CII के कार्यक्रम में सोनोवाल:बोले- मिनिस्ट्री ऑफ पोर्ट्स ने गति शक्ति प्लान के तहत 101 प्रोजेक्ट्स की पहचान की

नई दिल्ली10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मिनिस्ट्री ऑफ पोर्ट्स, शिपिंग एंड वाटरवेज ने पीएम गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान के तहत 101 प्रोजेक्ट्स की पहचान की है। इसमें कंजंप्शन और प्रोडक्शन सेंटर्स के साथ पोर्ट कनेक्टिविटी को बढ़ाया जाएगा। केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने गुरुवार को इंडस्ट्री बॉडी CII के एक कार्यक्रम में ये बात कही।

लॉजिस्टिक कॉस्ट को कम करना महत्वपूर्ण
सोनोवाल ने कहा, देश के 24 राज्यों में फैले 111 वाटरवेज को नेशनल वाटरवेज घोषित किया गया है। उन्होंने कहा कि 'भारत के लिए लॉजिस्टिक्स कॉस्ट को कम करना महत्वपूर्ण है। हमारी सरकार देश भर में लॉजिस्टिक्स इकोसिस्टम को मजबूत करने के लिए कई कदम उठा रही है।'

अलग-अलग स्टेज में इंफ्रास्टक्चर प्रोजेक्ट
सोनोवाल ने कहा, 'सागरमाला, भारतमाला, डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (DFC) जैसे इंफ्रास्टक्चर प्रोजेक्ट इम्प्लीमेंटेशन की अलग-अलग स्टेज में हैं।' सागरमाला प्रोजेक्ट के तहत, मंत्रालय राज्य सरकारों को पोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट और स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम्स के लिए वित्तीय सहायता देता है।

पिछले महीने पीएम गति शक्ति को लॉन्च किया गया था
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी ने पिछले महीने पीएम गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान को लॉन्च किया था। गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान का मकसद लॉजिस्टिक्स कॉस्ट को कम करने के लिए मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी को प्रोत्साहित करना है।

100 लाख करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट्स की अच्छी मॉनिटरिंग
गति शक्ति की लॉन्चिंग के दौरान बताया गया था कि ये एक ऐसा डिजिटल मंच होगा, जो सरकार के 16 मंत्रालयों को आपस में जोड़ेगा। सरकार का दावा है कि ऐसा करने से करीब 100 लाख करोड़ रुपए की परियोजनाओं की अच्छी मॉनिटरिंग हो सकेगी।