• Hindi News
  • Business
  • Nippon Mutual Fund Close To Kotak, ICICI Prudential HDFC, SBI Mutual Fund, Mutual Fund AUM, Mutual Fund SIP AMFI

HDFC फंड का AUM 10 हजार करोड़ घटा:कोटक के करीब पहुंचा निप्पोन म्यूचुअल फंड, ICICI प्रूडेंशियल का 10 हजार करोड़ बढ़ा AUM

मुंबई9 महीने पहले
  • कुल 43 फंड हाउस का AUM मार्च में 32.10 लाख करोड़ रुपए रहा है
  • 5 लाख करोड़ रुपए के साथ एसबीआई सबसे बड़ा फंड हाउस है

जनवरी की तुलना में टॉप 8 म्यूचुअल फंड में HDFC फंड को जबरदस्त झटका लगा है। इसका असेट अंडर मैनेजमेंट यानी AUM इस दौरान 10 हजार करोड़ रुपए घट गया है। यह तीसरे नंबर पर आ गया है। जनवरी में इसका AUM 4.20 लाख करोड़ रुपए था जो मार्च में 4.09 लाख करोड़ रुपए हो गया है।

कुल 43 म्यूचुअल फंड कंपनियां हैं

देश में कुल 43 म्यूचुअल फंड कंपनियां हैं। इनका कुल असेट अंडर मैनेजमेंट मार्च में 32.10 लाख करोड़ रुपए रहा है। असेट अंडर मैनेजमेंट उसे कहते हैं जो इन कंपनियों के पास निवेशकों का पैसा निवेश के लिए आता है। टॉप म्यूचुअल फंड कंपनियों में एसबीआई म्यूचुअल फंड का AUM जनवरी में 4.99 लाख करोड़ रुपए था जो मार्च में 5.07 लाख करोड़ रुपए हो गया है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल दूसरे नंबर पर है। इसका AUM इसी दौरान 4.09 लाख करोड़ से 11 हजार करोड़ रुपए बढ़ कर 4.20 लाख करोड़ रुपए हो गया है।

बिरला का AUM 2.71 लाख करोड़ रुपए

बिरला सनलाइफ म्यचुअल फंड का AUM जनवरी में 2.55 लाख करोड़ रुपए था जो मार्च में बढ़ कर 2.71 लाख करोड़ रुपए हो गया है। जबकि कोटक का AUM इसी दौरान 2 हजार करोड़ घट कर 2.36 लाख करोड़ रुपए हो गया है। निप्पोन असेट मैनेजमेंट का AUM 2.27 लाख करोड़ से बढ़ कर 2.31 लाख करोड़ रुपए हो गया है। एक्सिस म्यूचुअल फंड का AUM जनवरी में 1.95 लाख करोड़ रुपए था जो मार्च में 1.97 लाख करोड़ रुपए रहा है।

यूटीआई आठवें नंबर पर

यूटीआई अभी भी आठवें नंबर पर है। जबकि आईडीएफसी म्यूचुअल फंड 9 वें नंबर पर है। 4 लाख करोड़ के क्लब में टॉप के 3 फंड हाउस आ गए हैं। देश में 3 फंड हाउस 2 लाख करोड़ से ज्यादा के AUM वाले हैं। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एंफी) के मुताबिक, जनवरी में कुल AUM 31.84 लाख करोड़ और फरवरी 2020 में यह 28.29 लाख करोड़ रुपए था। फरवरी 2021 में फंड हाउसों ने कुल 6 लाख करोड़ रुपए की रकम जुटाई और निवेशकों ने 5.97 लाख करोड़ रुपए निकाल लिए। जबकि फरवरी 2020 में 8.82 लाख करोड़ रुपए की रकम जुटाई थी और निवेशकों ने 8.84 लाख करोड़ रुपए निकाले थे।

एसआईपी में आई 4 पर्सेंट की गिरावट

एंफी के मुताबिक, वित्त वर्ष 2020-21 में म्यूचुअल फंड का एसआईपी 4 पर्सेंट घट कर 96 हजार करोड़ रुपए पर रह गया है। 2019-20 में यह 1 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा था। मासिक आधार पर देखें तो 8,500 करोड़ रुपए म्यूचुअल फंडों के पास एसआईपी के रूप में रकम आती है। एसआईपी एक ऐसा तरीका है, जिसके जरिए आप एक तय रकम हर महीने म्यूचुअल फंड में लगा सकते हैं।

3 फंड हाउस ने लाए आईपीओ

अब तक कुल 3 म्यूचुअल फंड हाउस आईपीओ लाए हैं। इसमें सबसे पहले निप्पोन ने लाया था, उसके बाद एचडीएफसी म्यूचुअल फंड ने लाया था। यूटीआई ने पिछले साल आईपीओ लाया था। इस साल एसबीआई म्यूचुअल फंड, बिरला म्यूचुअल फंड और एक दो फंड हाउस आईपीओ लाने की तैयारी कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...