पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • Mukesh Ambani Gautam Adani Net Worth Update | Hurun India Rich List 2021 Latest

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर एनालिसिस:कमाई के मामले में मुकेश अंबानी से आगे हैं गौतम अदाणी, मोदी सरकार में दोनों की ग्रोथ तेजी से बढ़ी

मुंबईएक महीने पहलेलेखक: विमुक्त दवे
  • कॉपी लिंक

जब भी भारत के रईस उद्योगपतियों की बात होती है तो जुबान पर सबसे पहले अंबानी और अदाणी का ही नाम आता है। हुरुन इंडिया रिच लिस्ट के मुताबिक, अभी मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 6.05 लाख करोड़ रुपए है, जबकि अदाणी की 2.34 लाख करोड़ रुपए के आसपास है। हाल ही में अदाणी ग्रुप की कंपनियों की अच्छी ग्रोथ के चलते ग्रुप की नेटवर्थ जुलाई 2020 और मार्च 2021 के बीच करीब 67% बढ़ी है। जबकि, इसी दौरान मुकेश अंबानी की संपत्ति में 8% की कमी दर्ज की गई।

इसी सिलसिले में दैनिक भास्कर ने मार्केट एक्सपर्ट्स से बात कर यह जानने की कोशिश की है कि जिस रफ्तार से गौतम अदाणी आगे बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए उन्हें मुकेश अंबानी की बराबरी करने में कितना समय लग सकता है। साथ ही अदाणी ग्रुप की कमाई बढ़ाने के मुख्य कारक क्या हैं?

मोदी की सरकार बनने के बाद अदाणी-अंबानी की अच्छी ग्रोथ
देश में 2014 में सरकार बदलने और नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से मुकेश अंबानी और गौतम अदाणी की कंपनियों के बिजनेस में अच्छी ग्रोथ दर्ज की गई। आंकड़े बताते हैं कि 2014-2019 के दौरान मुकेश अंबानी की नेटवर्थ में 130.58%, जबकि इसी दौरान गौतम अदाणी की नेटवर्थ में 114.77% की बढ़ोतरी दर्ज की गई। हालांकि, 2016 में रिलायंस जियो की लॉन्चिंग मुकेश अंबानी की नेटवर्थ में ग्रोथ का मुख्य कारण रहा।

2019 के बाद अदाणी ग्रुप की रफ्तार बढ़ी
नरेंद्र मोदी सरकार का दूसरा टर्म 2019 में शुरू हुआ और इसके बाद से ही गौतम अदाणी ग्रुप की बढ़ोतरी में तेजी आई। 2019-2021 के बीच अदाणी ग्रुप की नेटवर्थ में 147.72% की बढ़ोतरी दर्ज की गई। वहीं, इसकी तुलना में अंबानी ग्रुप की नेटवर्थ में 59.15% की बढ़ोतरी हुई। इस तरह आंकड़े बताते हैं कि मोदी के सत्ता में आने के बाद से मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 267% और गौतम अदाणी की नेटवर्थ में 432% की बढ़ोतरी हुई।

अदाणी की नेटवर्थ बढ़ाने में ग्रुप के एनर्जी सेक्टर और उसमें भी रिन्युएबल कंपनी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। बिजनेस के नजरिए से सरकार की कई पॉलिसी अदाणी ग्रुप के अनुकूल रही हैं।

अगले दो-तीन वर्षों में दोनों की नेटवर्थ बराबरी पर आ सकती है
इस बारे में मुंबई के एक एनालिस्ट ने बताया कि नए साल में अभी तीन महीने ही हुए हैं और अदाणी की नेटवर्थ में उल्लेखनीय बढ़ोतरी देखी जा रही है। वहीं, अभी तो लगभग पूरा साल ही बचा हुआ है। हालांकि, अंबानी ग्रुप भी ग्रोथ में है, लेकिन उसकी रफ्तार अदाणी की तुलना में धीमी है। इसे देखते हुए साफ है कि अगर दोनों के बीच ग्रोथ की यही स्पीड रही तो अगले दो-तीन सालों में अदाणी ग्रुप अंबानी के बराबरी पर होगा।

एनर्जी कंपनियां अदाणी की वेल्द पॉवर बढ़ा रहीं
हुरुन इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर अनस रहमान जुनैद बताते हैं कि 2018 के बाद अदाणी पॉवर, अदाणी ग्रुप और अदाणी गैस जैसी कंपनियां, जो कि एनर्जी सेक्टर से जुड़ी हैं, उनका परफॉर्मेंस बहुत अच्छा है। अदाणी की वेल्द क्रिएशन में एनर्जी और गैस बिजनेस का योगदान पिछले दो सालों में बहुते तेजी से बढ़ा है। फिलहाल यही उनके लिए ड्राइविंग फोर्स है।

अंबानी के डिजिटल बिजनेस की रियल ग्रोथ अभी बाकी
अनस के बताए मुताबिक, रिलायंस का 60% बिजनेस ऑयल और गैस से आता है। 20% केमिकल और पेट्रो-केमिकल है, जबकि 20% डिजिटल बिजनेस है। अभी तक कंपनी का डिजिटल बिजनेस पूरी तरह से अनलॉक नहीं हुआ है। एक बार यह अनलॉक हो गया तो रिलायंस को इससे बहुत फायदा होगा।

स्टॉक मार्केट की रेस में अदाणी ग्रुप आगे निकल गया
शेयर बाजार के जानकारों के मुताबिक, गौतम अदाणी ग्रुप की कंपनियों में पिछले एक साल में जबर्दस्त तेजी आई है। रिलायंस के भी शेयर्स बढ़े हैं, लेकिन उसकी तुलना में अदाणी ग्रुप की 6 लिस्टेड कंपनियों का प्रदर्शन काफी अच्छा है। मार्च 2020 से लेकर 2021 के बीच रिलायंस इंडस्ट्रीज का स्टॉक लगभग 41% (मासिक औसत) बढ़ा है। वहीं, अदाणी ग्रुप की लिस्टेड कंपनियों में 182 से 728% तक का उछाल देखा गया।

आगे भी सुधार जारी रह सकता है
इस बारे में जिग्नेश माधवानी बताते हैं कि मार्केट प्रोजेक्शन पर चलता है और अदाणी ग्रुप के प्रोजेक्शन आने वाले तीन-चार सालों के लिए बहुत मजबूत नजर आ रहे हैं। FII, MF और इंश्योरेंस सेक्टर इस बात की अहमियत जानते हैं और इसी के चलते इनकी तरफ से जबर्दस्त निवेश आ रहा है और आगे भी आएगा। इसके चलते आने वाले समय में भी अदाणी ग्रुप की कंपनियों में सुधार जारी रह सकता है।

अदाणी ने भविष्य में बढ़ने वाले सेक्टर्स में निवेश किया है
मार्केट एनालिस्ट निखिल भट्ट बताते हैं कि अदाणी ने पिछले कुछ वर्षों में तेजी से बढ़ने वाले सेक्टर्स में निवेश किया था, जिसका फायदा उन्हें अब मिल रहा है। पोर्ट, पावर, रिन्युएबब एनर्जी और गैस ऐसे सेक्टर्स हैं, जो कंज्यूमर से डायरेक्टली या इनडायरेक्टली जुड़े हैं। इसमें अदाणी को अब मार्केट लीडर कहा जा सकता है और इसी के चलते उनका निवेश भी बढ़ा है।

रिलायंस जियो गेम चेंजर साबित हो सकता है
मार्केट एनालिस्ट के मुताबिक, रिलायंस के लिए जियो गेम चेंजर साबित हो सकता है। क्योंकि, पिछले साल (2020) में 11 विदेशी निवेशकों ने रिलायंस के डिजिटल आर्म जियो प्लेटफार्मों में करीब 1.20 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया है। इनमें सबसे बड़ा, यानी कि 43,574 करोड़ रुपए का निवेश फेसबुक ने किया है।

कंपनी आने वाले दिनों में 5G सर्विस भी लॉन्च कर सकती है। इसके अलावा उसे भारतीय और अमेरिकन स्टॉक मार्केट्स में भी भी लिस्ट कराने पर विचार किया जा रहा है। ये सभी चीजें मुकेश अंबानी के पक्ष में हैं और आने वाले दिनों में इस रेस में जियो गेम चेंजर साबित हो सकती है।

मार्केट कैप में अदाणी अभी अंबानी से पीछे, लेकिन ग्रोथ में आगे
दोनों ग्रुप्स की लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन देखें तो अदाणी ग्रुप रिलायंस से काफी पीछे है। रिलायंस का मार्केट कैप वर्तमान में 14.08 लाख करोड़ रुपए है। जबकि, इसकी तुलना में अदाणी की लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 6.25 लाख करोड़ रुपए है। जबकि, 2017 से अभी तक की ग्रोथ देखें तो पिछले 4 सालों में रिलायंस का मार्केट कैप 228.22% और अदाणी का मार्केट कैप 496.31% बढ़ा है।

आठ साल में सेंसेक्स दोगुना हो गया
पिछले आठ सालों में मुकेश अंबानी और गौतम अदाणी ग्रुप की ग्रोथ तो हुई ही है, साथ ही भारतीय शेयर बाजार भी दोगुना हो गया है। अभी तक यही कहा जाता था कि भारतीय शेयर बाजारों को चलाने में रिलायंस इंडस्ट्रीज की महत्वपूर्ण भूमिका है। लेकिन, अब मार्केट के जानकारों का मानना है कि आने वाले समय में मार्केट मूवमेंट का महत्वपूर्ण फैक्टर अदाणी ग्रुप होगा।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के ऐतिहासिक आंकड़ों के अनुसार, 2014 में सेंसेक्स 27,499.42 (वार्षिक औसत) पर बंद हुआ था। इसके मुकाबले 2021 में सेंसेक्स बढ़कर 52,516.76 होने के बाद अब 49,008.50 पर है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें