पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निरमा की सीमेंट कंपनी लाएगी आईपीओ:नुवोको विस्टास कॉर्प जुटाएगी 5,000 करोड़ रुपए, 14 साल बाद पहली सीमेंट कंपनी होगी लिस्ट

मुंबई5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आईपीओ की रकम से कंपनी कर्ज चुकाएगी।
2019-20 में नुवोको का रेवेन्यू 6,793 करोड़ रुपए रहा है। जबकि 2018-19 में यह 7,053 करोड़ रुपए था। इसका शुद्ध लाभ 249 करोड़ रुपए का रहा है - Dainik Bhaskar
आईपीओ की रकम से कंपनी कर्ज चुकाएगी। 2019-20 में नुवोको का रेवेन्यू 6,793 करोड़ रुपए रहा है। जबकि 2018-19 में यह 7,053 करोड़ रुपए था। इसका शुद्ध लाभ 249 करोड़ रुपए का रहा है
  • कंपनी जून अंतिम या जुलाई में आईपीओ ला सकती है
  • कंपनी का वैल्यूएशन 40 हजार करोड़ रुपए है

निरमा कंपनी की सीमेंट इकाई नुवोको विस्टास कॉर्पोरेशन आईपीओ की तैयारी कर रही है। कंपनी इसके जरिए 5 हजार करोड़ रुपए जुटाएगी। उसने सेबी के पास इस संबंध में मसौदा यानी डीआरएचपी फाइल किया है। आईपीओ से जुटाई गई रकम का उपयोग कंपनी कर्ज चुकाने के लिए करेगी। कंपनी जून अंतिम या जुलाई में इश्यू ला सकती है।

घर-घर में जाना पहचान ब्रांड है निरमा

निरमा देश में घर-घर में एक जाना पहचाना ब्रांड है। अरबपति उद्योगपति करसनभाई पटेल ने निरमा ग्रुप की शुरुआत की थी। यह एक आइकॉनिक ब्रांड हुआ करता था। देश के स्टॉक एक्सचेंज में इसे 2012 में डिलिस्ट करा दिया गया था। अब एक बार फिर से इसी ग्रुप की कंपनी आईपीओ की तैयारी कर रही है। स्टॉक एक्सचेंज में 14 साल बाद कोई सीमेंट कंपनी लिस्ट हो रही है।

2007 में अंतिम कंपनी लिस्ट हुई थी

अंतिम सीमेंट कंपनी बुरनपुर सीमेंट नवंबर 2007 में लिस्ट हुई थी। इसने 26 करोड़ रुपए उस समय जुटाया था। उसी साल दो और कंपनियां सीमेंट की लिस्ट हुई थीं। इसमें बिनानी और बराक वैली थीं। बराक वैली ने 23 करोड़ और बिनानी ने 153 करोड़ रुपए जुटाया था। नुवोको सीमेंट सीमेंट सेक्टर में विलय और अधिग्रहण की योजना में काफी तेजी पिछले सालों में लाई है। इसने 2016 में लाफार्ज होल्सिम की असेट खरीदी थी। इसके लिए इसने 1.4 अरब डॉलर की रकम चुकाई थी। फरवरी 2020 में इसने 77 करोड़ डॉलर में इमामी ग्रुप की सीमेंट की परिसंपत्तियों को खरीदा था।

प्राइमरी कंपोनेंट से 1500 करोड़ जुटाएगी

डीआरएचपी के मुताबिक, प्राइमरी कंपोनेंट के रूप में यह 1,500 करोड़ रुपए जुटाएगी, जबकि सेकेंडरी कंपोनेंट के रूप में 3,500 करोड़ रुपए जुटाएगी। नुवोको की सालाना क्षमता 2 करोड टन की है। इसकी वित्तीय वर्ष 2019-20 की रिपोर्ट के मुताबिक, इसके पास 7 सीमेंट प्लांट हैं और 60 रेडी मिक्स कांक्रीट प्लांट हैं। इसका ज्यादा कारोबार पूर्वी और उत्तरी भारत में है। यह अल्ट्राटेक, डालमिया भारत और अन्य कंपनियों की प्रतिद्वंदी है।

40 हजार करोड़ रुपए है वैल्यूएशन

कंपनी का वैल्यूएशन इस समय 40 हजार करोड़ रुपए का है। चूंकि लंबे समय बाद सीमेंट कंपनी का आईपीओ आ रहा है, इसलिए इसे अच्छा रिस्पांस मिल सकता है। हालांकि बाजार में पहले से ही आधा दर्जन सीमेंट कंपनियां लिस्ट हैं। नुवोको पर करीबन 4,463 करोड़ रुपए का कर्ज है। इसके आईपीओ के मर्चेंट बैंकर के रूप में आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, एक्सिस कैपिटल, जेपी मोर्गन, एचएसबीसी सिक्योरिटीज और एसबीआई कैपिटल हैं।

हिरेन पटेल चेयरमैन हैं

करसन भाई पटेल के बेटे हिरेन पटेल इस समय नुवोको के चेयरमैन हैं। वे निरमा ग्रुप से 1998 में जुड़े थे। 2006 में वे एमडी बने थे। 2019-20 में नुवोको का रेवेन्यू 6,793 करोड़ रुपए रहा है। जबकि 2018-19 में यह 7,053 करोड़ रुपए था। इसका शुद्ध लाभ 249 करोड़ रुपए का रहा है। इसके पास बिजनेस के 3 वर्टिकल हैं। इसमें सीमेंट, रेडी मिक्स कांक्रीट और मॉडर्न बिल्डिंग मटेरियल्स हैं।

खबरें और भी हैं...