• Hindi News
  • Business
  • KV Subramaniam Said Expectation Of Recovery In The Economy From July, 1 Crore Vaccination Per Day Is Not Impossible

महामारी में आर्थिक सुधार:KV सुब्रमण्यम ने कहा- जुलाई से इकोनॉमी में रिकवरी की उम्मीद, प्रति दिन 1 करोड़ वैक्सीनेशन असंभव नहीं

मुंबई5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उन्होंने कहा कि अगर हम लोगों को दिन के तीन पाली में वैक्सीन लगाएंगे तो दिसंबर तक देश के सभी लोगों को वैक्सीन लग जाएगी। हम प्रतिदिन 1 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगा सकते हैं।  (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
उन्होंने कहा कि अगर हम लोगों को दिन के तीन पाली में वैक्सीन लगाएंगे तो दिसंबर तक देश के सभी लोगों को वैक्सीन लग जाएगी। हम प्रतिदिन 1 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगा सकते हैं। (फाइल फोटो)

कोविड-19 महामारी से देश की आर्थिक स्थिति गड़बड़ा गई है। लेकिन सरकार को अगले महीने यानी जुलाई से आर्थिक रिकवरी की उम्मीद है। केंद्र सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार (CEA) KV सुब्रमण्यम ने गुरुवार को कहा कि हमें उम्मीद है कि जुलाई से इकोनॉमी में रिकवरी शुरू होगी। क्योंकि अब राज्यों द्वारा पाबंदियां हटाई जा रही है। साथ ही अगर वैक्सीनेशन को तेज किया जाए तो इसका सपोर्ट भी मिलेगा।

एक करोड़ वैक्सीनेशन असंभव नहीं
यह बयान ऐसे समय में आया है जब देश कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहा है। अलग-अलग सेक्टर के लाखों लोग बेरोजगारी के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं। सुब्रमण्यम ने कहा कि अगर हम लोगों को दिन के तीन पाली में वैक्सीन लगाएंगे तो दिसंबर तक देश के सभी लोगों को वैक्सीन लग जाएगी। हम प्रतिदिन 1 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगा सकते हैं। यह पूरी तरह से महत्त्वाकांक्षी है, लेकिन असंभव नहीं है।

इकोनॉमी पर CEA ने क्या कहा?
उन्होंने आगे कहा कि महामारी से फिस्कल डेफिसिट और डिसइन्वेस्टमेंट टार्गेट पर प्रभावित होगा। पिछले दिनों सरकार ने इससे संबंधित डेटा जारी किया था। डेटा के मुताबिक फाइनेंशियल इयर 2020-21 के लिए फिस्कल डेफिसिट कुल GDP का 9.3% रहा, जो सरकार के अनुमान 9.5% से कम है। इस दौरान GDP भी 7.3% गिर गया। वहीं, चौथी तिमाही में GDP लगातार दूसरी तिमाही में पॉजिटिव रहा और 1.6% बढ़ा।

शेयर मार्केट में तेजी अच्छी आर्थिक ग्रोथ की संभावना को दर्शाता है
KV सुब्रमण्यम ने घरेलू शेयर मार्केट की रिकॉर्ड बढ़त पर कहा कि निवेशकों को भरोसा है कि इकोनॉमी अच्छा करेगी। अच्छी आर्थिक ग्रोथ और इन्वेस्टमेंट के लिहाज से भारतीय शेयर मार्केट सबसे बेहतर रहा है। गुरुवार यानी 3 जून को सेंसेक्स 382 पॉइंट चढ़कर रिकॉर्ड 52,232 पर और निफ्टी 15,690 पर बंद हुआ है। बाजार की बढ़त के पीछे देश में घटता संक्रमण दर और RBI द्वारा ब्याज दरों पर फैसले का असर रहा।