अर्थव्यवस्था की सुनहरी तस्वीर:नवंबर में 1.05 लाख करोड़ रु. का GST कलेक्शन,  लगातार दूसरे महीने 1 लाख करोड़ का आंकड़ा पार

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • 30 नवंबर तक कुल 82 लाख GSTR-3B रिटर्न फाइल हुए
  • अक्टूबर में GST कलेक्शन 1,05,155 करोड़ रुपए रहा था

कोविड-19 से उबरते हुए देश में आर्थिक गतिविधियों में लगातार ग्रोथ हो रही है। गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) कलेक्शन के आंकड़ों ने फिर इसकी गवाही दी है। सरकारी डाटा के मुताबिक, नवंबर 2020 में ग्रॉस GST कलेक्शन 1,04,963 करोड़ रुपए रहा है। यह लगातार दूसरा महीना है जब GST कलेक्शन का आंकड़ा 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहा है। अक्टूबर 2020 में GST कलेक्शन 1,05,155 करोड़ रुपए रहा था।

IGST से 51,992 करोड़ रुपए मिले

डाटा के मुताबिक, नवंबर महीने में CGST से 19,189 करोड़ रुपए, SGST से 25,540 करोड़ रुपए और IGST से 51,992 करोड़ रुपए का रेवेन्यू मिला है। IGST में 22,078 करोड़ रुपए का रेवेन्यू वस्तुओं के आयात से मिला है। इसके अलावा 8,242 करोड़ रुपए सेस के रूप में मिले हैं। आयात की गई वस्तुओं पर लगाए गए सेस से 809 करोड़ रुपए का रेवेन्यू मिला है। डाटा के मुताबिक, 30 नवंबर तक 82 लाख GSTR-3B रिटर्न फाइल किए गए हैं।

पिछले साल के मुकाबले 1.4% ज्यादा कलेक्शन

सरकार ने रेग्युलर सेटलमेंट के तौर पर IGST में से 22,293 करोड़ रुपए CGST और 16,286 करोड़ रुपए SGST में सेटल किए हैं। रेग्युलर सेटलमेंट के बाद केंद्र सरकार को 41,482 करोड़ रुपए, जबकि राज्य सरकारों को 41,826 करोड़ रुपए की आय हुई है। GST रेवेन्यू में सुधार के ताजा ट्रेंड के कारण एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले नवंबर 2020 के रेवेन्यू में 1.4% की ग्रोथ रही है। इस महीने में वस्तुओं के आयात से मिलने वाला रेवेन्यू 4.9% बढ़ा है।

2020 में GST कलेक्शन की स्थिति

माहकलेक्शन (करोड़ रु. में)
जनवरी1,10,828
फरवरी1,05,366
मार्च97,597
अप्रैल32,172
मई62,151
जून90,917
जुलाई87,422
अगस्त86,449
सितंबर95,480
अक्टूबर1,05,155
नवंबर1,04,963

सोर्स: सरकारी डाटा।