• Hindi News
  • Business
  • Goods And Service Tax Collection, Goods And Service Tax November, Goods Tax, Service Tax, Tax Collection

GDP के बाद GST भी बढ़ा:नवंबर में 1.31 लाख करोड़ कलेक्शन, अक्टूबर से ज्यादा; अब तक का दूसरा सबसे बड़ा आंकड़ा

मुंबई2 महीने पहले

सरकार ने वस्तु एवं सेवा कर (GST) के आंकड़े बुधवार को जारी किए। 2021 नवंबर में GST कलेक्शन 1,31,526 करोड़ रुपए रहा। अक्टूबर के मुकाबले इसमें बढ़ोतरी दर्ज की गई है। तब यह 1.30 लाख करोड़ रुपए था। देश में GST लागू होने के बाद ये दूसरा सबसे बड़ा कलेक्शन है। अब तक का सबसे ज्यादा GST कलेक्शन इसी साल अप्रैल में दर्ज किया गया। तब 1.41 लाख करोड़ रु. कलेक्शन किया गया था।

हालांकि, नवंबर का कलेक्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स का अनुमान था कि नवंबर में GST कलेक्शन अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ सकता है।

टैक्स कलेक्शन में CGST का हिस्सा 23,978 करोड़ रुपए रहा। IGST का हिस्सा 66,815 करोड़ और राज्यों का हिस्सा यानी SGST 31,127 करोड़ रुपए रहा। IGST में 32,165 करोड़ रुपए आयात (इंपोर्ट) का रहा, जबकि 9,607 करोड़ रुपए सेस के रूप में रहा। इस साल नवंबर में टैक्स कलेक्शन पिछले साल नवंबर में 1.04 लाख करोड़ रुपए की तुलना में 25% ज्यादा रहा। जबकि 2019-20 के नवंबर की तुलना में यह 27% ज्यादा रहा।

मार्च 2021 में सबसे ज्यादा ई-बिल जनरेट हुआ

अक्टूबर में कुल 7.35 करोड़ ई-बिल जनरेट किए गए। इसका मतलब यह हुआ कि उसकी रकम नवंबर में सरकार के पास आई होगी। अभी तक सबसे ज्यादा ई-बिल जनरेट मार्च 2021 में हुआ था। इसी का असर अप्रैल 2021 में रिकॉर्ड कलेक्शन के रूप में दिखा। दरअसल ई-बिल जनरेट होने के अगले महीने में टैक्स वसूली का आंकड़ा सामने आता है। अक्टूबर में GST कलेक्शन 1.3 लाख करोड़ रुपए था। 2020 के अक्टूबर की तुलना में यह 34% अधिक था।

27 नवंबर की बैठक टली

GST काउंसिल की बैठक 27 नवंबर को होनी थी, पर यह टल गई है। इस बैठक में GST दर और इसके स्लैब में बदलाव का फैसला होना था। फिटमेंट कमेटी ने कई सिफारिशें इस मामले में की है। हालांकि नवंबर में ई-बिल जनरेट कम हुआ है। इसका मतलब यह हुआ कि दिसंबर में जो टैक्स कलेक्शन होगा वह कम होगा। नवंबर में रोजाना औसतन 18.76 लाख ई-बिल जनरेट किए गए हैं। अक्टूबर में रोजाना 23.70 लाख बिल जनरेट किया गया था।

मई में 1.02 लाख करोड़ का कलेक्शन

इस वित्तवर्ष यानी अप्रैल से अब तक GST कलेक्शन देखें तो मई में 1.02 लाख करोड़ रुपए का कलेक्शन हुआ था। जून में यह घटकर 92,840 करोड़ रुपए रह गया। जुलाई में यह फिर 1 लाख करोड़ रुपए के पार 1.16 लाख करोड़ रुपए रहा जबकि अगस्त में 1.12 लाख करोड़ रुपए रहा। सितंबर में यह 1.17 लाख करोड़ और अक्टूबर में 1.30 लाख करोड़ रुपए था। मार्च में GST कलेक्शन 1.23 लाख करोड़ रुपए था। नवंबर 2020 से अब तक के एक साल के समय में केवल जून ही ऐसा महीना था, जिसमें कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए से कम रहा। बाकी हर महीने में यह एक लाख करोड़ रुपए के पार था।