 जून से शुरू होगा मोबाइल ऐप
नई वेबसाइट 7 जून से शुरू हो गई है, लेकिन कर भुगतान प्रणाली की शुरुआत 18 जून को एडवांस्ड टैक्स की किस्त की तारीख के बाद की जाएगी। इसके अलावा पहली बार दी जा रही मोबाइल ऐप की सुविधा को भी 18 जून से शुरू किया जाएगा। इससे टैक्सपेयर्स टैक्स से जुड़े कामकाज ऐप पर भी कर सकेंगे।

नई वेबसाइट पर दावे...

  • नई वेबसाइट ज्यादा यूजर फ्रेंडली है। इससे इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने में आसानी होगी और रिफंड भी जल्दी मिलेगा।
  • सभी ट्रांजैक्शन, अपलोड और पेंडिंग एक्शन एक ही डैशबोर्ड पर दिखते हैं, ताकि यूजर उसे रिव्यू कर सकें और जरूरत के हिसाब से एक्शन ले सकें। यानी इससे ITR फाइल करना, उसे रिव्यू करना और कोई एक्शन लेना आसान हो जाएगा।
  • ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही स्थितियों के लिए ITR के लिए तैयारी करने का सॉफ्टवेयर मुफ्त में उपलब्ध है। इसमें करदाताओं को असिस्ट करने की सुविधा भी है और प्री-फाइलिंग का विकल्प भी है, ताकि कम से कम डेटा एंट्री करनी पड़े।
  • नए पोर्टल में एक नया टैक्स पेमेंट सिस्टम लाया गया है, जिसमें भुगतान के कई विकल्प होंगे, जैसे नेट बैंकिंग, यूपीआई, आरटीजीएस, एनईएफटी आदि।
  • करदाताओं के सवालों का जवाब देने के लिए एक चैटबॉट उपलब्ध कराया गया है।

नई ई-फाइलिंग लिंक- www.incometax.gov.in ने मौजूदा हाइपरलिंक "http://existing www.incometaxindiaefiling.gov.in" की जगह ले ली है। नया पोर्टल ITR के तत्काल प्रोसेसिंग पर काम करता है जिससे टैक्सपेयर्स का तेजी से रिफंड जनरेट हो।