• Hindi News
  • Business
  • Paytm Ipo, Initial Public Offering , Paytm, Paytm Initial Public , Paytm Anchor Investor, Paytm Loss

पेटीएम ने कहा:भविष्य में फायदा कमाएंगे, इसकी गारंटी नहीं, एंकर निवेशकों से जुटाएगी 8,250 करोड़ रुपए

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पेटीएम ने कहा है कि वह भविष्य में फायदा कमाएगी, इसकी कोई गारंटी नहीं दे सकती है। वह लगातार घाटा देने वाली कंपनी है और आगे भी यह जारी रह सकता है। कंपनी एंकर निवेशकों ने 8,250 करोड रुपए जुटाएगी।

पेटीएम का IPO 8 नवंबर से खुलेगा

पेटीएम का IPO 8 नवंबर से खुलेगा। इसके पहले एंकर निवेशकों से 8,250 करोड़ रुपए कंपनी जुटाएगी। एंकर निवेशकों के लिए 3 नवंबर को यह इश्यू खुला रहेगा। भारतीय बाजार में अब तक का सबसे बड़ा 18,300 करोड़ रुपए का IPO ला रही पेटीएम का IPO 10 नवंबर को बंद होगा।

लगातार घाटा देने वाली कंपनी

कंपनी ने सेबी के पास जमा अर्जी में कहा है कि वह लगातार तीन साल से घाटे में है। उसका घाटा वित्त वर्ष 2019 में 4,230 करोड़ रुपए था जो कि 2020 में 2,942 करोड़ रुपए और 2021 में 1,701 करोड़ रुपए रहा। जून 2021 तिमाही में उसका घाटा 381 करोड़ रुपए रहा। रेवेन्यू की बात करें तो 31 मार्च 2019 को 3,579 करोड़ रुपए था जो 2020 मार्च में 3,540 और 2021 में 3,186 करोड़ रुपए था।

भविष्य में भी घाटा दे सकती है कंपनी

कंपनी ने कहा कि हमें उम्मीद है कि भविष्य में हम लगातार घाटा दे सकते हैं और हम फायदे को हासिल नहीं कर सकते। कंपनी ने अर्जी में कहा कि हमारे प्लेटफॉर्म से यह उम्मीद करना कि भविष्य में फायदा मिलेगा, यह बहुत मुश्किल है। हमारी उम्मीद है कि हमारा खर्च बढ़ता जाएगा। कंपनी ने कहा कि हम यह नहीं सुनिश्चित कर सकते कि आगे हम घाटा नहीं देंगे। हमारी सब्सिडियरी और एसोसिएट भी घाटे में ही हैं। हमें हो सकता है कि भविष्य में कर्ज और शेयर बेचकर सपोर्ट लेना पड़े।

8,300 करोड़ के नए शेयर जारी होंगे

कंपनी 18,300 करोड़ रुपए में से नए शेयर के जरिए 8,300 करोड़ रुपए जुटाएगी। जबकि ऑफर फॉर सेल के जरिए 10 हजार करोड़ रुपए जुटाएगी। इसका प्राइस 2,080 से 2,150 रुपए तय किया गया है। पेटीएम भारत की दूसरी सबसे मूल्यवान कंपनी है। इसका वैल्यूएशन 16 अरब डॉलर है। हालांकि IPO में इसका वैल्यूएशन 20 अरब डॉलर होने की उम्मीद है। इस आधार पर कंपनी का मार्केट कैप 1.48 लाख करोड़ रुपए होगा।

33.7 करोड़ ग्राहक

जून 2021 तक कंपनी के पास 33.7 करोड़ ग्राहक थे। इसका दावा है कि इसके पास 2.18 करोड़ रजिस्टर्ड मर्चेंट्स हैं। कंपनी का रेवेन्यू 46% बढ़कर 948 करोड़ रुपए जून की तिमाही में रहा। एक साल पहले यह 649 करोड़ रुपए था। कंपनी को जून तिमाही में 382 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। फिलहाल पेटीएम उधारी भी देती है। इसने 2.84 मिलियन लोन का वितरण किया है।