• Hindi News
  • Business
  • PPF Loan Benefits 2021; Loan Against Public Provident Fund Account Amid Coronavirus Crisis

पर्सनल फाइनेंस:कोरोना काल में पैसों की जरूरत पड़ने पर अपने PPF पर भी ले सकते हैं लोन, इस पर कम ब्याज और आसानी से मिलता है कर्ज

नई दिल्ली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी के चलते कई लोगों की कमाई बंद या कम हो गई है। इस कारण लोगों को पैसों से जुड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में आपका पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF) अकाउंट आपकी इस समस्या को निपटा सकता है। आप PPF पर महज 1% की ब्याज दर पर लोन ले सकते हैं। आज हम आपको PPF पर लोन की सुविधा के बारे में बता रहे हैं।

PPF अकाउंट पर कब और कितना लोन ले सकते हैं?
PPF अकाउंट में जमा पर आप लोन भी ले सकते हैं। आपने जिस वित्त वर्ष में PPF अकाउंट खुलवाया है, उस वित्त वर्ष की समाप्ति के एक वित्त वर्ष बाद से लेकर पांचवें वित्त वर्ष की समाप्ति तक आप PPF से लोन लेने के हकदार हैं।

मान लीजिए अगर आपने जनवरी 2017 (वित्त वर्ष 2017-18) में PPF अकाउंट खुलवाया है तो आप 1 अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2023 तक लोन ले सकते हैं। 31 मार्च 2018 तक जमा पर अधिकतम 25% का लोन ले सकते हैं। इसी तरह अगर आप वित्त वर्ष 2022-23 में लोन लेते है तो 31 मार्च 2020 तक जमा पर अधिकतम 25% का लोन ले सकते हैं।

कितना देना होता है ब्याज?
PPF पर लोन लेने पर पहले लोन का मूलधन चुकाना होता है, उसके बाद ब्याज। मूलधन को दो या उससे ज्यादा इंस्टॉलमेंट या मंथली इंस्टॉलमेंट में चुकाया जा सकता है। लोन की मूलधन राशि का भुगतान जिस महीने में लोन लिया गया है, उससे 36 महीने में करना होता है। लोन के लिए प्रभावी ब्याज दर PPF पर मिल रहे ब्याज से केवल 1% ज्‍यादा रहती है। ब्याज को दो मंथली इंस्टॉलमेंट या एकमुश्त चुकाया जा सकता है। अगर आपने तय समय के अंदर लोन का मूलधन चुका दिया है, लेकिन ब्याज का कुछ हिस्सा बाकी है तो वह आपके PPF अकाउंट से काटा जाता है।

कितने समय के लिए ले सकते हैं लोन?
PPF अकाउंट पर आप अधिकतम तीन साल यानी 36 महीने के लिए लोन ले सकते हैं। इस अवधि में लिए गए लोन को चुकता करना होता है। साल में एक बार लोन मिलेगा। पूरी राशि जमा करने के बाद ही दोबारा लोन ले सकेंगे।

समय पर लोन न चुकाने पर क्या होगा?
अगर 36 महीने में लोन का भुगतान नहीं किया गया है या सिर्फ आंशिक तौर पर उसका भुगतान हुआ है, तो बचे हुए लोन की राशि पर सालाना 6% की दर से ब्याज लगेगा। यह 6% ब्याज दर जिस महीने में लोन लिया है, उसके अगले महीने के पहले दिन से लेकर जिस महीने आखिरी किश्त का भुगतान होगा, उसके आखिरी दिन तक रहेगी। यानी पहले जो ब्याज दर 1% बन रही थी, वह लोन 36 माह के अंदर चुकता नहीं कर पाने पर लोन की शुरुआत से 6% बनेगी।

लोन लेने वाले की मौत होने पर लोन चुकाने की जिम्मेदारी किसकी रहेगी?
अगर अकाउंट धारक की मौत हो जाती है, तो उसका नॉमिनी या उत्तराधिकारी उसके लोन और ब्याज का भुगतान करेगा। PPF पर ब्याज दरें तिमाही आधार पर बदलती हैं, लेकिन लोन की दर लोन चुकता होने तक वही रहेगी जो लोन लेते वक्त तय हुई थी।

कैसे ले सकते हैं लोन?
जहां आपका PPF अकाउंट है वहां जाकर आपको इसके लिए अप्लाई करना होता है। इसमें आपके PPF अकाउंट के डॉक्यूमेंट और आधार कार्ड के अलावा कुछ डॉक्यूमेंट देने होंगे। इसके बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें