• Hindi News
  • Business
  • Puneet Goenka | NCLT Directs Zee Entertainment Board To Conduct EGM; Puneet Goenka May Be Dropped

इसी हफ्ते में होगा फैसला:NCLT ने जी एंटरटेनमेंट को EGM बुलाने का आदेश दिया, पुनीत गोयनका की हो सकती है छुट्‌टी

मुंबई4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आखिरकार जी एंटरटेनमेंट को EGM बुलाना ही होगा। जी को इसी हफ्ते में मीटिंग के लिए बताना होगा। अगर शेयरधारकों ने इन्वेस्को का साथ दिया तो जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइज के MD पुनीत गोयनका की छुट्‌टी हो सकती है।

3 अक्टूबर से पहले मीटिंग की घोषणा करनी होगी

NCLT ने जी एंटरटेनमेंट को आदेश दिया है कि वह 3 अक्टूबर से पहले एक्स्ट्रा आर्डिनरी जनरल मीटिंग (EGM) के बारे में जानकारी दे। NCLT में इस मैटर की सुनवाई 4 अक्टूबर को होनी है। उससे पहले ही NCLT ने यह फैसला दे दिया है। अब (EGM) में इन्वेस्को पुनीत गोयनका को हटाने की मांग करेगी। साथ ही नए बोर्ड सदस्यों को नियुक्त करने की कोशिश करेगी।

पुनीत गोयनका की हो सकती है छुट्‌टी

कानूनी जानकार कहते हैं कि अगर शेयरधारकों ने इन्वेस्को का साथ दिया तो पुनीत गोयनका की छुट्‌टी इस (EGM) में तय है। अगर ऐसा हो जाता है तो सोनी पिक्चर्स के साथ जी की डील भी अटक जाएगी। हालांकि नया बोर्ड चाहे तो डील कर भी सकता है या नहीं भी कर सकता है, यह फैसला नए बोर्ड को लेना होगा। उधर जी एंटरटेनमेंट के शेयर में तीन दिनों से लगातार गिरावट जारी है। आज शेयर 302 रुपए पर बंद हुआ, जो पिछले हफ्ते 357 रुपए तक चला गया था।

बुधवार को मामला दायर हुआ था

जी एंटरटेनमेंट में सबसे बड़े निवेशक इन्वेस्को ने बुधवार को (NCLT) में मामला दायर किया था। NCLT की मुंबई बेंच में इस केस को सुनवाई के लिए लिस्ट किया गया है। इन्वेस्को की ओर से ध्रुव लीलाधर एंड कंपनी इस मामले को देख रही है। जबकि जी एंटरटेनमेंट की ओर से ट्राइलीगल मामले को देख रही है। नियम के अनुसार, अगर कोई कंपनी किसी कंपनी में 10% से ज्यादा की निवेशक है और वह EGM बुलाने के लिए नोटिस देती है, तो कंपनी को 3 हफ्ते के अंदर EGM बुलानी होती है।

इन्वेस्को की 18% के करीब हिस्सेदारी है

जी एंटरटेनमेंट में इन्वेस्को की 18% के करीब हिस्सेदारी है। इन्वेस्को ने कॉर्पोरेट गवर्नेंस का मुद्दा उठाते हुए EGM बुलाने की मांग की थी। इन्वेस्को ने पहले 11 सितंबर को EGM के लिए नोटिस दिया था। जी को यह नोटिस 12 सितंबर को मिला था। इसके अनुसार जी को 2 अक्टूबर तक EGM बुलाने की घोषणा करने का समय है। यदि जी एंटरटेनमेंट EGM की तारीख घोषित करने में फेल होती है तो इन्वेस्को खुद मीटिंग की तारीख घोषित कर सकती है।

पुनीत को हटाने के लिए पूछ सकती है इन्वेस्को

EGM में इन्वेस्को शेयरधारकों से यह पूछ सकती है कि वह जी एंटरटेनमेंट के MD पुनीत गोयनका को हटाने के लिए वोट करें। साथ ही 6 नए स्वतंत्र निदेशकों को जी के बोर्ड पर नियुक्त करने के लिए वोट करें।

दो स्वतंत्र निदेशकों ने दिया था इस्तीफा

इन्वेस्को ने जिस दिन EGM बुलाने का नोटिस दिया था, उसी दिन जी एंटरटेनमेंट के दो स्वतंत्र निदेशकों ने इस्तीफा दे दिया था। 22 सितंबर को जी के बोर्ड ने यह कहा कि वह सोनी पिक्चर्स के साथ मर्जर कर रहा है। इस मर्जर को अगले 90 दिनों में पूरा किया जाएगा। तब तक मर्जर से जुड़े प्रोसीजर पर काम होगा।

विदेशी निवेशकों के पास 67.72% हिस्सा

जी एंटरटेनमेंट में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 4.77% जबकि फंड हाउसेज और दूसरे निवेशकों की हिस्सेदारी 95.23% है। इनमें म्यूचुअल फंड के पास 3.77%, विदेशी निवेशकों के पास 67.72% और LIC के पास 4.89% हिस्सा है। सूत्रों के मुताबिक, ग्लोबल असेट मैनेजमेंट कंपनी होने के नाते इन्वेस्को, विदेशी निवेशकों को अपने पक्ष में मोड़ सकती है। ऐसे में डील में पेंच फंस सकता है।

2019 में इन्वेस्को ने खरीदी थी हिस्सेदारी

जुलाई 2019 में इन्वेस्को ने कंपनी में 11% हिस्सेदारी खरीदने के लिए जी एंटरटेनमेंट के प्रमोटर्स के साथ डील की थी। यह सौदा 400 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से 4,224 करोड़ रुपए में हुआ था। सूत्रों के मुताबिक इन्वेस्को की बगावत के बाद ही जी ग्रुप के फाउंडर सुभाष चंद्रा ने सोनी के साथ संपर्क साधा।

खबरें और भी हैं...