पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • Jio May Have Spent Rs 42,000 To 50,000 Cr On Day 1 Of Spectrum Auction; Airtel, Vi, RIL Shares Gain On Day 2 Of Auction

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्पेक्ट्रम ऑक्शन:जियो ने सबसे ज्यादा 57,123 करोड़ रुपए खर्च किए, एयरटेल ने 355.45 MHz बैंड को 18699 करोड़ रुपए में खरीदा

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

1 मार्च को शुरू हुई स्पेक्ट्रम नीलामी मंगलवार को खत्म हो गई। दो दिन तक चली इस नीलामी में कुल 77,814.80 करोड़ रुपए कीमत वाले स्‍पेक्‍ट्रम की बिक्री हुई। इनमें से ज्यादातर स्‍पेक्‍ट्रम रिलायंस जियो ने खरीदे। जियो ने स्पेक्ट्रम के लिए कुल 57,123 करोड़ रुपए की बोली लगाई। जियो ने नीलामी के पहले ही दिन 50,000 करोड़ रुपए खर्च किए थे।

जियो ने 800 MHz फ्रीक्वेंसी बैंड के लिए 34,491 करोड़ रुपए, 1800 MHz फ्रीक्वेंसी बैंड के लिए 12,461 करोड़ रुपए और 2300 MHz फ्रीक्वेंसी बैंड के लिए 10,170 करोड़ रुपए खर्च किए। इस तरह कंपनी ने कुल 57,123 करोड़ रुपए खर्च किए। जियो का कहना है कि इससे उसका 4G नेटवर्क और सर्विस ज्यादा बेहतर होंगी। 5G में भी मदद मिलेगी।

एयरटेल ने 18,699 करोड़ रुपए खर्च किए

भारती एयरटेल ने स्पेक्ट्रम नीलामी के दूसरे दिन 355.45 MHz स्पेक्ट्रम, मिड बैंड और 2300 MHz बैंड को 18,699 करोड़ रुपए में खरीद लिया है। सभी स्पेक्ट्रम भविष्य में एयरटेल को 5G सर्विस देने में सक्षम करेंगे। स्पेक्ट्रम से 9 करोड़ और ग्राहकों जुड़ पाएंगे। एयरटेल ने 3,000 करोड़ रुपए का EMD जमा कराया था।

एयरटेल ने पेन इंडिया में अपनी जड़ों के मजबूत कर लिया है। सब गीगाहर्ट्स स्पेक्ट्रम की मदद से कंपनी अर्बन टाउन के घरों के अंदर और सभी बिल्डिंग को कवर कर पाएगी। भारती एयरटेल के MD और CEO (इंडिया एंड साउथ एशिया), गोपाल विट्टल ने कहा कि एयरटेल के पास अब एक मजबूत स्पेक्ट्रम पोर्टफोलियो है, जो इसे भारत में सर्वश्रेष्ठ मोबाइल ब्रॉडबैंड सर्विस देने में मदद करेगा।

कंपनी ने 48.85 MHz वाले स्पेक्ट्रम के सब-गीगाहर्ट्स बैंड 800 MHz और 900 MHz को 9,457 करोड़ रुपए में, 86.6 MHz वाले स्पेक्ट्रम के मिड बैंड 1800 MHz और 2100 MHz को 6,172 करोड़ रुपए में और 220 MHz कैपेसिटी वाले स्पेक्ट्रम के 2300 MHz बैंड को 3,070 करोड़ रुपए में खरीदा।

Vi ने 5 सर्कल में एयरवेव्स खरीदे
वोडाफोन आइडिया (Vi) ने स्पेक्ट्रम नीलामी के दौरान अपनी 4G कैपेसिटी को बढ़ाने के लिए 5 सर्कल में एयरवेव्स खरीदे। कंपनी ने बताया कि वो अपने ग्राहकों के डिजिटल एक्सपीरियंस को और ज्यादा बेहतर बनाएगी। इन सभी इन स्पेक्ट्रम से हमें कवरेज और कैपेसिटी दोनों बढ़ाने में मदद मिलेगी।

Vi ने डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशंस (DoT) के पास 475 करोड़ रुपए का अर्नेस्ट मनी डिपॉजिट (EMD) जमा कराया था। ये रिलायंस जियो और भारतीय एयरटेल की तुलना में सबसे कम था। ऐसे में कंपनी के 900 MHz और 1800 MHz रिनुवल स्पेक्ट्रम लेने की उम्मीद थी।

