पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Male Govt Employees Who Are Single Parents Now Entitled To Child Care Leave: Union Minister Jitendra Singh

केन्द्र सरकार का बड़ा फैसला:अब बच्चे की देखभाल के लिए मिलेगी चाइल्ड केयर लीव; सिंगल मेल पैरेंट्स ले सकेंगे छुट्टी

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने बताया कि ऐसे सरकारी मेल कर्मचारी जो सिंगल पिता हैं वे अब बच्चों की देखरेख के लिए छुट्टी ले सकेंगे

केन्द्र सरकार ने सिंगल मेल पैरेंट्स के हित में बड़ा फैसला लिया है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने बताया कि ऐसे सरकारी मेल कर्मचारी जो सिंगल पिता हैं वे अब बच्चों की देखरेख के लिए छुट्टी ले सकेंगे। जितेंद्र सिंह ने कहा कि सिंगल मेल पैरेंट्स में अविवाहित कर्मचारी, विधुर और तलाकशुदा पुरुष शामिल हैं। वो अपने बच्चे की देखभाल की जिम्मेदारी उठाने के लिए चाइल्ड केयर लीव के हकदार हैं।

इस कदम को सरकारी कर्मचारियों के लिए अहम सुधार बताते हुए केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि आदेश कुछ समय पहले जारी कर दिए गए थे, लेकिन किन्हीं वजहों से जनता में इसका पर्याप्त प्रचार नहीं हो पाया।

एलटीसी का लाभ भी उठा सकता है

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, मंत्री ने कहा कि चाइल्ड केयर लीव पर एक कर्मचारी अब संबंधित अधिकारी की स्वीकृति के साथ छुट्टी ले सकता है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वह कर्मचारी चाइल्ड केयर लीव पर रहते हुए लीव ट्रैवल कंसेशन यानी एलटीसी (LTC) का लाभ भी उठा सकता है। पहले साल 'चाइल्‍ड केयर लीव' को 100% लीव सैलरी की तरह यूज कर सकते हैं।

अगले साल से इसे 85% लीव सैलरी की तरह इस्‍तेमाल कर पाएंगे। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी बताया कि अब दिव्यांग बच्चे की देखभाल के लिए कोई सरकारी कर्मचारी कभी भी चाइल्ड केयर लीव ले सकता है। हालांकि, पहले इसके लिए बच्चे की अधिकतम उम्र सीमा 22 वर्ष तय की गई थी।

पीएम मोदी के हस्तक्षेप की वजह से सुधार

जितेंद्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के व्यक्तिगत हस्तक्षेप और शासन सुधारों पर उनके विशेष जोर की वजह से पिछले छह वर्षों में कई उल्लेखनीय निर्णय लेना संभव हुआ है। उन्होंने कहा कि इन सभी फैसलों का मूल उद्देश्य हमेशा एक सरकारी कर्मचारी को अपनी अधिकतम क्षमता के साथ योगदान करने में सक्षम बनाना रहा है।

खबरें और भी हैं...