• Hindi News
  • Business
  • IRCTC Share Price, IRCTC Market Cap, IRCTC Ranking, IRCTC Share, IRCTC Revenue

शेयर्स की कीमत में जारी रह सकती है तेजी:IRCTC टॉप 100 कंपनियों में शामिल, 1 साल में 115% बढ़ा शेयर का भाव

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रेलवे की कंपनी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (IRCTC) का शेयर सोमवार को नई ऊंचाई पर पहुंच गया। इस वजह से कंपनी मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से टॉप 100 में शामिल हो गई। यह 93 वें नंबर पर आ गई है।

मार्केट कैप 48,152 करोड़ रुपए हुआ

सोमवार को IRCTC का मार्केट कैप 48,152 करोड़ रुपए था। इसका शेयर 4.88% बढ़कर 3,009 रुपए पर बंद हुआ। पिछले 1 महीने में कंपनी का शेयर 2,450 से बढ़कर 3,041 तक पहुंच गया। सोमवार को 3,041 रुपए का लेवल इसका एक साल का नया लेवल है। पिछले साल नवंबर में यह शेयर 1,291 रुपए पर था।

मैक्रोटेक का भी मार्केट कैप 48 हजार करोड़ के पार

IRCTC से पहले मैक्रोटेक है। मैक्रोटेक का मार्केट कैप मामूली ज्यादा है। यह रियल्टी कंपनी इसी साल लिस्ट हुई है। वैसे शेयर्स की कीमतों में तेजी से कई कंपनियां इस साल अपना रैंकिंग सुधारने में सफल रही हैं। शेयर्स की कीमतों में तेजी से एसबीआई कार्ड 1 लाख करोड़ रुपए मार्केट कैप वाली कंपनी बन गई है। इसका मार्केट कैप 1.02 लाख करोड़ रुपए है। जोमैटो, वेदांता भी 1 लाख करोड़ रुपए के क्लब में हैं। इनके शेयर्स में भी अच्छी तेजी दिखी है।

शेयर्स की कीमतें और बढ़ेंगी

वैसे जानकार मानते हैं कि IRCTC का शेयर अभी भी तेजी में रह सकता है। स्वस्तिका इन्वेस्टमार्ट के संतोष मीणा कहते हैं कि IRCTC का शेयर अभी भी तेजी वाले माहौल में है। इस साल में इस शेयर ने अच्छी तेजी दिखाई है। कोविड की वजह से यह कंपनी जबरदस्त प्रदर्शन कर रही है। हर कोई इस शेयर को खरीदना चाहता है। हालांकि यह शेयर लगातार ऊपर की ओर ही जा रहा है।

असेट मोनेटाइजेशन से मिलेगा फायदा

वे कहते हैं कि रेलवे के असेट मोनेटाइजेशन प्लान से इस कंपनी के शेयर को और तेजी मिल सकती है। यह शेयर 3,300 रुपए तक जा सकता है। हालांकि इसमें 3,070-3,100 रुपए के बीच मुनाफा वसूली भी की जा सकती है। अगर यह शेयर 2,775 रुपए तक जाता है तो इसमें खरीदारी भी कर सकते हैं।

रेवेन्यू और फायदा बढ़ा

IRCTC का रेवेन्यू और फायदा दोनों कोरोना में बढ़त में रहा है। सालाना आधार पर इसका रेवेन्यू 243 करोड़ रुपए रहा है। इसमें सबसे ज्यादा रेवेन्यू इंटरनेट टिकटिंग सेगमेंट से आता है। यह कुल रेवेन्यू के 60% के करीब है। हालांकि जैसे ही कोरोना के बाद सब कुछ सामान्य होगा, इसका कैटरिंग वाला सेगमेंट भी अच्छा योगदान करेगा। अभी फिलहाल कैटरिंग सेगमेंट से इसका रेवेन्यू बहुत कम है। ऐसा इसलिए क्योंकि ट्रेनों में खाना पीना बंद है।

खबरें और भी हैं...