• Hindi News
  • Business
  • Anand Mahindra: Mahindra Group Chairman Anand Mahindra On PLI Scheme Over Atmanirbhar Bharat

आनंद महिंद्रा ने की सरकार की स्कीम की प्रशंसा:सरकार की PLI स्कीम से इंडस्ट्री के लिए ड्रामेटिक बदलाव का संकेत मिला है

मुंबईएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आनंद महिंद्रा ने कहा कि मेरा मानना है कि अगर नीतियों को लगातार और पारदर्शी ढंग से लागू किया जाता है तो चुने हुए उद्योग चुनौती के लिए आगे बढ़ेंगे। जिन सेक्टर्स को चुना गया है उनमें विश्व के किसी भी सेक्टर से लड़ने की क्षमता है - Dainik Bhaskar
आनंद महिंद्रा ने कहा कि मेरा मानना है कि अगर नीतियों को लगातार और पारदर्शी ढंग से लागू किया जाता है तो चुने हुए उद्योग चुनौती के लिए आगे बढ़ेंगे। जिन सेक्टर्स को चुना गया है उनमें विश्व के किसी भी सेक्टर से लड़ने की क्षमता है
  • आनंद महिंद्रा ने कहा कि उन्होंने करियर की शुरुआत लाइसेंस राज के दौर में की थी, जहां ग्रोथ नाम की कोई चीज नहीं होती थी
  • पीएलआई स्कीम में ऑटोमोबाइल्स और ऑटो पाटर्स, फार्मा, टेक्सटाइल्स और फूड प्रोडक्ट भी थे।महिंद्रा समूह ऑटो की दिग्गज कंपनी है

महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने कहा है कि सरकार द्वारा ऑटो सहित 10 और क्षेत्रों के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना (PLI) की घोषणा ने उद्योग के प्रति नजरिए में "ड्रामेटिक चेंज" का संकेत दिया है। उन्होंने इस संबंध में कई ट्वीट आज किया।

सरकार की घोषणा को समझने में समय लगा

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट में कहा कि मुझे इस घोषणा की तह में जाने में कुछ समय लगा। मैं गेम चेंजर शब्द का भी उपयोग नहीं करता हूं, लेकिन आज ऐसा करना उचित होगा। महिंद्रा ने ट्वीट में कहा कि मेरे लिए इस स्कीम की डिजाइन से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण बात यह है कि यह उद्योग के प्रति रवैये में जबरदस्त बदलाव का संकेत देता है।

करियर की शुरुआत लाइसेंस राज में की

एक अन्य ट्वीट में कहा कि उन्होंने अपने करियर की शुरुआत लाइसेंस राज के दौर में की थी, जहां ग्रोथ नाम की कोई चीज नहीं होती थी। महिंद्रा ने ट्वीट में कहा कि कुल मिलाकर यह पॉलिसी यह संकेत देती है कि विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी व्यवसायों को फाइनेंस करने के लिए एक पैमाना अनिवार्य है। दूसरा, बड़े उद्यम, छोटे और सूक्ष्म उद्यमों के एक बड़े पारिस्थितिकी तंत्र (ecosystem) को बढ़ावा देते हैं।

चुने हुए उद्योग चुनौती के लिए आगे बढ़ेंगे

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि अगर नीतियों को लगातार और पारदर्शी ढंग से लागू किया जाता है तो चुने हुए उद्योग चुनौती के लिए आगे बढ़ेंगे। जिन सेक्टर्स को चुना गया है उनमें विश्व के किसी भी सेक्टर से लड़ने की क्षमता है। यह देख कर मुझे काफी खुशी हो रही है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि जिन उद्योगों को चुना गया है वह अब इन नीतियों का फायदा उठाकर पारदर्शी तरीके से काम करेंगे और खुद को विश्व के नक्शे पर स्थापित करने में कामयाब होंगी।

11 नवंबर को पीएलआई स्कीम को मिली थी मंजूरी

बता दें कि 11 नवंबर को केंद्र सरकार के कैबिनेट ने पीएलआई स्कीम को 10 और सेक्टर्स के लिए मंजूरी दे दी थी। इसमें ऑटोमोबाइल्स और ऑटो पाटर्स, फार्मा, टेक्सटाइल्स और फूड प्रोडक्ट भी थे। सरकार ने एक लाख 45 हजार 980 करोड़ रुपए पांच सालों के लिए इस स्कीम के तहत दिया है। महिंद्रा समूह ऑटो सेक्टर की बड़ी कंपनी है। इस पीएलआई स्कीम के तहत 51,311 करोड़ रुपए पहले ही मंजूर किए जा चुके हैं।

इससे पहले ऑटो सेक्टर की संस्था सियाम ने भी इस पहल की सराहना की थी। सियाम ने कहा था कि इससे वैश्वित प्रतिस्पर्धा में मजबूती से लड़ने के साथ-साथ आत्मनिर्भर पहल को भी बढ़ावा मिलेगा।

खबरें और भी हैं...