पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Government Plans To Sell 15 Percent Stake In IRCON International Via Offer For Sale Of Shares

विनिवेश:IRCON इंटरनेशनल की 15% हिस्सेदारी बेचने की योजना बना रही है सरकार, OFS के जरिए होगी शेयरों की बिक्री

नई दिल्ली8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड-19 महामारी के कारण सरकार BPCL जैसी बड़ी कंपनियों की हिस्सेदारी बिक्री नहीं कर पा रही है। - Dainik Bhaskar
कोविड-19 महामारी के कारण सरकार BPCL जैसी बड़ी कंपनियों की हिस्सेदारी बिक्री नहीं कर पा रही है।
  • IRCON इंटरनेशनल में अभी केंद्र सरकार की 89.18% हिस्सेदारी
  • इस बिक्री से सरकार को 540 करोड़ रुपए मिलने की उम्मीद
  • चालू वित्त वर्ष में विनिवेश के जरिए 2.10 लाख करोड़ जुटाने का लक्ष्य

केंद्र सरकार रेलवे की इंजीनियरिंग कंपनी IRCON इंटरनेशनल लिमिटेड की 15% हिस्सेदारी बेचने की योजना बना रही है। यह हिस्सेदारी ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिए होगी। मौजूदा समय में IRCON इंटरनेशनल में सरकार की 89.18% हिस्सेदारी है।

दिसंबर तक हो सकती है हिस्सेदारी की बिक्री

इसकी जानकारी देते हुए एक अधिकारी ने बताया कि हम दिसंबर तक OFS के जरिए IRCON की हिस्सेदारी बेचने की योजना बना रहा हैं। हालांकि, यह बिक्री बाजार के हालात पर निर्भर करेगी। अधिकारी ने बताया कि बिक्री की जाने वाली हिस्सेदारी 10 से 15% की रेंज में हो सकती है।

दिसंबर में हुई थी IRCON की लिस्टिंग

रेलवे की इंजीनियरिंग सब्सिडियरी IRCON इंटरनेशनल की 2018 में शेयर बाजारों में लिस्टिंग हुई थी। IPO के जरिए IRCON ने 467 करोड़ रुपए जुटाए थे। शुक्रवार को BSE में IRCON इंटरनेशनल का शेयर 77.95 रुपए प्रति यूनिट पर बंद हुआ था। ताजा शेयर प्राइस के आधार पर IRCON की 15% हिस्सेदारी की बिक्री से सरकार को 540 करोड़ रुपए मिलेंगे।

चालू वित्त वर्ष 2.10 लाख करोड़ रुपए के विनिवेश का लक्ष्य

केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष में 2.10 लाख करोड़ रुपए के विनिवेश का लक्ष्य तय किया है। इसमें 1.20 लाख करोड़ रुपए सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज (CPSE) की हिस्सेदारी बेचकर जुटाए जाएंगे। वहीं, 90 हजार करोड़ रुपए वित्तीय संस्थानों की हिस्सेदारी बिक्री से जुटाए जाएंगे। इसमें LIC की 10% हिस्सेदारी बिक्री भी शामिल है।

अब तक CPSE की हिस्सेदारी बिक्री से 6,138 करोड़ रु. मिले

चालू वित्त वर्ष में CPSE की हिस्सेदारी बिक्री से अब तक सरकार को 6,138 करोड़ रुपए मिले हैं। कोविड-19 महामारी के कारण सरकार भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (BPCL) जैसी बड़ी कंपनियों की हिस्सेदारी बिक्री नहीं कर पा रही है। इसके अलावा इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) और रेल विकास निगम लिमिटेड (RVNL) की हिस्सेदारी बिक्री की प्रक्रिया भी चल रही है। इन दोनों कंपनियों की बिक्री भी OFS के जरिए की जानी है।