• Hindi News
  • Business
  • Petrol Diesel Price; Which State Has Highest Petrol Price In India? Rajasthan Madhya Pradesh Chhattisgarh Gujarat Andaman

पड़ोसी राज्यों की तुलना में MP में पेट्रोल सबसे महंगा:पेट्रोल की औसत कीमत 98.96 रुपए पर पहुंची, बाकी राज्यों में 90 रुपए भी नहीं

नई दिल्ली8 महीने पहले

देश में सबसे महंगा पेट्रोल-डीजल मध्यप्रदेश (MP) और राजस्थान में बिक रहा है। राज्यों में तेल की एवरेज (औसत) प्राइस की बात करें तो इनमें MP सबसे आगे है। यहां 26 फरवरी को पेट्रोल का एवरेज प्राइस 98.96 रुपए था जो देश में सबसे अधिक है। कुछ पड़ोसी राज्यों में पेट्रोल की औसत कीमत 90 रुपए से भी कम हैं।

पेट्रोल पंप एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय सिंह के अनुसार उत्तर प्रदेश में पेट्रोल 89.13 रुपए प्रति लीटर की औसत से बेचा गया था। छत्तीसगढ़ में कीमत 89.39 रुपए, गुजरात में 88.88 रुपए और अंडमान में 76.54 रुपए थी।

MP में कई जगह पेट्रोल 100 रु. के पार
MP में कई शहरों में पेट्रोल 100 रु. प्रति लीटर के पार निकल गया है। अनूपपुर में पेट्रोल 101.59 रुपए पर पहुंच गया है। वहीं, रीवा में 101.25 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। राजधानी भोपाल में यह 99.21 रुपए है।

वैट वसूलने के मामले में भी MP आगे
MP में 33% वैट वसूला जा रहा है। यह मणिपुर, तेलंगाना और राजस्थान के बाद सबसे ज्यादा है। 2019-20 में राज्य सरकार ने पेट्रोल पर वैट के जरिए 10,720 करोड़ रुपए कमाए थे। वहीं 2020-21 में दिसंबर तक 8,038 करोड़ की कमाई हो चुकी है।

पेट्रोल पर वैट टैक्स के मामले में टॉप 5 राज्य

राज्यवैट (% में)
मणिपुर36.50
राजस्थान36.00
तेलंगाना35.20
मध्यप्रदेश33.00
ओडिशा32.00

पेट्रोल पर प्रति लीटर 23 रुपए वैट वसूल रही MP सरकार
पेट्रोल-डीजल के बेस प्राइज पर जो अभी 32 रुपए के करीब है, इस पर केंद्र सरकार 33 रुपए एक्साइज ड्यूटी वसूल रही है। इसके बाद राज्य सरकारें इस पर अपने हिसाब से वैट और सेस वसूलती हैं, जिसके बाद इनका दाम बेस प्राइज से 3 गुना तक बढ़ गया है। MP में एक लीटर पेट्रोल पर करीब 23 रुपए वैट वसूला जा रहा है।

वैट से कमाई के मामले में ये राज्य सबसे आगे

राज्य2019-20 में कमाई (करोड़ रु. में)2019-20 में अप्रैल से दिसंबर तक की कमाई (करोड़ रु. में)
महाराष्ट्र26,79116,962
उत्तर प्रदेश20,11214,643
तमिलनाडु18,17511,826
राजस्थान13,31911,071
कर्नाटक15,38110,473
गुजरात15,33710,311
मध्यप्रदेश10,7208,038

MP में बॉर्डर के पेट्रोल पंप बंद होने की कगार पर
MP में जो पेट्रोल पंप दूसरे राज्यों की सीमा के नजदीक हैं, उनमें से ज्यादातर बंद होने की कगार पर हैं। दरअसल, ड्राइवर को मध्यप्रदेश की बजाय उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ और गुजरात से पेट्रोल भरवाना सस्ता पड़ रहा है। इससे पेट्रोल पंप मालिकों को नुकसान उठाना पड़ रहा है।

3 मार्च तक 26 बार बढ़े दाम
फरवरी में पेट्रोल-डीजल के रेट में 16 बार और जनवरी में 10 बार बढ़ोतरी हुई, जबकि मार्च में कीमतें स्थिर हैं। इस लिहाज से 2021 में अब तक फ्यूल के दाम 26 बार बढ़ चुके हैं। इस दौरान दिल्ली में पेट्रोल 4.62 रुपए और डीजल 4.74 रुपए महंगा हुआ है। इससे पहले जनवरी में रेट 10 बार बढ़े। इस दौरान पेट्रोल की कीमत में 2.59 रुपए और डीजल में 2.61 रुपए की बढ़ोतरी हुई थी। वहीं अगर 2021 की बात करें तो इस साल अब तक पेट्रोल 7.36 रुपए और डीजल 7.60 रुपए प्रति लीटर महंगा हुआ है।

अब तक 5 राज्यों ने टैक्स में कटौती की
अब तक पांच राज्य सरकारें पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले टैक्स में कटौती कर चुकी हैं। इन राज्यों में राजस्थान, पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय और नागालैंड शामिल हैं। पेट्रोलियम और नेचरल गैस मिनिस्ट्री ने कुछ दिनों पहले ही यह साफ कर दिया था कि सरकार पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले टैक्स में कोई कटौती नहीं करेगी। ऐसे में राज्य अपने स्तर पर लोगों को राहत दे रहे हैं।

अलग-अलग शहर में कीमत में अंतर क्यों होता है?
जब पेट्रोल-डीजल किसी पेट्रोल पंप पर पहुंचता है तो वो पेट्रोल पंप किसी ऑयल डिपो से कितना दूर है, उसके हिसाब से उस पर किराया लगता है। इसके कारण शहर बदलने के साथ यह किराया बढ़ता-घटता है। जिससे अलग-अलग शहर में भी कीमत में अंतर आ जाता है।

खबरें और भी हैं...