निवेश का विकल्प:NCD पर मिलता है FD से ज्यादा ब्याज, देखिए 7 कंपनियां कितना देती हैं इंटरेस्ट

मुंबई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अगर आप बैंक या कंपनियों की फिक्स्ड डिपॉजिट से बेहतर कमाई चाहते हैं तो आप नॉन कनवर्टिबल डिबेंचर (NCD) का विकल्प अपना सकते हैं। इन पर 8% से ज्यादा ब्याज मिलता है।

सात कंपनियों में अच्छा ब्याज

इस समय सात ऐसी अच्छी कंपनियां हैं, जिनकी NCD लिस्टेड है और स्टॉक एक्सचेंज पर कारोबार कर रही है। इसमें सरकारी और निजी दोनों कंपनियां हैं। NCD एक तरह के फिक्स्ड इनकम का निवेश वाला साधन होता है। इसे कॉर्पोरेट की ओर से जारी किया जाता है। यह कुछ तय समय के लिए ही जारी किए जाते हैं। इनका ब्याज छमाही या फिर सालाना या फिर 3 महीने में भी मिलता है। किसी-किसी में यह मैच्योरिटी यानी जब तक इसकी अवधि होती है, तब ब्याज मिलता है।

फेस वैल्यू एक हजार रुपए

इनमें से अधिकतर का फेस वैल्यू एक हजार रुपए होता है। ये स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होते हैं और इक्विटी शेयर की तरह कारोबार करते हैं। ये उन निवेशकों के लिए सही होते हैं जो बैंक या कॉर्पोरेट FD की तुलना में किसी दूसरे विकल्प की तलाश में होते हैं।

NTPC के NCD पर 8.49% ब्याज

NTPC के NCD की बात करें तो इसकी क्रेडिट रेटिंग AAA की है। इस पर 8.49% का सालाना ब्याज मिलता है। ब्याज साल में एक बार 25 मार्च को ही दिया जाता है। NTPC इलेक्ट्रिसिटी और इससे जुड़ी गतिविधियों के सेक्टर में शामिल है। इसकी NCD मार्च 2015 में जारी की गई थी।

टाटा कैपिटल की रेटिंग AAA

टाटा कैपिटल फाइनेंशियल की भी रेटिंग AAA की है। यह सालाना 8.90% का ब्याज देती है। यह हर साल 27 सितंबर को निवेशकों को ब्याज देती है। यह टाटा ग्रुप की कंपनी है जो कॉमर्शियल फाइनेंस, वेल्थ मैनेजमेंट, कंज्यूमर लोन आदि का कारोबार करती है। महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप भी NCD जारी करता है। इसकी दूसरी कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंस को क्रिसिल ने AA की रेटिंग दी है। इसकी NCD पर 7.05% का ब्याज मिलता है जो हर साल एक अप्रैल को दिया जाता है।

JM फाइनेंशियल की NCD पर 9.11% का ब्याज

JM फाइनेंशियल की NCD पर निवेशकों को 9.11% का ब्याज हर साल मिलता है। यह ब्याज हर महीने में दिया जाता है। यह डिपॉजिट नहीं लेने वाली कंपनी है जिसे AA की रेटिंग मिली हुई है। इंडियाबुल्स भी इसी तरह की NCD जारी करती है। इसे AA की रेटिंग प्राप्त है। यह सालाना 9.15% का ब्याज देती है। हर साल 26 सितंबर को इसका ब्याज निवेशकों के खाते में क्रेडिट होता है। यह हाउसिंग फाइनेंस सेक्टर की कंपनी है।

इंडिया इंफोलाइन का 10% का ब्याज

इंडिया इंफोलाइन अपनी NCD पर 10% का ब्याज देती है। इसकी रेटिंग एए की है। यह ग्रुप तमाम सेक्टर में है। यह गोल्ड लोन, होम लोन, बिजनेल लोन और माइक्रोफाइनेंस आदि के लिए कर्ज देती है। इसे क्रिसिल ने एए की रेटिंग दी ही। NCD पर मिलने वाला ब्याज टैक्स के दायरे में आता है। जानकारों के मुताबिक कम से कम 3 साल के निवेश का लक्ष्य रखना चाहिए। इसका फायदा यह होता है कि आपको लांग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगता है जो कम होता है।

शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन टैक्स ज्यादा लगता है। हालांकि आप अगर मैच्योरिटी से पहले या मैच्योरिटी पर इसे एक्सचेंज पर बेचते हैं तो कैपिटल गेन टैक्स एक समान ही लगता है।