पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मोदी वित्त मंत्रालय और नीति आयोग के अधिकारियों से मिले, रोजगार-अर्थव्यवस्था पर सुझाव मांगे

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • बजट सत्र 17 जून से 26 जुलाई तक चलेगा, आम बजट 5 जुलाई को पेश किया जाएगा
  • बजट में मोदी सरकार का फोकस कृषि, रोजगार निर्माण, अर्थव्यवस्था और निवेश पर 

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को वित्त मंत्रालय और नीति आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की। न्यूज एजेंसी को सूत्र ने बताया कि 5 जुलाई को बजट पेश होने से पहले यह अहम बैठक हुई। इसमें मोदी सरकार के 100 दिन के एजेंडा, रोजगार निर्माण और अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा की गई। मोदी इन बैठकों के जरिए अधिकारियों से सुझावों और सुधारों पर चर्चा कर रहे हैं। इन सुझावों को बजट में भी शामिल किया जा सकता है।

1) मोदी का मकसद हर विभाग के लिए सुधार का खाका तैयार करना

सूत्र के मुताबिक, बैठक में वित्त मंत्रालय के पांचों सचिव और नीति आयोग के अधिकारी मौजूद थे। उत्पादन के क्षेत्र में निवेश मोदी सरकार की प्राथमिकता है। इसके अलावा कृषि क्षेत्र की समस्याओं को दूर करना और आय बढ़ाना भी आने वाले बजट का मुख्य एजेंडा होगा।

बताया जा रहा है कि मोदी हर विभाग के लिए सुधार का खाका तैयार करना चाहते हैं और इसके पीछे उनका मकसद देश में व्यापार को आसान बनाना और अर्थव्यवस्था को मजबूत करना है।

बैठक में जीडीपी विकास दर को बढ़ाने के लिए सुधारों पर भी चर्चा की गई। यह 2018-19 में 6.8% यानी पांच साल में सबसे कम रही थी। 

आंकड़े बताते हैं कि महंगाई के नियंत्रण में रहने के बावजूद जनवरी-मार्च तिमाही में आर्थिक विकास दर 5.8% रही, यह भी पांच साल में सबसे कम थी। कृषि और उत्पादन क्षेत्र में खराब प्रदर्शन के चलते भारत चीन से पीछे हो गया। उधर, देश में 2017-18 में बेरोजगारी दर 6.1% रही। यह 45 साल में सबसे ज्यादा है। 

माना जा रहा है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट में धीमी अर्थव्यवस्था, एनपीए, रोजगार निर्माण, निजी निवेश, आयात जैसे मुद्दों पर विशेष ध्यान देंगी। बजट से पहले हुई बैठक में अर्थशास्त्रियों ने एनबीएफसी सेक्टर के लिए भी इन्सॉल्वेंसी और बैंकरप्सी जैसी व्यवस्था शुरू करने का सुझाव दिया था।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें