• Hindi News
  • Business
  • Good Signs From The Housing Sector, Strong Performance Even In The Era Of Kovid Epidemic, In 5 Years, Home Loan Increased By 30% Annually To 11% Of GDP

हाउसिंग सेक्टर से अच्छे संकेत:कोविड महामारी के दौर में भी शानदार प्रदर्शन, 5 साल में होम लोन सालाना 30% बढ़कर GDP के 11% तक पहुंचा

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पिछले कुछ सालों में प्रॉपर्टी मार्केट ने जोरदार ग्रोथ दिखाई है। होम लोन मार्केट की रफ्तार इसका संकेत दे रही है। पांच सालों में इस बाजार ने करीब एक तिहाई और पिछले साल ढाई गुना विस्तार देखा है। खास बात यह रही कि कोविड महामारी के बावजूद रफ्तार कायम है।

लोन मार्केट सालाना करीब 30% बढ़ा
नेशनल हाउसिंग बैंक (NHB) के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर राहुल भावे के मुताबिक पिछले 5 साल में होम लोन मार्केट सालाना करीब 30% बढ़ा है। उनके मुताबिक 1990 में जहां कुल होम लोन GDP (सकल घरेलू उत्पाद) का सिर्फ 1% था, वहीं अभी GDP के करीब 11% है।

27 लाख करोड़ का होम लोन बांटा
बैंकों और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों ने अभी लगभग 27 लाख करोड़ का होम लोन बांटा हुआ है। टेक्नोलॉजी कंपनी वेलोसिटी की तरफ से आयोजित एक वेबिनार में राहुल भावे ने कहा कि 2019-20 के मुकाबले इस साल 31 मार्च को खत्म वित्त वर्ष 2020-21 में होम लोन वितरण 185% बढ़ा है। इसमें से 65% लोन बैंकों ने और बाकी हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों ने दिए हैं।

टेक्नोलॉजी ने निभाई बड़ी भूमिका
NHB के राहुल भावे ने कहा कि हाउसिंग सेक्टर की तस्वीर बदलने में टेक्नोलॉजी ने बड़ी भूमिका निभाई है। नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने इस वेबिनार में कहा कि टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल बढ़ने से प्रॉपर्टी मार्केट के इकोसिस्टम तक आम लोगों की पहुंच बढ़ी है। इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी बोर्ड ऑफ इंडिया के अध्यक्ष एमएस साहू ने भी इस मौके पर कहा कि डिजिटल टेक्नोलॉजी ने मॉर्गेज लेंडिंग यानी प्रॉपर्टी के लिए लोन देने की प्रक्रिया आसान बना दी है।

टॉप-5 शहरों में 31% बढ़ी इंडस्ट्रियल-वेयरहाउसिंग स्पेस लीजिंग
जनवरी-जून 2021 के बीच 5 बड़े शहरों-बेंगलुरू, चेन्नई, दिल्ली-एनसीआर, मुंबई और पुणे में औद्योगिक इस्तेमाल और वेयरहाउस के लिए प्रॉपर्टी लीजिंग 31% बढ़ी है। प्रॉपर्टी कंसल्टेंट कॉलियर के मुताबिक, इसकी सबसे बड़ी वजह देश में ई-कॉमर्स तेजी से बढ़ना है। जनवरी-जून के बीच 1.01 करोड़ वर्ग फुट इंडस्ट्रियल और वेयरहाउसिंग स्पेस लीज पर दिए गए। वहीं 2020 की पहली छमाही में 77 लाख वर्ग फुट इंडस्ट्रियल और वेयरहाउसिंग स्पेस लीज पर दिए गए थे।