• Hindi News
  • Business
  • HDFC Bank; Housing Development Finance Corporation Loan Disbursements Rise 26 Percent

निवेश बेचने से 157 करोड़ का फायदा:HDFC लिमिटेड के लोन में तीसरी तिमाही में 26% की ग्रोथ, शेयर 3% बढ़ा

मुंबई10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
HDFC ने कहा कि दिसंबर तिमाही में उसे निवेश को बेचने से 157 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। उसने HDFC लाइफ इंश्योरेंस में अपना 25.48 लाख शेयर बेच दिया था। इससे अब HDFC लाइफ में उसकी हिस्सेदारी घट कर 49.99% हो गई है - Dainik Bhaskar
HDFC ने कहा कि दिसंबर तिमाही में उसे निवेश को बेचने से 157 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। उसने HDFC लाइफ इंश्योरेंस में अपना 25.48 लाख शेयर बेच दिया था। इससे अब HDFC लाइफ में उसकी हिस्सेदारी घट कर 49.99% हो गई है
  • BSE पर शेयर बढ़ने से इसका मार्केट कैप 4.80 लाख करोड़ रुपए हो गया है
  • HDFC ने 7,076 करोड़ रुपए का लोन HDFC बैंक को इस दौरान दिया है

हाउसिंग फाइनेंस कंपनी HDFC लिमिटेड के लोन में 26% की ग्रोथ आई है। तीसरी तिमाही यानी अक्टूबर से दिसंबर के बीच कंपनी के लोन में आई इस बढ़त से उसका शेयर एक साल के ऊपरी स्तर पर पहुंच गया है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर यह शेयर 3% बढ़कर 2,649 रुपए पर पहुंच गया। जबकि मार्केट कैप 4.80 लाख करोड़ रुपए हो गया है।

व्यक्तिगत लोन का हिस्सा 86 पर्सेंट

कंपनी ने स्टॉक एक्सचेंज को यह जानकारी दी है। इसमें कहा गया है कि इस साल के पहले 9 महीनों यानी अप्रैल से दिसंबर के बीच उसके व्यक्तिगत लोन का हिस्सा 86% रहा है। HDFC ने 7,076 करोड़ रुपए का लोन HDFC बैंक को इस दौरान दिया है। इसके पहले के साल में इसी अवधि में यह लोन 4,258 करोड़ रुपए था।

12 महीनों में 16,956 करोड़ का लोन बेचा

HDFC ने कहा है कि पिछले 12 महीनों में 16,956 करोड़ रुपए का व्यक्गित लोन बेचा गया है। एक साल पहले इसी अवधि में 21 हजार 66 करोड़ रुपए का लोन बेचा गया था। डिविडेंड से कंपनी की ग्रॉस इनकम तीसरी तिमाही में 2 करोड़ रुपए थी जो एक साल पहले 4 करोड़ रुपए थी। कंपनी ने कहा कि दिसंबर तिमाही में उसे निवेश को बेचने से 157 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। उसने HDFC लाइफ इंश्योरेंस में अपना 25.48 लाख शेयर बेच दिया था। इससे अब HDFC लाइफ में उसकी हिस्सेदारी घट कर 49.99% हो गई है।

उसे इसलिए यह करना पड़ा क्योंकि रिजर्व बैंक के नियमों के मुताबिक बीमा कंपनी में फाइनेंस कंपनी की हिस्सेदारी 50% से नीचे रहनी चाहिए। इसे 16 दिसंबर से पहले पूरा करना था।

सब्सिडियरी बनी रहेगी

कंपनी ने कहा कि HDFC लाइफ अभी भी उसकी सब्सिडियरी के रूप में बनी रहेगी। कंपनी ने कहा कि तीसरी तिमाही का फायदा एक साल पहले की इसी अवधि से तुलना नहीं हो सकती है। क्योंकि इसकी दूसरी कंपनी गृह फाइनेंस का विलय बंधन बैंक में 17 अक्टूबर 2019 को हुआ था। इससे उसके फायदे में उस समय 9,020 करोड़ रुपए की बढ़त हुई थी।

दूसरी तिमाही में फायदे में आई थी 53 पर्सेंट की कमी

एचडीएफसी लिमिटेड ने कहा है कि दूसरी तिमाही में इसके शुद्ध फायदे में 53.2% की कमी आई है। इसका फायदा 5,035 करोड़ रुपए का रहा है। जबकि सितंबर 2019 में इसका फायदा 10 हजार 748 करोड़ रुपए था। इसकी कुल इनकम 35 हजार 732 करोड़ रुपए रही है। एक साल पहले की तुलना में इसमें 4.9% की बढ़त हुई है। कंपनी कंस्ट्रक्शन, आवासीय, कमर्शियल रियल इस्टेट आदि को लोन देती है।