इंडिगो ने पायलटों की सैलरी बढ़ाई:कोविड से पहले के लेवल के बराबर सैलरी करने का ऐलान, महामारी में 28% की कटौती की थी

नई दिल्ली12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एयरलाइन कंपनी इंडिगो ने नवंबर से पायलटों की पूरी सैलरी बहाल करने की घोषणा की है। सभी डोमेस्टिक कैरियर्स ने 2020 में कोविड-19 के कारण किए गए लॉकडाउन के बाद कर्मचारियों के वेतन में कटौती की थी। इंडिगो ने लॉकडाउन में कम पैसेंजर ट्रैफिक के कारण पायलटों की सैलरी करीब 28% घटा दी थी। एयरलाइन ने अप्रैल में 8% और अगस्त में 8% सैलरी बढ़ाई थी। अब सितंबर में 6% और नवंबर में 6% की बढ़ोतरी होगी।

इंडिगो में फ्लाइट ऑपरेशन के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, आशिम मित्रा ने सोमवार को एक ईमेल में पायलटों को लिखा, 'हमारा मकसद सैलरी और रेमुनरेशन की लगातार समीक्षा करना और उन्हें पूर्व-कोविड लेवल्स पर बहाल करना है। इसे ध्यान में रखते हुए, मुझे 1 सितंबर, 2022 से 6% और 1 नवंबर, 2022 शेष 6% की वेतन बहाली करने की खुशी हो रही है। ये बहाली आपके वेतन को पूर्व-कोविड स्तर के बराबर लाएगी।'

कच्चे तेल की ऊंची कीमतों ने बढ़ाई परेशानी
फरवरी में रुस-यूक्रेन जंग की शुरुआत के बाद से रुपए में गिरावट और इंपोर्टेड इंफ्लेशन के कारण देश की एविएशन इंडस्ट्री सबसे ज्यादा प्रभावित इंडस्ट्रीज में से एक रही है। कच्चे तेल की ऊंची कीमतों के कारण, अब एक इंडियन कैरियर के ऑपरेशनल एक्सपेंडिचर में फ्यूल का योगदान लगभग 50% है। मीडिया रिपोर्ट में इंडस्ट्री के अंदरूनी सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि इंडिगो का फैसला एयर इंडिया के एक्सपेंशन प्लान से प्रेरित है।

पैसेंजर संख्या में 66% की सालाना ग्रोथ
एविएशन रेगुलेटर डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) के आंकड़ों के अनुसार, डोमेस्टिक एयरलाइंस में जनवरी-जून 2022 के बीच 5.72 करोड़ लोगों ने यात्रा की, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि में 3.43 करोड़ लोगों ने यात्रा की थी। ये करीब 66% की सालाना ग्रोथ है।