• Hindi News
  • Business
  • HDFC Bank Q1 2020 Earning | HDFC Bank Q1 Quarterly Results 2020, HDFC Bank Q1 Earning Latest News Today Updates

फाइनेंशियल रिजल्ट:एचडीएफसी बैंक का मुनाफा पहली तिमाही में 20 प्रतिशत बढ़कर 6,658.62 करोड़ रुपए, अन्य आय में 900 करोड़ की कमी

मुंबई3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बैंक की कुल 5326 शाखाएं और 14,996 एटीएम रहे हैं। सीडीएम मशीन यानी कैश डिपॉजिट एंड विथड्राल मशीन 2,825 रही है - Dainik Bhaskar
बैंक की कुल 5326 शाखाएं और 14,996 एटीएम रहे हैं। सीडीएम मशीन यानी कैश डिपॉजिट एंड विथड्राल मशीन 2,825 रही है
  • बैंक की डिपॉजिट 24 प्रतिशत बढ़कर 11.89 लाख करोड़ रुपए हई, कुल उधारी 21 प्रतिशत बढ़कर 10.03 लाख करोड़ रुपए रही
  • ग्रॉस एनपीए बढ़कर 1.36 प्रतिशत रहा , बैंक की बैलेंसशीट साइज 15.45 लाख करोड़ रुपए जून तिमाही तक रही है

निजी क्षेत्र के अग्रणी बैंक एचडीएफसी बैंक को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (मार्च-जून) में 6,658.62 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ है। एक साल पहले इसी अवधि में 5,568.16 करोड़ रुपए की तुलना में यह 20 प्रतिशत ज्यादा है। हालांकि बैंक की अन्य आय में इसी दौरान करीबन 900 करोड़ रुपए की कमी आई है। बैंक की डिपॉजिट 24.6 प्रतिशत बढ़ी है। बैंक ने शनिवार को फाइनेंशियल रिजल्ट जारी किया।

एनआईआई 17.80 बढ़कर 15,665 करोड़ रुपए

रिजल्ट के मुताबिक, बैंक की शुद्ध ब्याज आय (एनआईआई) 17.80 प्रतिशत बढ़कर 15,665 करोड़ रुपए रही है। यह मुख्य रूप से उधारी और जमा दोनों में अच्छी वृद्धि से बढ़ी है। बैंक ने इसी दौरान 3,891.52 करोड़ रुपए का प्रोविजन किया है। एक साल पहले समान तिमाही की तुलना में यह 49 प्रतिशत ज्यादा है। बैंक ने बताया कि इसका ग्रॉस एनपीए मामूली बढ़कर 1.36 प्रतिशत हो गया है जो एक साल पहले इसी अवधि में 1.26 प्रतिशत था।

आर्थिक गतिविधियों में धीमेपन से अन्य आय 2,000 करोड़ कम हुई

बैंक ने कहा कि आर्थिक गतिविधियों में लगातार धीमापन बना हुआ है। इस वजह से रिटेल लोन में कमी आ रही है। साथ ही थर्ड पार्टी के जरिए बेचे जानेवाले उत्पादों, क्रेडिट और डेबिट कार्ड के उपयोग में भी कमी आई है। ढेर सारे शुल्कों को माफ करने और कलेक्शन की कोशिशों में कमी से इसकी अन्य आय में करीबन 2,000 करोड़ रुपए की कमी आई है। बैंक की अन्य आय 4,075 करोड़ रुपए रही है जो एक साल पहले 4,970 करोड़ रुपए थी।

इसमें फी और कमीशन 2,230 करोड़ रुपए, फॉरेन एक्सचेंज एवं डेरिवेटिव रेवेन्यू 436 करोड़ रुपए, निवेश की बिक्री पर लाभ 1,086 करोड़ रुपए और अन्य रेवेन्यू से 321 करोड़ रुपए रहे हैं।

फीस और कमीशन में भारी गिरावट

बैंक को मुख्य रूप से फीस और कमीशन, रिकवरी और अन्य आय में गिरावट दिखी है। बैंक का ऑपरेटिंग खर्च 2.90 प्रतिशत घटकर 7,117.30 करोड़ रुपए रहा है। शुक्रवार को बैंक का शेयर बीएसई पर 3.46 प्रतिशत बढ़त के साथ 1,099 रुपए पर बंद हुआ था। बैंक की जमा राशि इसी अवधि में 11.89 लाख करोड़ रुपए रही है जो कि एक साल पहले समान अवधि में 9.54 लाख करोड़ रुपए थी। हालांकि 31 मार्च 2020 को यह 11.47 लाख करोड़ रुपए थी।

बैंक की कुल उधारी वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही में 10.03 लाख करोड़ रुपए रही है जो एक साल पहले 8.29 लाख करोड़ रुपए थी। यह वृद्धि 21 प्रतिशत रही है।

बैलेंसशीट साइज में 22 प्रतिशत की बढ़त

बैंक ने बताया कि उसकी कुल बैलेंसशीट की साइज 15.45 लाख करोड़ रुपए रही है। एक साल पहले जून तिमाही में यह 12.65 लाख करोड़ रुपए थी। इसमें 22 प्रतिशत की वृद्धि दिखी है। चालू एवं बचत खाता (कासा जमा) 26 प्रतिशत बढ़ा है। इसमें बचत खाता जमा 3.27 लाख करोड़ रुपए रही है और चालू खाता जमा 1.50 लाख करोड़ रुपए रही है। बैंक ने कहा कि रिटेल लोन ग्रोथ 7.2 प्रतिशत रही है जबकि होलसेल लोन 37.6 प्रतिशत बढ़ा है।

बैंक की कुल 5326 शाखाएं और 14,996 एटीएम रहे हैं। सीडीएम मशीन यानी कैश डिपॉजिट एंड विथड्राल मशीन 2,825 रही है। कुल 115,822 कर्मचारी रहे हैं। एक साल पहले कर्मचारियों की संख्या 104,154 थी।

खबरें और भी हैं...