• Hindi News
  • Business
  • HDFC Bank Has Started Getting Credit Card Applications, The Bank Partnered With Paytm, HDFC Bank Paytm, HDFC Bank Credit Card, HDFC Bank Digital

प्रतिबंध हटने का असर:HDFC बैंक को मिलने लगी है क्रेडिट कार्ड की एप्लिकेशन, हर महीने 5 लाख नए क्रेडिट कार्ड जारी करने का लक्ष्य

मुंबई4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) से राहत मिलने के बाद HDFC बैंक के क्रेडिट कार्ड बिक्री शुरू हो गई है। बैंक को पहले 2-3 दिनों में ही क्रेडिट कार्ड की लाखों एप्लिकेशन मिली है। बैंक का पहला फोकस पिछले 8-9 महीनों में उसकी नुकसान की भरपाई करने का है।

फरवरी 2022 से हर महीने 5 लाख कार्ड जारी करने का लक्ष्य

बैंक ने कहा कि हर महीने 5 लाख क्रेडिट कार्ड जारी करने का लक्ष्य है। इस लक्ष्य को फरवरी 2022 से शुरू किया जाएगा। इससे बैंक उस मार्केट शेयर को हासिल कर लेगा, जो प्रतिबंधों की वजह से बैंक ने गंवा दिया था। बैंक ने कहा कि अगले 9-12 महीने में वह क्रेडिट कार्ड में लीडरशिप पोजीशन हासिल कर लेगा।

बैंक ने पेटीएम के साथ की भागीदारी

बैंक ने पेटीएम के साथ करार किया है। इसके तहत बैंक डिजिटल बैंकिंग की सेवाओं को व्यक्तिगत तौर पर और मर्चेंट्स को उपलब्ध कराएगा। इस भागीदारी से पेमेंट गेटवे और पॉइंट ऑफ सेल (PoS) की शुरुआत मर्चेंट्स के लिए की जाएगी। इसके तहत HDFC बैंक की सेल्स टीम पेटीएम के पेमेंट सोल्यूशन को बाजार में बेचेगी। HDFC पेमेंट पार्टनर होगा, जबकि पेटीएम डिस्ट्रीब्यूशन और सॉफ्टवेयर पार्टनर होगा।

बाद में क्रेडिट प्रोडक्ट उपलब्ध होंगे

बैंक ने कहा कि बाद में पेटीएम के जरिए क्रेडिट प्रोडक्ट जैसे पेटीएम के बाय नाउ-पे लेटर सोल्यूशन, ईजी मासिक किस्त (EMI) और फ्लैक्सी पे को उपलब्ध कराएगा। दोनों मिलकर को ब्रांडेड PoS प्रोडक्ट को रिटेल सेगमेंट के लिए लॉन्च करेंगे।

पेटीएम देश का सबसे बड़ा पेमेंट फर्म है। इसके पास 33.3 करोड़ यूजर्स हैं। 2.1 करोड़ मर्चेंट्स प्लेटफॉर्म है। बैंक के पेमेंट, कंज्यूमर फाइनेंस, डिजिटल बैंकिंग के ग्रुप हेड पराग राव ने कहा कि HDFC बैंक की भागीदारी से तमाम डिजिटल बैंकिंग सेवाओं को ग्राहकों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी। इसमें बैंकिंग, पेमेंट्स, उधारी जैसी सेवाएं शामिल होंगी।

पिछले हफ्ते प्रतिबंध हटा था

निजी क्षेत्र के देश के सबसे बड़े HDFC बैंक को पिछले हफ्ते रिजर्व बैंक ने क्रेडिट कार्ड जारी करने की मंजूरी दी थी। दिसंबर में रिजर्व बैंक ने HDFC बैंक पर नया क्रेडिट कार्ड जारी करने पर प्रतिबंध लगा दिया था। HDFC बैंक ने दिसंबर 2020 में 1.54 करोड़ क्रेडिट कार्ड जारी किया। जनवरी 2021 में इनकी संख्या घट कर 1.48 करोड़ हो गई। SBI ने कुल 1.2 करोड़ क्रेडिट कार्ड जारी किए हैं। ICICI बैंक ने 90 लाख क्रेडिट कार्ड जारी किए हैं।

बिजनेस पर पड़ा बुरा असर

प्रतिबंध की वजह से HDFC बैंक के क्रेडिट कार्ड बिजनेस पर काफी असर हुआ था। इसका सीधा फायदा ICICI बैंक और SBI को मिला। RBI ने यह कार्रवाई HDFC बैंक में बार-बार आ रही तकनीकी दिक्कतों के चलते की थी। इसके साथ ही इस पर कोई नई डिजिटल पहल करने पर भी रोक लगाई थी। यह रोक अभी भी जारी है। हाल ही में, बैंक के डिजिटल प्रमुख पराग राव ने कहा था कि हमने 6 महीने का उपयोग कार्ड बिजनेस को सुधारने के लिए किया है। हमारे 1.5 करोड़ से ज्यादा क्रेडिट कार्ड ग्राहक हैं।

फरवरी में ऑडिट का आदेश

रिजर्व बैंक ने इसी मामले में इस साल फरवरी में इसके IT डिपार्टमेंट के ऑडिट के लिए एक फर्म को नियुक्त किया था। जनवरी में HDFC बैंक ने RBI को बार-बार आ रही अड़चन से निपटने के लिए अपना प्लान सौंपा था। बैंक ने कहा था कि वह तीन महीने में अपने IT ढांचे को पूरी तरह सुधार लेगा। इस मामले में 10 लाख रुपए जुर्माना भी बैंक पर लग चुका है।

21 नवंबर को पाई गई थी गड़बड़ी

21 नवंबर को बैंक की इंटरनेट बैंकिंग और पेमेंट सिस्टम में गड़बड़ी पाई गई थी। यह गड़बड़ी प्राइमरी डेटा सेंटर में पावर फेल होने के कारण हुई थी। दिसंबर में RBI ने कहा था कि सभी नए डिजिटल प्रोग्राम बैंक को रोकने होंगे। दो साल में बैंक के लिए यह तीसरा बड़ा झटका लगा था। HDFC बैंक अपने डिजिटल 2.0 को लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है, जिसमें ढेर सारे डिजिटल चैनल लॉन्च होंगे।