नेटवर्क बढ़ाने की तैयारी:पांच साल में 1 लाख टू-व्हीलर चार्जिग पॉइंट लगाएगी ओला इलेक्ट्रिक, 14 हजार करोड़ रुपए खर्च करेगी कंपनी

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • देश के 400 शहरों में लगाए जाएंगे यह चार्जिंग पॉइंट
  • पहले साल में 100 शहरों में 5 हजार पॉइंट लगाने का लक्ष्य

ओला इलेक्ट्रिक मोबिलिटी दुनिया का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक स्कूटर (ई-स्कूटर) मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने जा रही है। अब कंपनी ने अगले पांच साल में टू-व्हीलर चार्जिंग नेटवर्क बनाने पर 2 बिलियन डॉलर करीब 14.9 हजार करोड़ रुपए खर्च करने की योजना बनाई है। ओला यह चार्जिंग नेटवर्क अपने पार्टनर्स के साथ तैयार करेगी।

ग्राहकों को सुपर-फास्ट चार्जिंग सॉल्यूशन देगी कंपनी

कंपनी का कहना है कि ओला हाइपरचार्जर नेटवर्क के जरिए अपने इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर ग्राहकों को सुपर-फास्ट चार्जिंग सॉल्यूशन प्रदान करेगी। यह चार्जिंग नेटवर्क जल्द ही लॉन्च किया जाएगा। ग्राहकों को स्कूटर के साथ हाई-स्पीड ओला हाइपरचार्जर और होम चार्जर दिया जाएगा।

400 शहरों में लगाए जाएंगे चार्जिंग पॉइंट

ओला का कहना है कि कंपनी अगले पांच साल में देश के 400 शहरों में 1 लाख चार्जिंग पॉइंट लगाएगी। पहले साल में 100 शहरों में 5000 चार्जिंग पॉइंट लगाए जाएंगे। ओला का इलेक्ट्रिक स्कूटर मात्र 18 मिनट में 50% चार्ज हो जाएगा। इस चार्जिंग से स्कूटर 75 किलोमीटर तक का सफर कर सकेगा। ओला के चार्जिंग पॉइंट बिजनेस डिस्ट्रिक्ट के स्टैंडअलोन टावर्स के साथ मॉल्स, आईटी पार्क, ऑफिस कॉम्प्लैक्स, कैफे और अन्य प्रसिद्ध स्थानों पर मिलेंगे।

होम चार्जर के इंस्टॉलेशन की आवश्यकता नहीं

कंपनी ने बताया कि स्कूटर के साथ दिए जाने वाले होम चार्जर के इंस्टॉलेशन की आवश्यकता नहीं होगी। यह चार्जर ग्राहकों को घर पर स्कूटर चार्ज करने की सुविधा देगा। इस चार्जर को सामान्य वॉल शॉकेट के जरिए इस्तेमाल किया जा सकेगा। ओला तमिलनाडु के कृष्णागिरी जिले में 500 एकड़ क्षेत्र में स्कूटर फैक्ट्री लगा रही है। इस फैक्ट्री के जून तक तैयार होने की उम्मीद जताई जा रही है। इस फैक्ट्री में हर साल 10 लाख इलेक्ट्रिक स्कूटर तैयार किए जाएंगे।

मोबिलिटी का भविष्य है इलेक्ट्रिक

गुरुवार को वर्चुअल प्रेस मीट में ओला के चेयरमैन और ग्रुप CEO भावेश अग्रवाल ने कहा कि इलेक्ट्रिक मोबिलिटी का भविष्य है। हम ग्राहकों को फिर से इलेक्ट्रिक व्हीकल का मालिक बनने का अनुभव देने जा रहे हैं। हमारी इस योजना में बड़ा चार्जिंग नेटवर्क काफी अहम होगा। दुनिया का सबसे बड़ा चार्जिंग नेटवर्क तैयार करके हम इलेक्ट्रिक व्हीकल की स्वीकार्यता को बढ़ा सकते हैं। उन्होंने कहा कि ग्राहक ओला इलेक्ट्रिक ऐप के जरिए चार्जिंग प्रोसेस की रियल टाइम मॉनिटरिंग कर सकते हैं।