पहले दिन 77,146 करोड़ रुपए की बोली लगी
स्पेक्ट्रम नीलामी के छठे दौर की बोली 1 मार्च से शुरू हो गई थी। नीलामी के पहले दिन 77,146 करोड़ रुपए की बोली आई। इसमें रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने बोलियां लगाई हैं। ब्रोकरेज के मुताबिक, रिलायंस जियो 4G स्पेक्ट्रम नीलामी के पहले दिन सबसे ज्यादा बोली लगाई है। उसने 42,000 करोड़ रुपए से 50,000 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। वहीं, भारती एयरटेल ने 25,000 करोड़ रुपए की बोली लगाई।

इसमें 3.92 लाख करोड़ रुपए कीमत के 2,251.25 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को नीलामी के लिए रखा गया है। नीलामी में मोबाइल सर्विस के लिए 7 फ्रीक्वेंसी बैंड 700 MHz, 800 MHz, 900 MHz, 1800 MHz, 2100 MHz, 2300 MHz, और 2500 MHz को शामिल किया गया।

स्पेक्ट्रम नीलामी के चलते टेलीकॉम शेयरों में उछाल
मंगलवार की सुबह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और रिलायंस जियो के पार्टनर रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में उछाल देखने को मिला। BSE पर एयरटेल के शेयर 0.6% उछाल के साथ 535.65 रुपए, Vi के शेयर 0.5% उछाल के साथ 11.12 रुपए और RIL के शेयर 0.7% उछाल के साथ 2116 रुपए पर पहुंच गए थे।

2016 में 7 कंपनियां नीलामी में शामिल हुई थीं
2016 में हुई स्पेक्ट्रम नीलामी में 7 कंपनियों ने बोली लगाई थी। तब कुल क्वांटिटी के 41% स्पेक्ट्रम ही नीलाम हुए थे। ये स्पेक्ट्रम की कुल वेल्यू का 12% ही थी। 2016 में वोडाफोन और आईडिया अलग-अलग कंपनी थी। अब ये Vi बन चुकी हैं। वहीं, 2021 में सिर्फ 3 कपंनियां बोली लगा रही हैं। इसमें कुल क्वांटिटी के 37% स्पेक्ट्रम नीलाम किए जाएंगे। ये स्पेक्ट्रम की कुल वेल्यू का 19% है।

टेलीकॉम मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बताया कि यह स्पेक्ट्रम नीलामी मुख्य रूप 4G सेवा के विस्तार को ध्यान में रखकर की जा रही है। इस स्पेक्ट्रम नीलामी से ग्राहकों को पहले के मुकाबले बेहतर सेवाएं मिल पाएंगी।

700 और 2500 MHz बैंड के लिए बोली नहीं लगी
टेलिकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पहले दिन 77,146 करोड़ रुपए के स्पेक्ट्रम की बोली लगी, लेकिन प्रीमियम 700 और 2500 MHz बैंड्स में एयरवेव्स के लिए कोई लेने वाले नहीं मिले। बोलियां 800 MHz, 900 MHz, 1800 MHz, 2100 MHz और 2300 MHz में मिली थीं। किसी भी कंपनी ने 700 MHz और 2500 MHz बैंड के लिए कोई बोली नहीं लगाई।

स्पेक्ट्रम की वैलिडिटी 20 साल
इस नीलामी में हासिल स्पेक्ट्रम की वैलिडिटी 20 साल की होगी। प्राइवेट सेक्टर की टेलीकॉम कंपनियां रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए 13,475 करोड़ रुपए की शुरुआती अर्नेस्ट मनी डिपॉजिट (EMD) जमा कराई है। इसमें जियो ने 10,000 करोड़ रुपए, एयरटेल ने 3,000 करोड़ रुपए और वोडाफोन आईडिया ने 475 करोड़ रुपए का EMD जमा कराया है।

एनालिस्ट का मानना है कि इस बार की नीलामी कम महत्वपूर्ण है। रेडियोवेव्स के लिए बोली की रेंज 30,000 करोड़ रुपए से 50,000 करोड़ रुपए तक है, जो इसकी बेस प्राइस 3.92 लाख करोड़ रुपए के करीब है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने काम को नया रूप देने के लिए ज्यादा रचनात्मक तरीके अपनाएंगे। इस समय शारीरिक रूप से भी स्वयं को बिल्कुल तंदुरुस्त महसूस करेंगे। अपने प्रियजनों की मुश्किल समय में उनकी मदद करना आपको सुखकर...

और पढ़ें