नई सेवा:इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ने लॉन्च किया डिजिटल पेमेंट ऐप डाक-पे, ऑनलाइन मिलेंगी डाक विभाग की बैंकिंग सेवाएं

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
IPPB ने बयान में कहा है कि देश के अंतिम कोने तक डिजिटल वित्तीय सेवाएं देने के प्रयासों के तहत यह ऐप लॉन्च किया गया है। - Dainik Bhaskar
IPPB ने बयान में कहा है कि देश के अंतिम कोने तक डिजिटल वित्तीय सेवाएं देने के प्रयासों के तहत यह ऐप लॉन्च किया गया है।
  • ऐप के जरिए मनी ट्रांसफर, यूटिलिटी बिलों का भुगतान हो सकेगा
  • डाक-पे की लॉन्चिंग से इंडिया पोस्ट की विरासत आगे बढ़ी: केंद्रीय मंत्री

डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट और इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) ने मंगलवार को वर्चुअल तरीके से अपना डिजिटल पेमेंट ऐप 'डाक-पे' लॉन्च कर दिया। IPPB ने एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी है। बयान में कहा गया है कि देश के अंतिम कोने तक डिजिटल वित्तीय सेवाएं देने के प्रयासों के तहत यह ऐप लॉन्च किया गया है।

ऐप पर यह सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी

बयान में कहा गया है कि यह केवल डिजिटल पेमेंट ऐप नहीं है बल्कि यह IPPB की ओर से पोस्टल नेटवर्क के जरिए पूरे देश में विभिन्न सोसायटी को उपलब्ध कराई जा रही बैंकिंग सेवाओं को डिजिटल तरीके से उपलब्ध कराने में मदद करेगा। इस ऐप के जरिए अपनों को पैसा भेजना (घरेलू मनी ट्रांसफर्स) QR कोड को स्कैन करके सेवाओं और मर्चेंट को डिजिटल तरीके से भुगतान, बायो-मीट्रिक के जरिए कैशलेस इकोसिस्टम और यूटिलिटी बिलों का भुगतान किया जा सकेगा।

लॉकडाउन के दौरान IPPB ने विभिन्न सेवाएं उपलब्ध कराईं

डाक-पे ऐप की लॉन्चिंग के दौरान केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कोविड-19 के कारण लगाए गए लॉकडाउन के दौरान IPPB ने डोरस्टेप वित्तीय सेवाएं उपलब्ध कराई हैं। इसके अलावा IPPB ने विभिन्न तरीकों से पोस्टल सेवाएं दी हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि डाक-पे की लॉन्चिंग से इंडिया पोस्ट की विरासत आगे बढ़ी है।

बैंकिंग सेवाओं और पोस्टल उत्पादों तक ऑनलाइन पहुंच होगी

उन्होंने कहा कि इस इनोवेटिव सेवा के जरिए ग्राहकों की बैंकिंग सेवाओं और पोस्टल उत्पादों तक ऑनलाइन पहुंच हो जाएगी। ऑनलाइन ऑर्डर करने और पोस्टल फाइनेंशियल सेवाओं को डोरस्टेप तक पहुंचाने का यह यूनिक कॉन्सेप्ट है। उन्होंने उम्मीद जताई कि इस ऐप के जरिए IPPB की ऑनलाइन पेमेंट और वित्तीय सेवाओं की होम डिलिवरी में दोगुनी वृद्धि होगी।

2018 में शुरू हुआ था IPPB

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की शुरुआत 1 सितंबर 2018 को हुई थी। IPPB देशभर में फैले 1.55 लाख पोस्ट ऑफिस और 3 लाख पोस्टल एम्पलॉयीज के जरिए सेवाएं दे रहा है। इसमें 1.35 लाख पोस्ट ऑफिस ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित हैं। IPPB मौजूदा समय में 13 भाषाओं में अपनी सेवाएं उपलब्ध करा रहा है।