अमीरों के मनी मंत्र:धनवान और कामयाब बनना चाहते हैं तो अपनी लाइफ में शामिल करें दुनिया के इन 10 बिजनेसमैन की सीख

नई दिल्ली7 महीने पहले

इस साल 4 नवंबर को दिवाली का त्योहार मनाया जा रहा है। आज के दिन धन की देवी लक्ष्मी की पूजा कर सुख-समृद्धि की कामना की जाती है। ऐसे में हम आपको दुनिया के 10 अमीर लोगों के मनी मंत्र बताने जा रहे हैं। ये मनी मंत्र हम सबके काम आ सकते हैं।

1. एलन मस्क
दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलन मस्क का मनी मंत्र हार न मानने की जिद, कड़ी मेहनत और पैशन को फॉलो करना है। मस्क के स्पेस में रॉकेट भेजने के पहले दो प्रयास फेल हो गए थे। उनके पास केवल एक और लॉन्च का पैसा बचा था, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और तीसरे प्रयास में सफलता हासिल की।

2. जेफ बेजोस
अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस ने एक गैराज से कंपनी की शुरुआत की थी। उनका मनी मंत्री इनोवेशन है जिससे वो कभी पीछे नहीं हटते। बेजोस के इनोवेटिव होने का ही नतीजा है कि वह अमेजन को इस मुकाम तक पहुंचा पाए। क्लाउड सर्विस में भी उन्होंने उस समय हाथ आजमाया जब कम ही लोग इसकी ABC जानते थे।

3. बिल गेट्स
बिल गेट्स खुद को टेक्नोक्रेट कहते हैं और वो मानते हैं कि तकनीक के जरिए दुनिया को और भी बेहतर बनाया जा सकता है। गेट्स कहते हैं कि जितनी जल्दी हो सके, उतनी जल्दी शुरुआत करना चाहिए। बिल गेट्स जब केवल 13 साल के थे तब उन्होंने कंप्यूटर प्रोग्रामिंग शुरू कर दी थी। 1986 में गेट्स अरबपतियों की लिस्ट में शामिल हो गए थे।

4. मार्क जुकरबर्ग
मार्क जुकरबर्ग का मनी मंत्र उनकी रिस्क लेने की आदत है। जुकरबर्ग मानते हैं कि रिस्क न लेने की आदत सफलता को रोकने का काम करती है। इसलिए तेजी से भागती दुनिया में रिस्क लेना जरूरी है। लोग इस बात की परवाह नहीं करते कि आप क्या कहते हैं, वे इस बात की परवाह करते हैं कि आप क्या बिल्ड करते हैं।

5. वारेन बफे
दुनिया के दिग्गज निवेशक वारेन बफे का मनी मंत्र वैल्यू इन्वेस्टिंग है। यानी वह ऐसी कंपनियों में लंबे समय के लिए निवेश करते हैं जिनके फंडामेंटल अच्छे हैं और शेयर प्राइस कम। बफे का मानना है कि आखिर में वही शेयर्स रिटर्न देते हैं जिनकी क्वालिटी अच्छी होती है। निवेश की अपनी इसी स्टाइल की वजह से बफे इतने सफल हैं।

6. मुकेश अंबानी
भीड़ से हटकर सोचना एक कामयाब शख्स की निशानी होती है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी में भी यही खूबी है। इसी सोच से मुकेश अंबानी ने टेलीकॉम इंडस्ट्री में कमाल कर दिखाया। उन्होंने भारत में बहुत महंगे इंटरनेट डेटा की समस्या को पहचाना और इसका समाधान निकालते हुए लोगों तक सस्ते दामों में डेटा पहुंचाया।

7. शिव नदार
HCL के फाउंडर शिव नदार ने आम आदमी से अरबपति बनने का रास्ता तय किया है। नदार ने 1976 में HCL की स्थापना की थी। उन्होंने 1978 में पहला स्वदेशी कंप्यूटर बनाया। शिव नदार मानते हैं कि बिना लक्ष्य के कामयाबी हासिल नहीं की जा सकती। इसलिए सपने देखें और अपना लक्ष्य तय करें और इस लक्ष्य को पाने में जुट जाएं।

8. राधाकृष्ण दमानी
रिटेल चेन डी-मार्ट के फाउंडर और इन्वेस्टर राधाकृष्ण दमानी भी वारेन बफे की तरह वैल्यू इन्वेस्टिंग में भरोसा करते हैं और कंपनियों में लॉन्ग टर्म के लिए निवेश करते हैं। दमानी जब इन्वेस्टर से एंटरप्रेन्योर बने तो लॉन्ग टर्म अप्रोच के साथ ही आगे बढ़े और डी-मार्ट को खड़ा किया। उन्होंने धीरे-धीरे अपने स्टोर की संख्या को बढ़ाया।

9. अजीम प्रेमजी
विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी कमाने और बांटने में विश्वास रखते हैं। प्रेमजी ने वित्त वर्ष 2020-21 में 9,713 करोड़ रुपए का दान दिया और एडलगिव हुरुन इंडिया फिलैन्थ्रॉपी लिस्ट 2021 में पहले स्थान पर रहें। प्रेमजी का मानना है कि इंसान को असफलता के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए। अपनी कोर वैल्यू से हमेशा चिपके रहना चाहिए।

10. राकेश झुनझुनवाला
भारत के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का मनी मंत्र फेयर वैल्यू, फंडामेंटल और फ्यूचर प्रॉस्पेक्ट है। यानी शेयर का वैल्यूएशन कम होना चाहिए। कंपनी के फंडामेंटल अच्छे हों और कंपनी का फ्यूचर प्लान क्या है, इस पर फोकस होना चाहिए। झुनझुनवाला मानते हैं कि अगर किसी कंपनी के पास यह तीनों फैक्टर हैं तो निवेश डूबेगा नहीं।