पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सेबी की पेनाल्टी:​​​​​​​बॉयोकॉन के कर्मचारी को देना होगा 3 लाख रुपए, शेयरों में कारोबार करते समय उसने इनसाइडर ट्रेडिंग नियमों का पालन नहीं किया था

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पी रविशंकर ने सितंबर 2018 में बायोकॉन के 5,000 शेयर बेच दिए, लेकिन उन्होंने कंपनी के कंप्लायंस ऑफीसर से पहले क्लियरेंस नहीं लिया था
  • नियमों के मुताबिक रविशंकर को शेयर ट्रांजेक्शन के दो दिनों अंदर कंपनी को शेयरों की संख्या के बारे में बताना था
  • उसने चार बार 10 लाख रुपए से ज्यादा की शेयर ट्रेडिंग की, लेकिन करीब एक साल बाद कंपनी को जानकारी दी

बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) ने बायोकॉन के एक कर्मचारी पर जुर्माना लगाया, क्योंकि उसने कंपनी के शेयरों में ट्रेडिंग करते हुए इनसाइडर ट्रेडिंग के नियमों का पालन नहीं किया था। प्रोहिबिशन ऑफ इनसाइडर ट्रेडिंग (PIT) नॉर्म्स के प्रावधानों का पालन नहीं किए जाने के कारण सेबी ने पी रविशंकर पर 3 लाख रुपए का जुर्माना लगाया। सेबी की जांच अवधि के दौरान पी रविशंकर बायोकॉन के प्रोजेक्ट डिपार्टमेंट में जनरल मैनेजर थे। साथ ही वह इनसाइडर ट्रेडिंग नियमों के तहत वह डिजिग्नेटेड पर्सन थे।

सेबी ने 31 अगस्त 2018 से 1 अक्टूबर 2018 के बीच उसके ट्रांजेक्शन की जांच की थी। रविशंकर के पास एंप्लॉई स्टॉक ऑप्शन प्लान (ESOP) से मिले कंपनी के 19,500 शेयर थे। उन्होंने सितंबर 2018 में 5,000 शेयर बेच दिए, लेकिन कंप्लायंस ऑफीसर से पहले क्लियरेंस नहीं लिया।

शेयरों की खरीद-बिक्री के कांट्रा ट्रेड में भी शामिल

सेबी ने कहा कि ट्रांजेक्शन से पहले क्लियरेंस नहीं लेकर रविशंकर ने PIT नियमों का उल्लंघन किया। नियामक के मुताबिक रविशंकर शेयरों की खरीद-बिक्री के कांट्रा ट्रेड में भी शामिल थे। PIT नियमों के तहत हर कंपनी के हर प्रमोटर, कर्मचारी और डायरेक्टर को एक निश्चित सीमा से ऊपर कंपनी के शेयर खरीदने या बेचने पर दो दिनों के अंदर कंपनी को ट्रांजेक्शन किए गए शेयरों की संख्या बतानी होती है। रविशंकर ने चार बार 10 लाख रुपए से ज्यादा के ट्रांजेक्शन किए। लेकिन दो दिनों के अंदर सूचना देने की बजाए, उन्होंने करीब एक साल बाद इसकी सूचना दी।

पन्नालाल प्रजापति पर फ्रॉडुलेंट ट्रेडिंग के लिए 3 लाख का जुर्माना

सेबी ने बुधवार को जारी एक अन्य आदेश में वेल पैक पेपर्स एंड कंटेनर्स लिमिटेड के शेयरों में फ्रॉडुलेंट ट्रेडिंग गतिविधियों के लिए पन्नालाल प्रजापति पर 3 लाख का जुर्माना लगाया। सेबी ने 28 नवंबर 2008 से 12 मार्च 2010 तक और 15 मार्च 2010 से 30 जून 2010 तक की अवधि के लिए दो बार कंपनी के शेयरों में जाच की थी। सेबी के मुताबिक प्रजापति ने वाल्मिकी शाह ग्रुप की 40 एंटाइटीज के साथ मिलीभगत करते हुए वेल पैक पेपर्स एंड कंटेनर्स लिमिटेड के शेयरों में ट्रेड किया था।

एंबिट कैपिटल के सौरभ मुखर्जी ने 1.37 करोड़ रुपए देकर सेटलमेंट किया

सेबी ने एक और अलग मामले में एंबिट कैपिटल के सौरभ मुखर्जी से 1.37 करोड़ रुपए का सेटलमेंट चार्ज लिया। मनप्पुरम फाइनेंस की कुछ गोपनीय जानकारियां जो समय से पहले ही लीक हो गई थीं, उस मामले में एंबिट कैपिटल को पार्टी बनाया गया था। इसी मामले में एंबिट कैपिटल के सौरभ मुखर्जी ने सेबी के साथ सेटलमेंट ऑफर किया था। इसके लिए उन्होंने 1.39 करोड़ रुपए का पेमेंट किया है। सेबी ने गुरुवार को जारी अपने एक आदेश में यह जानकारी दी। इससे पहले सेबी ने 14 दिसंबर 2019 को भी मनप्पुरम के ही एक मामले में 6 करोड़ रुपए का सेटलमेंट चार्ज लिया था। उस वक्त भी एंबिट ने इसी तरह के मामले में सेटलमेंट किया था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें