• Hindi News
  • Business
  • Facebook Reliance Jio Investment | Mark Zuckerberg Mukesh Ambani | Mark Zuckerberg Facebook Investment In Mukesh Ambani Reliance Jio Compnay Latest News Updates

टेक सेक्टर में सबसे बड़ी एफडीआई:जियो में 43,574 करोड़ रु. निवेश करेंगे जुकरबर्ग, मुकेश अंबानी की कंपनी में फेसबुक की 9.99% हिस्सेदारी हो जाएगी

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • दोनों कंपनियों के बीच इस डील के बाद जियो का वैल्यूएशन 4.62 लाख करोड़ रुपए हो जाएगा
  • नियामक की मंजूरी के बाद फेसबुक, जियो की सबसे बड़ी माइनॉरिटी शेयरहोल्डर बन जाएगी

फेसबुक मुकेश अंबानी की जियो में 43,574 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। इस निवेश के बाद जियो में फेसबुक की हिस्सेदारी 9.99% हो जाएगी। भारतीय टेक्नाेलॉजी सेक्टर में यह सबसे बड़ा एफडीआई है। दोनों कंपनियों के बीच इस डील के बाद जियो का वैल्यूएशन 4.62 लाख करोड़ रुपए का हो जाएगा। यह मूल्यांकन डॉलर के मुकाबले रुपए को 70 मानकर किया गया है। नियामक की मंजूरी मिलने के बाद फेसबुक, जियो में सबसे बड़ी माइनॉरिटी शेयरहोल्डर बन जाएगी। 

फेसबुक की सब्सिडियरी वॉट्सऐप के भी भारत में 40 करोड़ यूजर 
भारत में करीब 100 करोड़ मोबाइल यूजर हैं। फेसबुक के लिए भी भारत सबसे बड़ा बाजार है। फेसबुक की सब्सिडियरी वॉट्सऐप के भी भारत में 40 करोड़ यूजर हैं। रिलायंस जियो के देश में 38.8 करोड़ यूजर हैं। डील के बाद भी रिलायंस जियो इन्फोकॉम जियो फ्लेटफॉर्म की पूर्ण स्वामित्व वाली इकाई बनी रहेगी। 

टेक कंपनी में माइनॉरिटी हिस्से के लिए दुनिया भर में यह सबसे बड़ा निवेश 
फेसबुक और जियो के बीच पार्टनरशिप कई मामलों में महत्वपूर्ण है। किसी टेक्नोलॉजी कंपनी में माइनॉरिटी हिस्सेदारी के लिए दुनिया भर में यह सबसे बड़ा निवेश है। भारतीय टेक्नोलॉजी सेक्टर में यह सबसे बड़ी एफडीआई है। मार्केट कैपटीलाइजेशन की बात करें तो जियो की पैरेंट कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज टॉप पर है।  2016 में शुरू हुई जियो का पूरा नेटवर्क 4जी पर आधारित है जबकि दूसरी कंपनियों के पास 2जी, 3जी और 4जी का मिश्रण है। इस डील के बाद जियो का वैल्यूएशन 4.62 लाख करोड़ रुपए का हो जाएगा।

मार्केट कैप के हिसाब से देश की टॉप 5 कंपनियां

कंपनी  मार्केट वैल्यूएशन
रिलायंस इंडस्ट्रीज7.8 लाख करोड़ रुपए
टाटा कंस्लटेंसी 6.5 लाख करोड़ रुपए
एचडीएफसी बैंक5.05 लाख करोड़ रुपए
हिंदुस्तान यूनिलीवर5.04 लाख करोड़ रुपए
एचडीएफसी2.89 लाख करोड़ रुपए

ईज ऑफ लिविंग और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में भी सुविधा होगी: मुकेश अंबानी
कंपनी द्वारा प्रेस रिलीज में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा है कि जियो और फेसबुक के बीच साझेदारी से प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया मिशन को और मजबूती मिलेगी। इससे ईज ऑफ लिविंग और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में भी सुविधा होगी। कोरोना के बाद देश की अर्थव्यवस्था तेजी से विकास करेगी और जियो-फेसबुक के बीच हुई यह साझेदारी इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। 

जुकरबर्ग ने जियो के साथ दूसरे प्रोजेक्ट पर साथ काम करने के संकेत दिए
मार्क जुकरबर्ग ने कहा कि इस समय दुनिया में बहुत कुछ चल रहा है, लेकिन भारत में काम करने के बारे में एक अपडेट देना चाहता हूं। फेसबुक, जियो प्लेटफॉर्म के साथ पार्टनरशिप कर रही है और फेसबुक, जियो में निवेश करेगी। इसके अलावा फेसबुक और जियो साथ मिलकर दूसरे प्रोजेक्ट पर भी काम करेंगी जिससे भारत में लोगों को व्यापारिक अवसर मिलेंगे। देश डिजिटल बदलाव के दौर में है और इसमें जियो ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

