पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • IndiGo Paints IPO Launch Date Update: Sebi To Raise Rs 1,000 Crore An Initial Public Offering

निवेश का अवसर:इंडिगो पेंट्स IPO से जुटाएगी 1 हजार करोड़ रुपए, सेबी की मिली मंजूरी, जल्द आएगा आईपीओ

मुंबई10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस IPO के तहत कंपनी नए इक्विटी शेयरों के जरिए 300 करो़ड़ रुपए कंपनी जुटाएगी। जबकि ऑफर फार सेल (OFS) के जरिए 58 लाख शेयरों को जारी करेगी - Dainik Bhaskar
इस IPO के तहत कंपनी नए इक्विटी शेयरों के जरिए 300 करो़ड़ रुपए कंपनी जुटाएगी। जबकि ऑफर फार सेल (OFS) के जरिए 58 लाख शेयरों को जारी करेगी
  • रेवेन्यू के लिहाज से यह देश में पेंट्स सेक्टर की पांचवीं सबसे बड़ी कंपनी है
  • 2024 तक भारतीय डेकोरेटिव पेंट्स के बाजार में 13% की बढ़त हो सकती है

पुणे स्थित इंडिगो पेंट्स आईपीओ से एक हजार करोड़ रुपए जुटाएगी। इसके लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी ने कंपनी के आईपीओ को मंजूरी दे दी है। रेवेन्यू के मामले में यह भारत के डेकोरेटिव पेंट इंडस्ट्री की पांचवीं सबसे बड़ी कंपनी है। कंपनी ने वित्तवर्ष 2020-21 में DRHP सेबी के पास फाइल किया था।

300 करोड़ नए शेयरों से जुटाएगी

इस IPO के तहत नए इक्विटी शेयरों के जरिए 300 करो़ड़ रुपए कंपनी जुटाएगी। जबकि ऑफर फार सेल (OFS) के जरिए 58 लाख शेयरों को जारी करेगी। इसमें सिकोइया कैपिटल द्वारा अपने दो फंड्स, यानी कि SCI इन्वेस्टमेंट्स 4 और SCI इन्वेस्टमेंट्स 5, तथा प्रमोटर सेलिंग शेयरहोल्डर में हेमंत जालान अपने शेयरों की बिक्री करेंगे। उत्पाद की संभावित जरूरतों का पता लगाने और दूसरों से अलग उत्पादों को पेश करने के अलावा कंपनी अपने ग्राहकों के लिए जरूरी ब्रांड इंडिगो के तहत डेकोरेटिव पेंट्स की पूरी रेंज का निर्माण करती है। इसमें इमल्शन, इनैमल्स, वुड कोटिंग, डिस्टेम्पर, प्राइमर, पुट्टी और सीमेंट पेंट शामिल हैं।

27 राज्यों में है वितरण नेटवर्क

कंपनी का डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क 27 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों में फैला है। इसमें केरल, पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा और उत्तर प्रदेश विशेष रूप से शामिल हैं। 30 सितंबर, 2020 तक के आंकड़ों के अनुसार, कंपनी के पास भारत में बेहतर समझे जाने वाले तीन स्थानों पर निर्माण केंद्र मौजूद हैं। इसमें राजस्थान, केरल और तमिलनाडु हैं।

रकम का उपयोग निवेश और कर्ज चुकाने पर होगा

आईपीओ से मिलने वाली रकम का उपयोग कंपनी पुदुक्कोट्टई में मौजूदा निर्माण केंद्र के विस्तार पर करेगी। साथ ही इसका उपयोग टिन्टिंग मशीनों और जाइरो शेकर्स की खरीद तथा कर्ज के पुनर्भुगतान के लिए किया जाएगा। उम्मीद की जा रही है कि, वर्ष 2024 तक भारतीय डेकोरेटिव पेंट्स के बाजार में 13 पर्सेंट की बढ़त हो सकती है। इसका कारण लोगों और परिवारों की अतिरिक्त आय में बढ़ोतरी तथा विभिन्न प्रकार की आवासीय योजनाएँ हैं।

कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, एडलवाइज़ फाइनेंशियल सर्विसेज, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज इस इश्यू के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर्स (BRLMS) हैं।