• Hindi News
  • Business
  • For Higher Returns Than FD, Invest In Flexi Cap Funds, You Can Start Investing With Rs 500

निवेश की बात:FD से ज्यादा रिटर्न के लिए फ्लेक्सी-कैप फंड में लगाएं पैसा, 500 रुपए से कर सकते हैं निवेश की शुरुआत

नई दिल्ली7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शेयर बाजार में आने वाले कुछ समय मे उतार चढ़ाव की संभावना है लेकिन लंबी अवधि के नजरिए से यह शेयर बाजार मे निवेश करने के लिए सही समय है। जिन निवेशकों को शेयर बाजार की सीमित जानकारी है उनकी मदद करता है म्यूचुअल फंड। इन दिनों अगर आप म्यूचुअल फंड में निवेश करने का मन बना रहे हैं तो आप फ्लेक्सी-कैप में निवेश कर सकते हैं। इसमें निवेश करके आप फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) से कहीं ज्यादा रिटर्न पा सकते हैं। हम आपको आज फ्लेक्सी-कैप फंड्स के बारे में बता रहे हैं।

फ्लेक्सी-कैप फंड क्या है?
जैसा कि नाम से ही पता चल जाता है, फ्लेक्सी-कैप एक इक्विटी म्यूचुअल फंड होता है जिसके पास निवेश करने के लिए लचीलापन होता है। इसमें फंड मैनेजर अपने हिसाब से निवेशक का पैसा स्मॉल, मिड या लार्ज कैप में निवेश करते हैं। इसमें फंड मैनेजर इस बात के लिए बाध्य नहीं रहता है कि उसे किस फंड कैटेगिरी में कितना निवेश करना है। इसमें कोई भी व्यक्ति 500 रुपए से निवेश की शुरुआत कर सकता है।

इस स्कीम में किसे करना चाहिए निवेश?
यदि आप इक्विटी फंड्स में इन्वेस्ट करना चाहते हैं लेकिन ज्यादा-रिस्की एक्सपोजर लेना नहीं चाहते, तो आप टॉप-रेटेड फ्लेक्सी-कैप फंड्स में इन्वेस्ट कर सकते हैं। मार्केट कैपिटलाइजेशन की दृष्टि से ये फंड्स अच्छी तरह डाइवर्सिफाइड भी होते हैं। ये फंड्स, मार्केट के स्थिर रहने पर, स्मॉल और मिड-कैप फंड्स की तुलना में कम रिटर्न दे सकते हैं लेकिन अस्थिर मार्केट कंडीशन में ये फंड्स कम रिस्की होते हैं। इसलिए, यदि आप एक ऐसा फंड चाहते हैं जिसमें कम रिस्क हो तो आप फ्लेक्सी-कैप फंड में निवेश कर सकते हैं।

इनमें लम्बे समय के लिए निवेश करना सही
पंकज मठपाल कहते हैं कि इन स्कीमों में कम से कम 5 साल के टाइम पीरियड को ध्यान में रख कर निवेश करना चाहिए। हो सकता है कम अवधि में कैटेगिरी का प्रदर्शन अच्छा न हो लेकिन लम्बी अवधि में ये आपको बेहतर रिटर्न दे सकते हैं।

कितना देना होता है टैक्स?
12 महीने से कम समय में निवेश भुनाने पर इक्विटी फंड्स से कमाई पर शार्ट टर्म कैपिटल गेन्स (STCG) टैक्स लगता है। यह मौजूदा नियमों के हिसाब से कमाई पर 15% तक लगाया जाता है। अगर आपका निवेश 12 महीनों से ज्यादा के लिए है तो इसे लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स (LTCG) माना जाएगा और इस पर 10% ब्याज देना होगा।

इस कैटेगिरी ने बीते 1 साल में दिया 55% का औसतन रिटर्न
पर्सनल फाइनेंस एक्सपर्ट और ऑप्टिमा मनी मैनेजर्स के संस्थापक व सीईओ पंकज मठपाल बताते हैं कि यदि हम फ्लेक्सी-कैप कैटेगिरी के पिछले एक साल के औसत प्रदर्शन पर ध्यान दें तो इस कैटेगरी ने पिछले एक साल मे लगभग 55% का रिटर्न दिया है। वहीं पिछले 3 और 5 साल मे देखा जाए तो औसतन 15% से अधिक की दर से रिटर्न मिला है।

इन म्यूचुअल फंड्स में कर सकते हैं निवेश

स्कीम का नामबीते 1 साल का रिटर्न (%)पिछले 3 साल में सालाना औसत रिटर्न (%)पिछले 5 साल में सालाना औसत रिटर्न (%)
PGIM फ्लेक्सी-कैप68.1531.0719.27
SBI फोकस्ड इक्विटी फंड67.6426.8118.33
HDFC रिटायरमेंट सेविंग्स फंड इक्विटी67.5223.8016.52
UTI फ्लेक्सी-कैप फंड66.0528.4219.39

IIFL इक्विटी फोकस्ड इक्विटी फंड

62.6231.8618.93