पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Life Insurance Corporation Value , LIC Brand Value, LIC Value , LIC IPO , LIC Premium, LIC Value, LIC In Top 10

दुनिया के टॉप इंश्योरेंस ब्रांड की वैल्यू घटी:LIC पहली बार दुनिया में तीसरा सबसे मजबूत इंश्योरेंस ब्रांड, टॉप 10 वैल्यूएबल इंश्योरेंस ब्रांड में शामिल

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • टॉप 10 सबसे मूल्यवान इंश्योरेंस ब्रांड में चीन की पांच कंपनियां हैं
  • यूरोप और अमेरिका की 2-2 कंपनियां हैं। भारत की एक कंपनी है

कोरोना की वजह से जहां दुनिया भर की बीमा कंपनियों के ब्रांड की वैल्यू घटी है, वहीं देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) एक मजबूत ब्रांड बन कर उभरा है। पहली बार यह दुनिया में तीसरा सबसे मजबूत इंश्योरेंस ब्रांड बना है। जबकि टॉप 10 सबसे वैल्यूएबल इंश्योरेंस ब्रांड में यह शामिल हुआ है।

LIC का ब्रांड वैल्यू 865 करोड़ डॉलर

लंदन के ब्रांड फाइनेंस इंश्योरेंस की 2021 की रैंकिंग के मुताबिक, LIC का ब्रांड वैल्यू 865 करोड़ डॉलर यानी 64,875 करोड़ रुपए है। यह 13 वें नंबर से मजबूत होकर 10 वें नंबर पर आ गया है। ब्रांड के मामले में चीन की पिंग ऐन पहले नंबर पर जिसका वैल्यू 4,479 करोड़ डॉलर है। रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार को विश्व के टॉप 100 सबसे मूल्यवान बीमा ब्रांड का वैल्यू 6% गिरा है। यह 2020 में 462.4 अरब डॉलर था जो अब 433 अरब डॉलर हो गया है।

टॉप 10 सबसे मूल्यवान इंश्योरेंस ब्रांड में चीन की पांच कंपनियां हैं। यूरोप की 2 और अमेरिका की 2 कंपनियां हैं। जबकि भारत की एक कंपनी है।

अनुमान था ब्रांड वैल्यू घटेगी

ब्रांड फाइनेंस के डायरेक्टर डेकलेन अहर्न ने कहा कि जैसा कि अनुमान था, वैसा ही हुआ और इस साल इंश्योरेंस ब्रांड की वैल्यू में कोरोना की वजह से गिरावट आई है। हालांकि अनुमान की तुलना में यह बेहतर रहा है। इंश्योरेंस ब्रांड अब मजबूत रिकवरी की ओर जा रहे हैं क्योंकि कोरोना से दुनिया अब रिकवर हो रही है।

32 करोड़ से ज्यादा पॉलिसीज

LIC की देश में 32 करोड़ से ज्यादा पॉलिसीज हैं और 13 लाख से ज्यादा एजेंट हैं। कश्मीर से कन्याकुमारी तक इसका नेटवर्क है। कंपनी इस समय IPO लाने की योजना बना रही है। इसका IPO अब तक का देश का सबसे बड़ा IPO होगा और कंपनी इससे करीबन 80 हजार करोड़ रुपए जुटा सकती है। इसके तहत यह 10% हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर रही है। फिलहाल इसका पूरा मालिकाना हक सरकार के पास है।

1.84 लाख करोड़ का प्रीमियम

पिछले 1 साल में इसने 1.84 लाख करोड़ रुपए का नया प्रीमियम हासिल किया है जबकि इसी दौरान इसने 1.34 लाख करोड़ रुपए पॉलिसीधारकों को दावों के रूप में दिया है। इसी तरह इसने इसी समय में 2.10 करोड़ पॉलिसीज की बिक्री की है। इसमें से 46.72 लाख पॉलिसीज मार्च महीने में अकेले बेची गई हैं। यानी एक साल पहले की तुलना में इसमें 2.99 गुना की बढ़त रही है।

पॉलिसीज के मामले में इसकी बाजार हिस्सेदारी 81.04% मार्च 2021 में रही है। जबकि पिछले साल मार्च में यह 74.58% थी। फर्स्ट ईयर प्रीमियम में इसकी बाजार हिस्सेदारी इस साल मार्च में 64.74% रही है जबकि पूरे साल के दौरान यह 66.18% रही है।