पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Govt To Provide All India Tourist Permit To Operators In 30 Days Of Online Application Submission

1 अप्रैल से लागू होंगे नए नियम:ऑनलाइन ऑल इंडिया परमिट ले सकेंगे व्हीकल ऑपरेटर, सड़क परिवहन मंत्रालय ने पेश की नई स्कीम

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • ऑनलाइन आवेदन के 30 दिन बाद मिल जाएगा परमिट
  • राज्यों में टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए उठाया कदम

यदि आप टूरिस्ट व्हीकल ऑपरेटर हैं तो यह आपके लिए काम की खबर है। सड़क परिवहन मंत्रालय ने टूरिस्ट व्हीकल ऑपरेटर के लिए ऑल इंडिया परमिट जारी करने को लेकर एक नई स्कीम लॉन्च की है। यह स्कीम 1 अप्रैल से लागू हो जाएगी। इस स्कीम के लागू होने के बाद टूरिस्ट ऑपरेटर्स को परमिट के लिए आरटीओ दफ्तर के चक्कर लगाने से मुक्ति मिल जाएगी।

ऑनलाइन आवेदन पर मिल सकेगा परमिट

सड़क परिवहन मंत्रालय के मुताबिक, अब टूरिस्ट व्हीकल ऑपरेटर ऑनलाइन आवेदन के जरिए भी ऑल इंडिया परमिट ले सकेंगे। आवेदन के अलावा सभी जरूरी कागजात और फीस भी ऑनलाइन जमा होगी। इस पूरी प्रक्रिया के बाद 30 दिन के अंदर परमिट जारी कर दिया जाएगा। मंत्रालय ने कहा है कि नए नियम लागू होने के बावजूद पहले से चल रहे परमिट अपनी वैधता अवधि तक लागू रहेंगे। नए नियमों को 'ऑल इंडिया टूरिस्ट व्हीकल्स ऑथराइजेशन एंड परमिट रूल्स-2021' नाम दिया गया है।

टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए जारी किए गए नए नियम

मंत्रालय ने कहा है कि देश के राज्यों में टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए नए नियम जारी किए गए हैं। इसके साथ राज्यों के रेवेन्यू में भी बढ़ोतरी होगी। ट्रांसपोर्ट डेवलपमेंट काउंसिल की 39वीं और 40वीं बैठक में राज्यों के साथ विचार-विमर्श के बाद यह नए नियम जारी किए गए हैं।

3 महीने से 3 साल तक की अवधि के लिए मिलेगा परमिट

इस स्कीम में टूरिस्ट व्हीकल ऑपरेटर्स को अवधि की फ्लैक्सिबिलिटी दी गई है। इसके तहत ऑपरेटर को तीन महीने और इसके गुणांक में परमिट दिया जाएगा। अधिकतम 3 साल की अवधि के लिए परमिट दिया जा सकेगा। कुछ क्षेत्रों में टूरिज्म सीजन छोटा होने और कुछ ऑपरेटर्स की वित्तीय स्थिति ज्यादा अच्छी ना होने के कारण तीन महीने वाली व्यवस्था लागू की गई है। इसके अलावा सभी राज्यों की परमिट फीस का एक डेटाबेस तैयार किया जाएगा।

बीते 15 सालों में काफी बढ़ा है टूरिज्म

बीते 15 सालों में देश में टूरिज्म में आई कई गुना बढ़ोतरी को देखते हुए मंत्रालय ने यह कदम उठाया है। टूरिज्म में आई इस ग्रोथ में घरेलू और इंटरनेशनल दोनों प्रकार के टूरिस्ट का योगदान है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए भी इस कदम को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

खबरें और भी हैं...