• Hindi News
  • Business
  • Paytm IPO In July, Paytm IPO, IPO Market India, Biggest IPO India, Biggest IPO Paytm, Paytm Shares

बड़े IPO की तैयारी:पेटीएम अगले हफ्ते सेबी के पास जमा करा सकता है मसौदा, 18 हजार करोड़ जुटाने की योजना

मुंबई5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 12 जुलाई को एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी जनरल मीटिंग होने वाली है
  • इसी दिन कंपनी सेबी के पास मसौदा जमा करा सकती है

पेटीएम की पैरेंट कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड अगले हफ्ते IPO के लिए सेबी के पास मसौदा जमा करा सकती है। खबर है कि 12 जुलाई से पहले कंपनी यह काम कर सकती है। IPO लाने के लिए सेबी की मंजूरी जरूरी होती है।

17-18 हजार करोड़ जुटाने की योजना

कंपनी इस IPO से 17-18 हजार करोड़ रुपए जुटा सकती है। कंपनी पैसे को नए शेयरों को जारी कर और साथ ही सेकेंडरी ऑफर के जरिए जुटाएगी। इसका वैल्यूएशन 1.85 लाख करोड़ रुपए के करीब माना जा रहा है। कंपनी पहले चरण में कम पैसा जुटा सकती है और बाद में बाकी पैसा जुटा सकती है। कंपनी शेयरधारकों की एक्स्ट्रा आर्डिननरी जनरल मीटिंग 12 जुलाई को है।

चीन और जापान की कंपनियों का निवेश

पेटीएम में चीन की अलीबाबा और जापान के सॉफ्ट बैंक का निवेश है। यह दोनों भी इस IPO में 12000 करोड़ रुपए के अपने शेयर बेच सकते हैं। पेटीएम ने इसके लिए जेपी मोर्गन, मोर्गन स्टेनली, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, गोल्डमैन, एक्सिस कैपिटल, सिटी और एचडीएफसी बैंक को बैंकर्स के रूप में नियुक्त किया है।

2,802 करोड़ का रेवेन्यू

पेटीएम की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021 में इसका रेवेन्यू 2,802 करोड़ रुपए रहा है। पेटीएम की मालिक वन97 कम्युनिकेशन ने यह जानकारी सालाना रिपोर्ट में दी है। कंपनी ने कहा है कि उसका घाटा इसी दौरान 1,701 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले यह 2,942 करोड़ रुपए था। यानी इसमें 42% की कमी आई है।

जून में बोर्ड ने दी थी मंजूरी

जून में इसके बोर्ड ने इसके IPO को मंजूरी दी थी। भारत में यह सबसे ज्यादा मूल्यवान स्टार्टअप कंपनी है। कंपनी अपना घाटा कम करने के लिए लगातार डिस्काउंट, कैश बैक और प्रमोशन पर खर्च कम कर रही है। इस वजह से इसका घाटा कम हो रहा है।

प्रमोशनल खर्च में आई कमी

वित्त वर्ष 2021 में इसने प्रमोशनल खर्च में 61% की कमी की है जो 532 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले यह 1,397 करोड़ रुपए था। इसका कुल खर्च भी वित्त वर्ष 2021 में 4,783 करोड़ रुपए था जो कि एक साल पहले 6,138 करोड़ रुपए था। इन आंकड़ों से पता चल रहा है कि कंपनी लगातार अपना घाटा कम करने की कोशिश कर रही है।

35 करोड़ ग्राहक हैं

पेटीएम के पास कुल 35 करोड़ ग्राहक रहे हैं। सालाना रिपोर्ट में इसने कहा है कि इसका टिकट, कांटेस्ट और फास्टैग से संबंधित खर्चों में कमी आई है। वित्त वर्ष 2021 में इसका इन सभी पर 172 करोड़ रुपए खर्च रहा है। एक साल पहले यह 248 करोड़ रुपए था। इसका लीगल फीस और प्रोफेशनल खर्च 198 करोड़ रुपए रहा है।

कोल इंडिया सबसे बड़ा IPO

अभी तक देश का सबसे बड़ा IPO कोल इंडिया के नाम रहा है। इसने साल 2010 में 15,200 करोड़ रुपए जुटाया था। उसके बाद से कोई भी कंपनी इस तरह का बड़ा IPO नहीं लाई है। हालांकि उसके पहले रिलायंस पावर ने 11 हजार करोड़ रुपए का, डीएलएफ ने 9 हजार करोड़ रुपए का, पिछले साल SBI पेमेंट एंड कार्ड ने 10 हजार करोड़ रुपए का IPO लाया था।