• Hindi News
  • Business
  • Mukesh Ambani Vs Gautam Adani | Reliance Industries Adani Group Share Price And Market Capitalization Latest Details

डेटा स्टोरी:भले ही अडाणी ने मार्केट को 56,000 तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई हो, लेकिन आज भी शेयर बाजार के शेर मुकेश अंबानी ही हैं

मुंबई4 महीने पहलेलेखक: विमुक्त दवे
  • कॉपी लिंक

हाल ही में सेंसेक्स ने 56,000 के पॉइंट को छुआ और शेयर मार्केट के इस लेवल पर पहुंचने के पीछे मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि पिछले एक साल में अडाणी ग्रुप की छह लिस्टेड कंपनियों का बेस्ट परफॉर्मेंस रहा है। अडाणी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में पिछले एक साल में 185-945% की तेजी आई है। इससे गौतम अडाणी और मुकेश अंबानी की संपत्ति के बीच का अंतर भी कम हो गया है।

हालांकि, इसके बावजूद आज भी शेयर बाजार के असली किंग मुकेश अंबानी ही हैं। दैनिक भास्कर ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) से डेटा लेकर इसका विश्लेषण किया तो पाया कि गौतम अडाणी ग्रुप की छह लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 7.11 लाख करोड़ रुपए, जबकि रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप 13.77 लाख करोड़ रुपए है।

मार्केट कैप टॉप-25 में एक भी अडाणी कंपनी नहीं
BSE में लिस्टेड कंपनियों का टोटल मार्केट कैप 240.86 लाख करोड़ रुपए है। इसमें 13.77 लाख करोड़ रुपये के साथ रिलायंस पहले नंबर पर है। वहीं, अडाणी ग्रुप की एक भी कंपनी मार्केट कैप टॉप-25 की लिस्ट में नहीं है। BSE टॉप-100 मार्केट कैप लिस्ट में अडाणी एंटरप्राइज 1.60 लाख करोड़ रुपए के साथ 27वें नंबर पर है।

कंपनीमार्केट कैप (लाख करोड़ रुपए)
रिलायंस इंडस्ट्रीज13.77
TCS13.16
HDFC बैंक8.36
इंफोसिस7.35
हिंदुस्तान यूनिलीवर5.83
HDFC लिमिटेड4.89
ICICI बैंक4.77
बजाज फाइनेंस3.95
SBI3.75
कोटक महिंद्रा बैंक3.47
विप्रो लिमिटेड3.44
भारती एयरटेल3.42
HCL टेक्नोलॉजीस3.07
एशियन पेंट्स2.88
ITC2.57
बजाज फिनसर्व2.38
एवेन्यु सुपरमार्ट2.36
ऐक्सिस बैंक2.31
L&T लिमिटेड2.29
अल्ट्राटेक सीमेंट2.19
मारुति सुजुकी2.06
सन फार्मास्युटिकल1.87
नेस्ले इंडिया1.82
टाटा स्टील1.80
JSW स्टील1.78

सोर्स: BSE

मार्केट कैप के मामले में अंबानी से पीछे लेकिन ग्रोथ में आगे हैं अडाणी
दोनों ग्रुप की लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन देखें तो रिलायंस की तुलना में अडाणी ग्रुप काफी पीछे है। रिलायंस का मार्केट कैप वर्तमान में 13.77 लाख करोड़ रुपए है। इसकी तुलना में अडाणी की लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 7.10 लाख करोड़ है। हालांकि, 2019 के बाद से अब तक की ग्रोथ देखें तो पिछले तीन सालों में रिलायंस का मार्केट कैप 59.37% बढ़ा है, जबकि अडाणी का मार्केट कैप 352.22% बढ़ा है।

स्टॉक विवाद से अडाणी के मार्केट कैप पर असर पड़ा
जून महीने में नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) अडाणी ग्रुप की कंपनियों में 45,000 करोड़ रुपए का निवेश करने वाले तीन फॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टर्स (FPI) के खाते फ्रीज कर दिए हैं.. ऐसी खबरें आने के बाद अडाणी के स्टॉक्स में काफी गिरावट आ गई थी। इसका सीधा असर कंपनी की मार्केट कैप पर भी पड़ा था। इस समय ग्रुप का मार्केट कैपिटलाइजेशन 8 लाख करोड़ से अधिक था, जो घटकर 7 लाख करोड़ के आसपास पहुंच गया था। हालांकि, बाद में इसमें रिवकरी हो गई थी।

अडाणी ने निवेशकों को काफी फायदा पहुंचाया
बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के मुताबिक, रिलायंस की तुलना में अडाणी ग्रुप की कंपनियों के निवेशकों की अच्छी कमाई हुई है। 52 हफ्ते के सबसे निचले और ऊंचे स्तर को देखें तो रिलायंस के शेयरों में 29.44% की तेजी आई। इसके उलट अडाणी ग्रुप की कंपनियों में 188% से 945% तक की ग्रोथ देखी गई। अडाणी टोटल गैस और अडाणी ट्रांसमिशन के शेयरों में 500% से ज्यादा की वृद्धि हुई है।

मनी क्रिएशन में मुकेश अंबानी अभी भी आगे
मार्केट कैप हो या शेयर की कीमतों में तेजी का मामला हो, गौतम अडाणी की कंपनियों में पिछले एक साल में भारी तेजी आई है। लेकिन वेल्थ क्रिएशन में मुकेश अंबानी आज भी आगे हैं। फोर्ब्स के मुताबिक, गौतम अडाणी की कुल संपत्ति फिलहाल 4.18 लाख करोड़ रुपए है। वहीं, मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति 6.14 लाख करोड़ रुपए है। अडाणी के वेल्थ क्रिएशन में एनर्जी और गैस बिजनेस का योगदान पिछले दो साल में काफी बढ़ा है। वहीं, रिलायंस के टेलीकॉम और रिटेल कारोबार से अंबानी को फायदा हो रहा है।

खबरें और भी हैं...