8 वें महीने में भी इक्विटी फंड से निकले पैसे:निवेशकों ने 10,468 करोड़ निकाले, डेट में 1734 करोड़ का निवेश किया

मुंबई8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 4 साल बाद जुलाई में 2,480 करोड़ रुपए निकाले गए थे
  • फंड इंडस्ट्री का AUM 31.64 लाख करोड़ रुपए रहा है

इक्विटी म्यूचुअल फंड से निवेशकों ने 10,468 करोड़ निकाले, डेट में 1734 करोड़ का निवेश किया

मुंबई- म्यूचुअल फंड के निवेशकों ने इक्विटी म्यूचुअल फंड से पैसा निकालना जारी रखा है। फरवरी महीने में इन्होंने इक्विटी म्यूचुअल फंड से कुल 10,468 करोड़ रुपए निकाले हैं। जनवरी में 9,253 करोड़ रुपए निकाले गए थे। यह जानकारी एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एंफी) ने दी है। यह लगातार आठवां महीना है, जब इक्विटी से निवेशकों ने पैसे निकाले हैं।

जुलाई से इक्विटी से पैसा निकलना शुरू हुआ

इक्विटी म्यूचुअल फंड में 4 साल बाद पिछले साल जुलाई से पैसा निकलना शुरू हुआ था। जुलाई में 2,480 करोड़ रुपए निकाले गए थे। एंफी ने मंगलवार को म्यूचुअल फंड के आंकड़े जारी किए। फंड इंडस्ट्री का कुल असेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) फरवरी में 31.64 लाख करोड़ रुपए रहा है। जनवरी में यह 30.5 लाख करोड़ रुपए था। AUM का मतलब, वह पैसा जो म्यूचुअल फंड हाउसेस के पास निवेशक निवेश के लिए देते हैं।

बाजार की ऊंचाई का फायदा

बाजार की ऊंचाई का लगातार निवेशक फायदा उठा रहे हैं। यही कारण है कि पिछले 8 महीनों से वे लगातार इक्विटी म्यूचुअल फंड से पैसे निकाल रहे हैं। जबकि इसके उलट डेट म्यूचुअल फंड में वे पैसा लगा रहे हैं। फ्लैक्सी कैप को हाल में सेबी के नए नियमों के मुताबिक लांच किया गया था।

डेट में 1,734 करोड़ रुपए लगाए

आंकड़ों के मुताबिक डेट फंड में निवेशकों ने 1,734 करोड़ रुपए का निवेश किया है। इक्विटी म्यूचुअल फंड में केवल 3 सेगमेंट ऐसे रहे हैं, जिसमें पैसे लगाए गए हैं। इसमें मल्टी कैप, फोकस्ड फंड और लॉर्ज एंड मिड कैप फंड हैं। जनवरी में डेट में म्यूचुअल फंड निवेशकों ने 33 हजार करोड़ रुपए की निकासी की थी। जबकि फरवरी में यह उल्टा रहा है। फरवरी में सबसे ज्यादा लिक्विड फंड में पैसा आया है। इसमें 17,301 करोड़ रुपए आया है।

मनी मार्केट में 9,579 करोड़ रुपए आया

मनी मार्केट फंड में 9,579 करोड़ रुपए का निवेश आया है जबकि शॉर्ट ड्यूरेशन फंड्स से 10,286 करोड़ रुपए और और कॉर्पोरेट बांड फंड से 6,751 करोड़ रुपए निकाला गया है। इसी तरह क्रेडिट रिस्क से 829 करोड़ रुपए, बैंकिंग एंड PSU फंड से 1,658 करोड़ रुपए, गिल्ट फंड से 1,589 करोड़ रुपए निकाले गए हैं। हाइब्रिड फंड में देखें तो बैलेंस्ड फंड से 2,334 करोड़ रुपए निकाले गए हैं। हालांकि आर्बिट्रेज फंड में 5,033 करोड़ रुपए निवेशकों ने लगाए हैं।

इक्विटी बाजार में तेजी का निवेशक उठा रहे हैं फायदा

विश्लेषकों के मुताबिक, इक्विटी बाजार में तेजी की वजह से निवेशक पैसे निकाल रहे हैं। क्योंकि जिन लोगों ने एक साल पहले इक्विटी बाजार में पैसे लगाए होंगे, या 6 महीने पहले लगाए होंगे, उनको अच्छा खासा फायदा हुआ है। इस समय बाजार एक नई ऊंचाई पर है और शेयरों की कीमतें काफी बढ़ गई हैं। यही कारण है कि इक्विटी से लगातार पैसे निकाले जा रहे हैं।