पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पारले बिस्कुट के खिलाफ कोर्ट में मामला:ओरियो ने बिस्कुट के डिजाइन पर विरोध जताया, 12 अप्रैल को अगली सुनवाई

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 1928 में हाउस ऑफ पारले से हुई थी यह कंपनी शुरू हुई थी

ओरियो बिस्कुट ने पारले बिस्कुट के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में मामला दर्ज कराया है। यह मामला बिस्कुट की डिजाइन को लेकर है। ओरियो ने दावा किया है कि पारले के फैबियो बिस्कुट की डिजाइन बिलकुल उसके ओरियो जैसी है। भारत में बिस्कुट की डिजाइन की कॉपी को लेकर कई मामले पहले से भी कोर्ट में अलग-अलग कंपनियों के हैं।

दिल्ली हाई कोर्ट में होगी सुनवाई
इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने 12 अप्रैल को सुनवाई करने का फैसला किया है। अमेरिका की मोंडलीज इंटरनेशनल की यूनिट इंटरकांटिनेंटल ग्रेट ब्रांड्स ने ट्रेडमार्क के उल्लंघन का मामला दर्ज कराया है। 9 फरवरी को इस मामले में सुनवाई हुई। हाईकोर्ट ने ओरियो के वकील की जल्दी सुनवाई की अपील को खारिज कर दिया था और अगली सुनवाई अप्रैल में ही करने की बात कही।

10 साल पहले लांच हुआ था ओरियो
मोंडलीज ने भारत में ओरियो को करीबन 10 साल पहले लांच किया था। जबकि पारले ने पिछले साल जनवरी में फैबियो प्रोडक्ट को लांच किया था। ओरियो ने अब तक इस ब्रांड के तमाम वेरिएंट को लांच किया है। इसमें चोको क्रीम, ओरियो वैनिला आरेंज, क्रीम और स्ट्राबेरी है।

पारले की प्रीमियम सेगमेंट में इंट्री

दरअसल देश में पारले जी एकदम सस्ते और ग्लूकोज बिस्कुट के लिए जाना जाता है। गांवों में इसकी बहुत बड़ी हिस्सेदारी है। हालांकि पिछले 10-15 सालों से शहरी एरिया में इसे प्रीमियम बिस्कुट से टक्कर मिल रही है। खासकर ब्रिटानिया, मोंडलीज, आईटीसी जैसी कंपनियों ने शहरी इलाकों में प्रीमियम बिस्कुट पर फोकस किया है। यही कारण है कि पारले ने भी इस प्रीमियम में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिए इस तरह के महंगे बिस्कुट के सेगमेंट में कदम रखा है।

ब्रिटानिया ने फ्यूचर कंज्यूमर के खिलाफ कोर्ट में मामला दर्ज कराया था
पिछले साल ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज ने फ्यूचर कंज्यूमर के खिलाफ कोर्ट में केस फाइल किया था। ब्रिटानिया ने आरोप लगाया है कि फ्यूचर कंज्यूमर उसके तमाम पैकेजिंग की कॉपी कर रहा है। ब्रिटानिया ने फ्यूचर कंज्यूमर के गुड टाइम का भी उपयोग करने पर आपत्ति जताई थी। आईटीसी के खिलाफ भी ब्रिटानिया ने ऐसे ही मामले दर्ज कराए हैं।

1928 में हाउस ऑफ पारले की शुरुआत
1928 में ‘हाउस ऑफ पारले’ की शुरुआत की गई थी। मालिक मोहन दयाल चौहान ने 18 साल की उम्र में गारमेंट बिजनेस के तौर पर अपना करियर शुरू किया था और आगे उन्होंने कई बिजनेस को नया स्वरूप प्रदान किया। आज देश में पारले-जी के पास 130 से ज्यादा फैक्ट्रियां हैं और लगभग 50 लाख रिटेल स्टोर्स हैं। हर महीने पारले-जी 1 अरब से ज्यादा पैकेट बिस्कुट का उत्पादन करती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

और पढ़ें