• Hindi News
  • Business
  • IPO Investment Strategy; Must Know Before Investing In Upcoming Public IPO Issues In India

हर IPO में फायदा की उम्मीद न करें:बाजार की तेजी में कंपनियों को देख कर निवेश करें, कई IPO में मिल चुका है घाटा

मुंबई4 महीने पहलेलेखक: अजीत सिंह
  • कॉपी लिंक
  • भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा, यह साल IPO के नाम रहेगा
  • पिछले साल 18 में से 5 IPO 100 गुना से ज्यादा भरे थे

अगर आप IPO में पैसे लगा रहे हैं तो सोच समझ कर निवेश करें। हर कंपनी के शेयरों में फायदा मिलना मुश्किल है। पिछले दो सालों के आंकड़े कुछ इसी तरह की गवाही दे रहे हैं।

इस महीने चार कंपनियों के शेयर लिस्ट हुए

इस महीने में अभी तक चार कंपनियों के शेयर लिस्ट हुए हैं। इसमें एक्सारो टाइल्स का इश्यू प्राइस 120 रुपए था। लिस्टिंग के दिन यह 132 रुपए पर बंद हुआ। यानी 10.21% का मुनाफा दिया। अब यह 128.6 रुपए पर है। इस समय 7.17% का फायदा है। क्रष्णा डायग्नोस्टिक्स का IPO 954 रुपए पर आया था। 7.4% की बढ़त के साथ यह शेयर 1,012 रुपए पर लिस्ट हुआ था। अब 970 रुपए पर है। यानी 1% का फायदा है।

विंडलास बायो के शेयर ने दिया घाटा

विंडलास बायोटेक का इश्यू 460 रुपए पर आया था। यह शेयर 12% नीचे 406 रुपए पर लिस्ट हुआ था। अभी 401 रुपए पर है। यानी 12.75% का घाटा है। देवयानी इंटरनेशनल का IPO 90 रुपए पर आया था। यह शेयर 56% ऊपर 141 रुपए पर लिस्ट हुआ था। अब 125 रुपए पर कारोबार कर रहा है। इसमें 40% की तेजी अभी भी है।

रोलेक्स रिंग में मिला 29% का फायदा

रोलेक्स रिंग्स 900 रुपए पर IPO लाई थी। 1,166 रुपए पर शेयर लिस्ट हुआ था। 29.62% लिस्टिंग के दिन फायदा हुआ था। अब शेयर 18.62% ऊपर 1,067 रुपए पर कारोबार कर रहा है। ग्लेनमार्क लाइफ 720 रुपए पर IPO लाई थी। 4% ऊपर 748 पर लिस्ट हुआ था शेयर। अब IPO प्राइस के करीब 721 रुपए पर कारोबार कर रहा है।

जुलाई में रही इश्यू की भरमार

जुलाई में भी IPO की भरमार रही। तत्व चिंतन फार्मा का IPO सबसे हिट रहा है। 1,083 रुपए पर आया था। 113% ऊपर 2,310 रुपए पर इसका शेयर लिस्ट हुआ और अब 100% ऊपर 2,169 रुपए पर कारोबार कर रहा है। जोमैटो का IPO प्राइस 76 रुपए था। शेयर की लिस्टिंग 65.59% ज्यादा यानी 125.85 रुपए पर हुई। अब यह 132 रुपए यानी 74% ऊपर कारोबार कर रहा है।

जी.आर इंफ्रा में पैसा डबल हुआ

जी.आर इंफ्रा 837 रुपए पर IPO लाई थी। लिस्टिंग 108% ज्यादा यानी 1,746 रुपए पर हुई। अब 90% ऊपर 1,595 रुपए पर शेयर कारोबार कर रहा है। क्लीन साइंस का शेयर इस समय 66% ऊपर 1,498 रुपए पर कारोबार कर रहा है। IPO 900 रुपए पर आया था और शेयरों की लिस्टिंग 76% ऊपर 1,585 रुपए पर हुई थी।

इंडिया पेस्टिसाइड में भी फायदा मिला

जून में इंडिया पेस्टिसाइड ने 428 रुपए पर IPO लाया था। 42% ऊपर 609 रुपए पर शेयर लिस्ट हुआ था। अब 596 रुपए पर कारोबार कर रहा है। 39% ऊपर है। कृष्णा इंस्टीट्यूट का शेयर अभी 67% ऊपर 1,377 रुपए पर कारोबार कर रहा है। IPO 825 पर आया था और लिस्टिंग 995 रुपए पर हुई थी। लिस्टिंग पर 20.72% का फायदा मिला था।

श्याम मेटालिक्स में भी फायदा

श्याम मेटालिक्स 306 रुपए पर IPO लाई थी। 23% ऊपर 375 रुपए पर इसकी लिस्टिंग हुई और अब शेयर 36% ऊपर 416 रुपए पर कारोबार कर रहा है। सोना बीएलडब्ल्यू 291 रुपए पर IPO लाई थी। 25% ऊपर 363 रुपए पर शेयर लिस्ट हुआ था और अब 70.55% ऊपर 496 रुपए पर कारोबार कर रहा है।

मैक्रोटेक में लिस्टिंग पर घाटा हुआ

अप्रैल में मैक्रोटेक का IPO 486 रुपए पर आया था। पर लिस्टिंग के दिन 4% का घाटा दिया था। अभी यह शेयर 75% ऊपर 851 रुपए पर कारोबार कर रहा है। बार्बीक्यू नेशन ने 500 रुपए में शेयर बेचा था। लिस्टिंग 18% ऊपर 590 रुपए पर हुई और अब यह 126% ऊपर 1,133 रुपए पर कारोबार कर रहा है। नजारा टेक का शेयर IPO प्राइस से 51% ऊपर 1,663 रुपए पर कारोबार कर रहा है। 1,101 रुपए पर IPO आया था और 1,576 रुपए पर लिस्ट हुआ था। लिस्टिंग के दिन 43% का फायदा मिला था।

34 में से 5 इश्यू ने दिया घाटा

जनवरी 2021 से अब तक आए 34 IPO में से 5 IPO अपने इश्यू प्राइस से नीचे कारोबार कर रहे हैं।2020 में 16 कंपनियों ने IPO और एफपीओ लाया था। उसमें से केवल 2 कंपनियों का भाव IPO प्राइस से नीचे है। इसमें एक मिसेज बेक्टर्स और दूसरा यस बैंक है। इसमें से केवल 3 इश्यू 50% से कम फायदा पर कारोबार कर रहे हैं। बाकी सभी सभी 60% से ज्यादा के फायदे में हैं। 8 शेयर तो 100% से ज्यादा पर कारोबार कर रहे हैं। सबसे ज्यादा हैप्पिएस्ट माइंड में फायदा है। यह शेयर 7.48 गुना ज्यादा पर कारोबार कर रहा है।

38 में से 10 को 100 गुना से ज्यादा सब्सक्रिप्शन

इस साल आए 38 में से केवल 10 IPO का सब्सक्रिप्शन 100 गुना के ऊपर रहा है। जबकि 11 तो ऐसे रहे हैं जो 5 गुना भी नहीं भर पाए थे। सबसे ज्यादा एमटीएआर 200 गुना और फिर तत्व चिंतन 180 गुना भरा था। पिछले साल 18 IPO में से 5 IPO 100 गुना से ज्यादा भरे थे। चार IPO ऐसे थे जो 5 गुना से भी कम भरे थे। भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि 2021 भारत का IPO का साल हो सकता है। खासकर नई उम्र की कंपनियां और फाइनेंशियल एवं पेमेंट कंपनियों को अच्छी सफलता मिल रही है।