पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Fixed Deposit (FD) Rates Compared: SBI Vs HDFC Bank Vs ICICI Vs Axis Bank Vs Post Office

काम की बात:फिक्स्ड डिपॉजिट कराने का बना रहे हैं प्लान तो पहले यहां जान लें कहां निवेश करने पर मिलेगा ज्यादा फायदा

नई दिल्ली16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अगर आप इन दिनों फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) में निवेश करने जा रहे हैं तो आपको बैंको की ब्याज दरों के बारे में पता होना जरूरी है। SBI, HDFC, ICICI और एक्सिस बैंक ने हाल ही में FD की ब्याज दरों में बदलाव किया है। हालांकि सरकार ने जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए स्मॉल सेविंग स्कीम्स की ब्याज दरों में कटौती नहीं की है। ऐसे में पोस्ट ऑफिस की टाइम डिपॉजिट में आपको पहले जितना ब्याज मिलता रहेगा। यहां हम आपको बता रहे हैं कि आपको कहां निवेश करने पर कितना ब्याज मिलेगा।

कहां मिल रहा कितना ब्याज

2 साल की FD पर ब्याज

बैंकब्याज दर (% में)
पोस्ट ऑफिस5.50
एक्सिस5.25
SBI5.10
ICICI5.00
HDFC4.90

3 साल की FD पर ब्याज

बैंकब्याज दर (% में)
पोस्ट ऑफिस5.50
SBI5.30
HDFC5.15
एक्सिस5.25
ICICI5.15

5 साल की FD पर ब्याज

बैंकब्याज दर (% में)
पोस्ट ऑफिस6.70
एक्सिस5.75
HDFC5.50
SBI5.40
ICICI5.35

5 साल की FD पर ले सकते हैं टैक्स छूट का फायदा
5 साल वाली FD को टैक्स सेविंग FD कहा जाता है। इसमें निवेश पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपए तक टैक्स छूट ली जा सकती है।

FD से मिलने वाले ब्याज पर भी देना होगा टैक्स
FD से होने वाली ब्याज आय अगर 40000 रुपए (सीनियर सिटीजन के मामले में 50000 रुपए) तक है तो इस पर आपको कोई टैक्स नहीं देना होता। इससे ज्यादा आय होने पर 10% TDS काटा जाता है। अगर आपकी FD से सालाना ब्याज आय 40 हजार रुपए से अधिक है लेकिन कुल सालाना आय (ब्याज आय मिलाकर) उस सीमा तक नहीं है, जहां उस पर टैक्स लगे तो बैंक TDS नहीं काटा जाता है। इसके लिए सीनियर सिटीजन को बैंक में फॉर्म 15H और अन्य लोगों को फॉर्म 15G जमा करना होता है।

फॉर्म 15G या फॉर्म 15H खुद से की गई घोषणा वाला फॉर्म हैं। इसमें आप यह बताते हैं कि आपकी आय टैक्स की सीमा से बाहर है। जो इस फॉर्म को भरता है उसे टैक्स की सीमा से बाहर रखा जाएगा।