• Hindi News
  • Business
  • National Savings Schemes Are Very Much Liked By The People, In The Last 10 Years The Money Deposited In Them Has Increased 3 Times.

सुरक्षित निवेश:लोगों को खूब रास आ रहीं नेशनल सेविंग्स स्कीम्स, बीते 10 सालों में इनमें जमा पैसा 3 गुना बढ़ा

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्र सरकार द्वारा कई चलाई जाने वाली नेशनल सेविंग्स स्कीम्स लोगों को खूब रास आ रही हैं। वित्त वर्ष 2020-21 में इन स्कीम्स में कुल जमा (डिपॉजिट) बढ़कर 9.37 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया है। वित्त वर्ष 2011-12 में ये आंकड़ा 2.22 लाख करोड़ रुपए का था। यानी 10 सालों में इसमें 3 गुना से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है।

2020-21 में आए 90 हजार करोड़ से ज्यादा रुपए
वित्त वर्ष 2020-21 में नेशनल सेविंग्स स्कीम्स में 90,694 करोड़ रुपए का डिपॉजिट बढ़ा। वहीं 2019-20 की बात करें तो इन स्कीम्स में 1.67 लाख करोड़ रुपए का निवेश बढ़ा था।

किस साल कितना डिपॉजिट बढ़ा

सालकुल डिपॉजिट (करोड़ रुपए में)
2011-122.02 लाख
2012-132.34 लाख
2013-142.50 लाख
2014-153.05 लाख
2015-164.46 लाख
2016-175.16 लाख
2017-185.93 लाख
2018-196.80 लाख
2019-208.47 लाख
2020-219.37 लाख

इसमें मिलता है ज्यादा ब्याज
नेशनल सेविंग्स स्कीम्स में फिक्स्ड डिपॉजिट यानी FD की तुलना में ज्यादा ब्याज मिलता है। इसके अलावा चूंकि ये योजनाएं केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाती हैं इसीलिए इन स्कीम्स में निवेश किया गया पैसा भी पूरी तरह सुरक्षित रहता है।

मध्यम और गरीब लोगों के लिए चलाई जाती हैं स्कीम्स
दरअसल, अधिकांश छोटी बचत योजनाएं सीनियर सिटीजंस और गरीब मध्य वर्ग के लिए चलाई जाती हैं। ये स्कीम्स इसलिए लोकप्रिय हैं क्योंकि यह एक गारंटी रिटर्न देती हैं और साथ ही इनकी सुरक्षा भी ज्यादा रहती है। मध्यम और कम आय वाले लोगों का ज्यादातर निवेश इसी में होता है।

पैसा जुटाने के लिए आसान तरीका हैं छोटी बचत योजनाएं
सरकार के लिए छोटी बचत योजनाएं पैसा जुटाने का आसान तरीका हैं। वित्तीय घाटे की भरपाई के लिए सरकार छोटी बचत योजनाओं से ही उधार लेती है।