कंपनी भारत में काम करने के लिए प्रतिबद्ध: फेसबुक
फेसबुक के चीफ रेवन्यू ऑफीसी डेविड फिशर और भारत में कंपनी के वीपी और एमडी अजीत मोहन ने एक साझा ब्लॉग में कहा कि यह निवेश कंपनी की भारत के प्रति प्रतिबद्धता को दिखाता है। 4 साल से कम समय में जियो के पास 38.8 करोड़ यूजर्स हैं। यह नई एंटरप्राइज की इनोवेशन को प्रेरित तो करता ही है साथ में लोगों को नए तरीके से जुड़ने में मदद करता है। कंपनी जियो के साथ मिलकर भारत में और लोगों को जोड़ना चाहती है।

भारत को 'डिजिटल दुनिया' के शिखर तक पहुंचा का सपना होगा सच: अंबानी

फेसबुक के साथ पार्टनरशिप पर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने कहा, "2016 में जब हमने जियो की शुरुआत की थी तो हमने एक सपना देखा था। ये सपना था भारत के 'डिजिटल सर्वोदय' का। ये सपना था भारत में एक ऐसी समावेशी डिजिटल क्रांति का जिससे हर भारतीय की जिंदगी बेहतर हो सके। सपना, एक ऐसी क्रांति का जो उसे 'डिजिटल दुनिया' के शिखर तक पहुंचा सके। इसलिए भारत के डिजिटल इकोसिस्टम को विकसित करने और बदलने के लिए हम अपने दीर्घकालिक साझेदार के रूप में फेसबुक का स्वागत करते हैं। जियो और फेसबुक के बीच तालमेल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने में मदद करेगा।"

अक्टूबर में रिलायंस ने नई सब्सिडियरी का गठन किया था
पिछले साल अक्टूबर में रिलायंस ने अपने सभी डिजिटल इनीशिएटिव और ऐप्स को सिंगल एंटिटी के तहत लाने के लिए नई सब्सिडियरी के गठन का ऐलान किया था। इस नई कंपनी में रिलायंस ने 1.08 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया था। जियो ऐप्स जैसे जियो टीवी, जियो सिनेमा, जियो न्यूज आदि को इस नई कंपनी के तहत लाया गया था। साथ ही संभावित रणनीतिक निवेशकों के लिए स्ट्रक्चर को सिम्प्लीफाई किया था। 18 मार्च को रिलायंस इंडस्ट्रीज ने रिलायंस जियो का कुछ कर्ज अपने पास हस्तांतरित कर लिया था। हालांकि, इस कर्ज की राशि का खुलासा नहीं किया गया था।

जियो द्वारा मिलने वाली सर्विसेज

रिलायंस जियो देश में एक कई डिजिटल सर्विसेज दे रही है, जिसमें 4G नेटवर्क के साथ डिवाइसेस, एप्लिकेशंस, कंटेंट और कई अगल सर्विस शामिल हैं। इसके साथ, कंपनी ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी, स्मार्ट डिवाइसेज, क्लाउड और एज कंप्यूटिंग, बिग डेटा एनालिटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, ऑग्मेंटेड रिएलिटी, मिक्स्ड रिएलिटी और ब्लॉकचेन जैसी सुविधाएं भी दे रही है।
देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी है रिलायंस जियो
ग्राहकों के लिहाज से रिलायंस जियो देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी है। ट्राई के ताजा आंकड़ों के अनुसार दिसंबर 2019 तक रिलायंस जियो के पास 37 करोड़ ग्राहक थे। वहीं 33.2 करोड़ ग्राहकों के साथ दिसंबर महीने में वोडाफोन-आइडिया दूसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी थी। दिसंबर 2019 में 32.72 करोड़ ग्राहकों के साथ भारती एयरटेल तीसरी सबसे बड़ी कंपनी थी। ट्राई के अनुसार इस महीने में सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल के पास 11.8 करोड़ और एमटीएनएल के पास 33.76 लाख ग्राहक थे।

फेसबुक का 2020 तक 34 करोड़ एक्टिव यूजर्स का लक्ष्य
दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने भारत में 2020 तक 34 करोड़ मासिक एक्टिव यूजर बनाने का लक्ष्य रखा है। स्टेटिस्टा डॉट कॉम के अनुसार 2018 में फेसबुक के पास 28 करोड़ से ज्यादा मासिक एक्टिव यूजर थे। फेसबुक का मुख्यालय अमेरिका के कैलिफोर्निया में है और यह इंस्टाग्राम, मैसेंजर, व्हाट्सऐप, वॉच, पोर्टल, ऑक्यूलस, कैलीबरा जैसे प्लेटफॉर्म का भी संचालन करती है। 2019 में फेसबुक का कुल राजस्व 70.697 बिलियन डॉलर रहा है।

खबरें और भी हैं...