पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

म्यूचुअल फंड में निवेश:कम फायदे वाला होता है डेट फंड, वैल्यूएशन ज्यादा होने पर डेट अलोकेशन स्थिरता प्रदान करता है

मुंबई11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाजार में उतार-चढ़ाव की अवधि के दौरान एचडीएफसी मल्टी असेट फंड एक निवेशक के लिए एक उपयुक्त निवेश अवसर बन जाता है, जो 3 असेट क्लास में निवेश करता है। इसमें इक्विटी, डेट और गोल्ड शामिल होते हैं। - Dainik Bhaskar
बाजार में उतार-चढ़ाव की अवधि के दौरान एचडीएफसी मल्टी असेट फंड एक निवेशक के लिए एक उपयुक्त निवेश अवसर बन जाता है, जो 3 असेट क्लास में निवेश करता है। इसमें इक्विटी, डेट और गोल्ड शामिल होते हैं।
  • मल्टी असेट फंड लॉर्ज कैप, मिड कैप और स्माल कैप में निवेश करता है

मल्टी असेट जैसे असेट अलोकेशन प्रोडक्ट में डेट अलोकेशन का एक उद्देश्य रिटर्न की अस्थिरता में कमी लाना है। पिछले कुछ महीनों में इक्विटी वैल्यूएशन की री-रेटिंग ने इक्विटी अलोकेशन में कमी का संकेत दिया है। इसलिए जबकि डेट में रिटर्न कम है, डेट अलोकेशन अभी भी निवेशकों के रिटर्न को स्थिरता प्रदान करने के प्रयास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, खासकर जब वैल्यूएशन ज्यादा हो और रिटर्न की अस्थिरता अधिक हो।

इक्विटी में निवेश 65% से ऊपर होता है

एचडीएफसी म्यूचुअल फंड के सीनियर फंड मैनेजर अमित गणात्रा कहते हैं कि इक्विटी टैक्सैशन बेनेफिट को बनाए रखने के लिए कुल इक्विटी एक्सपोजर को 65% से ऊपर बनाए रखा जाता है। यह स्कीम कुल असेट के 10% से 30% के बीच डेट संसाधन में निवेश करती है। इसके अलावा, स्कीम सोने के साधनों में कुल संपत्ति का 10% से 30% के बीच निवेश करती है। वे कहते हैं कि इक्विटी के विपरीत, गोल्ड में मूल्यांकन मानकों (valuations parameters) के अनुसार असेट अलोकेशन का निर्णय करने के लिए असली आय (underlying earnings) नहीं होती है।

इसे देखते हुए, हम सोने के अलोकेशन पर मार्गदर्शन देने के लिए TIPS (ट्रेजरी इन्फ्लेशन प्रोटेक्टेड सिक्योरिटीज) के आधार पर सोने की कीमतों और वास्तविक ब्याज दरों के बीच संबंध पर विचार करते हैं।

इक्विटी अलोकेशन कम किया

अमित गणात्रा कहते हैं कि हमने इक्विटी अलोकेशन कम कर दिया है। हालांकि इक्विटी असेट अलोकेशन के संबंध में एक महत्वपूर्ण पॉइंट यह है कि यह बाजार वैल्यूएशन के साथ बदलता है, न कि केवल लेवल के साथ। मई 2021 तक इक्विटी अलोकेशन 55% के आसपास था। डेट एक्सपोजर 20% था और सोने से संबंधित साधनों के लिए अलोकेशन 11% था।

बाजार कैपिटलाइजेशन में निवेश करता है मल्टी असेट

वे कहते हैं कि एचडीएफसी मल्टी असेट फंड बाजार कैपिटलाइजेशन में निवेश करता है, लेकिन वर्तमान में कुछ वजहें हैं जिनके कारण यह लॉर्ज कैप की ओर झुकाव रखता है। पिछले कुछ वर्षों में हमने उद्योगों में बाजार हिस्सेदारी के कंसोलिडेशन को अच्छी तरह से देखा है। इससे बड़े पैमाने पर फायदे के साथ बड़े प्रभावशाली व्यवसायों का एक मजबूत निवेश तर्क (strong investment argument) पैदा हुआ है। हालांकि कुछ क्षेत्रों में प्रमुख व्यवसायों के रूप में मिड कैप और स्मॉल कैप भी हैं, पर लार्ज कैप की बात ही कुछ और है।

रूढ़िवादी निवेशकों को ध्यान में रखकर काम करता है

चूंकि एचडीएफसी मल्टी असेट फंड रूढ़िवादी निवेशकों को ध्यान में रखकर काम करता है। अतः यह फंड कम अस्थिरता के साथ स्थिर रिटर्न प्रदान करने के इरादे से भी लॉर्ज कैप पर भरोसा करता है। गणात्रा कहते हैं कि बैलेंस एडवांटेज फंड की तुलना में एक मल्टी असेट फंड का मूल्यांकन इन दो कैटेगरी के बीच मुख्य अंतर ओवरऑल असेट अलोकेशन के हिस्से के रूप में गोल्ड को शामिल करने का होता है।

बाजार में उतार-चढ़ाव की अवधि के दौरान इक्विटी कॉम्पोनेन्ट को हेज करने के लिए गोल्ड और डेरिवेटिव के उपयोग को शामिल करने से एचडीएफसी मल्टी असेट फंड एक निवेशक के लिए एक उपयुक्त निवेश अवसर बन जाता है, जो 3 असेट क्लास में निवेश करता है। इसमें इक्विटी, डेट और गोल्ड शामिल होते हैं।