पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • HDFC Bank June Quarter Results Misses Street Estimates, Profit Rises 16.1% To Rs 7,730 Crore

जून तिमाही में दूसरी लहर का असर:HDFC बैंक का प्रॉफिट 16.1% बढ़कर 7,729.60 करोड़, देगा हर शेयर पर 6.50 रुपए का डिविडेंड

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ब्लूमबर्ग के सर्वे में शामिल 15 एनालिस्टों ने नेट प्रॉफिट 7,915 करोड़ रहने का अनुमान दिया था
  • यह बैंक को पिछले साल इसी तिमाही में हुए 6,659 करोड़ रुपए के नेट प्रॉफिट से 19% ज्यादा था

देश के सबसे बड़े प्राइवेट लेंडर HDFC बैंक के जून तिमाही के नतीजे बाजार के अनुमान से कमजोर रहे। बैंक का प्रॉफिट सालाना आधार पर 16.1% बढ़कर 7,729.60 करोड़ रुपए हो गया। पिछले साल की जून तिमाही में बैंक ने 6,658 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया था। बैंक ने हर शेयर पर 6.50 रुपए का डिविडेंड देने का ऐलान किया है।

बाजार के अनुमान से कम रहा बैंक का प्रॉफिट

इंटरनेशनल न्यूज एजेंसी ब्लूमबर्ग ने बैंक के वित्तीय प्रदर्शन को लेकर 15 एनालिस्टों के बीच एक सर्वे किया था। उन्होंने बैंक का नेट प्रॉफिट जून तिमाही में 7,915 करोड़ रहने का अनुमान दिया था। यह बैंक को पिछले साल इसी तिमाही में हुए 6,659 करोड़ रुपए के नेट प्रॉफिट से 19% ज्यादा था।

कोविड की दूसरी लहर का बुरा असर

बैंक ने कहा कि कोविड की दूसरी लहर के चलते जून तिमाही के दो महीने देशभर में कारोबारी गतिवाधियां अस्त-व्यस्त रही थीं। इसकी वजह से बैंक कलेक्शन की कोशिशों में अड़ंगे लगे और बैंक को ज्यादा प्रोविजन करना पड़ गया। जून तिमाही में बैंक की नेट इंटरेस्ट इनकम (NII) सालाना आधार पर 14.4% बढ़कर 17,009 करोड़ रुपए हो गई। इसका कोर इंटरेस्ट मार्जिन 4.1% रहा।

डिपॉजिट 13.2% बढ़ा, 11.4% रही लोन ग्रोथ

जून तिमाही के दौरान बैंक के टोटल डिपॉजिट में सालाना आधार पर 13.2% का उछाल आया, जबकि इस दौरान इसकी लोन ग्रोथ 11.4% रही। इसका कासा यानी इसके टोटल लायबिलिटी में करेंट एकाउंट और सेविंग्स एकाउंट का प्रतिशत 45% है, जिससे इंटरेस्ट कॉस्ट कम रखने में मदद मिलती है।

पहली तिमाही में 4,219.70 करोड़ की प्रोविजनिंग

HDFC बैंक ने इस जून क्वॉर्टर में पिछले साल से ज्यादा लेकिन पिछली तिमाही से कम प्रोविजिनिंग की है। बैंक ने पहली तिमाही में 4,219.70 करोड़ रुपए की प्रोविजनिंग की है, जो पिछले साल की इसी तिमाही में 3,891.5 थी। मार्च क्वॉर्टर में बैंक ने 4,694 करोड़ रुपए की प्रोविजनिंग की थी।

बैंक की अन्य आय में सालाना 54.3% का उछाल

अदर इनकम यानी ब्याज छोड़कर दूसरे काम से होने वाली आमदनी में सालाना आधार पर 54.3% के उछाल से बैंक को सपोर्ट मिला। बैंक को अन्य स्रोतों से जून तिमाही में 6,288.5 करोड़ रुपए की आमदनी हुई जो पिछले साल 4,075.3 करोड़ रुपए थी। बैंक का प्री प्रोविजन ऑपरेटिंग प्रॉफिट तिमाही आधार पर 18.0% बढ़कर 15,137 करोड़ रुपए रहा।

बैंक को फीस और कमीशन से मिले 3,885.4 करोड़

बैंक को आय के दूसरे स्रोतों में से 3,885.4 करोड़ फीस और कमीशन से मिले जो पिछले साल जून क्वॉर्टर में 2,230.7 करोड़ थे। बैंक को फॉरेन एक्सचेंज से 1,198.7 करोड़ (436.6 करोड़) जबकि इनवेस्टमेंट की सेल से 601.0 करोड़ (1,086.7 करोड़) की इनकम हुई। रिकवरी के जरिए और डिविडेंड के तौर पर 603.5 करोड़ (321.3 करोड़) उसको मिले।

HDFC बैंक का शेयर शुक्रवार को एनएसई पर 0.11% यानी 1.60 रुपए की मामूली मजबूती के साथ 1,522.30 रुपए पर बंद हुआ था।

खबरें और भी हैं...