पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • Listed Companies Will Now Get 3 Years Time To Meet Minimum 25 Pc Public Shareholding Condition

राहत:न्यूनतम 25% पब्लिक शेयरहोल्डिंग की शर्त पूरी करने के लिए अब लिस्टेड कंपनियों को मिलेगी 2 की जगह 3 साल की मोहलत

नई दिल्ली4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नियमों के तहत कोई भी कंपनी जब शेयर बाजार में लिस्ट होती है, तो उस कंपनी के प्रमोटर्स को निर्धारित समय सीमा के भीतर अपनी शेयरधारिता को घटाकर 75 फीसदी तक लाना होता है
  • सरकार ने सिक्युरिटीज कांट्रैक्ट्स (रेगुलेशन) रूल्स-1957 में बदलाव को नोटिफाई किया
  • गजट में प्रकाशन के साथ ही यह नोटिफिकेशन प्रभावी हो गया है
Advertisement
Advertisement

देश के शेयर बाजार में लिस्ट होने वाली कंपनियों को न्यूनतम 25 फीसदी पब्लिक शेयरहोल्डिंग की शर्त पूरी करने के लिए अब 2 की जगह 3 साल की मोहलत मिलेगी। सरकार ने सिक्युरिटीज कांट्रैक्ट्स (रेगुलेशन) रूल्स-1957 में बदलाव को नोटिफाई कर दिया है। इससे लिस्टेड कंपनियों को अब पब्लिक शेयरहोल्डिंग की शर्त पूरी करने के लिए ज्यादा समय मिलेगा।

कानून में दो साल की जगह तीन साल किया गया

शुक्रवार 31 जुलाई के एक सरकारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि सिक्युरिटीज कांट्रैक्ट्स (रेगुलेशन) रूल्स-1957 में रूल 19ए के सब-रूल (1) के प्रोविजो में 'दो साल' शब्द को हटाकर उसकी जगह 'तीन साल' कर दिया जाएगा। इस नोटिफिकेशन के गजट में प्रकाशित होने के दिन से यह बदलाव प्रभावी हो गया है। नियमों के तहत कोई भी कंपनी जब शेयर बाजार में लिस्ट होती है, तो उस कंपनी के प्रमोटर्स को निर्धारित समय सीमा के भीतर अपनी शेयरधारिता को घटाकर 75 फीसदी तक लाना होता है।

कोरोनावायरस महामारी के बीच कंपनियों को इस मामले में दूसरी राहत मिली

कोरोनावायरस महामारी के बीच कंपनियों को शेयरधारिता के मामले में पहले भी एक राहत दी जा चुकी है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 14 मई को नियमों का पालन नहीं करने वाली कंपनियों पर कार्रवाई के लिए योग्यता की शर्तों में थोड़ी ढील दे दी थी।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज वित्तीय स्थिति में सुधार आएगा। कुछ नया शुरू करने के लिए समय बहुत अनुकूल है। आपकी मेहनत व प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। विवाह योग्य लोगों के लिए किसी अच्छे रिश्ते संबंधित बातचीत शुर...

और पढ़ें

Advertisement