पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • RIL Mukesh Ambani | Reliance Industries (RIL) Market CAP Today Updates; Stock Reached Below Rs 2000

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

RIL का एम कैप घटा:तीन महीने में आरआईएल का शेयर 17 पर्सेंट टूटा, पहली बार 2000 रुपए से नीचे पहुंचा स्टॉक

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कंपनी के शेयर ने जनवरी से अबतक निवेशकों को 33% का रिटर्न दिया है
  • गुरुवार को कंपनी का मार्केट कैप घटकर 13.70 लाख करोड़ रुपए हो गया है

कमजोर ग्लोबल संकेतों के कारण गुरुवार को बाजार में भारी बिकवाली है। इसके चलते मार्केट में दिग्गज कंपनियों के शेयरों पर दबाव है। इसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर भी शामिल है। आज कारोबारी दिन के दौरान आरआईएल की कीमत तीन महीने यानी जुलाई के बाद पहली बार 17% टूटकर 2000 रुपए के नीचे पहुंच गया था, जो फिलहाल 2025 के भाव पर ट्रेड कर रहा है। शेयर अभी भी उच्चतम स्तर 14% नीचे कारोबार कर रहा है। इससे पहले 22 जुलाई को कंपनी के शेयर का भाव पहली बार 2000 रुपए के स्तर को पार किया था।

कंपनी का मार्केट कैप घटा

16 सितंबर को आरआईएल के शेयर ने 2,368.80 स्तर को छूआ था। यह शेयर का उच्चतम स्तर है। शेयर में शानदार बढ़त की बड़ी वजह रिलायंस ग्रुप की कंपनियों जैसे रिलायंस रिटेल, फाइबर असेट्स और रिलायंस जियो में भारी निवेश है। इस दौरान कंपनी का मार्केट कैप भी 15.40 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया था। मार्केट कैप के लिहाज से आरआईएल देश की सबसे बड़ी कंपनी है, जो 15 लाख करोड़ रुपए का आंकड़ा टच करने वाली भारत की एकमात्र कंपनी भी है।

इस साल निवेशकों को दिया शानदार रिटर्न

कंपनी का शेयर बीते पांच कारोबारी दिन में 4% टूट गया है। हालांकि, कंपनी के शेयर ने जनवरी से अबतक निवेशकों को 33% का रिटर्न दिया है। मार्केट कैप के लिहाज से आरआईएल के बाद टाटा ग्रुप की आईटी कंपनी टीसीएस दूसरे स्थान पर है, जिसका मार्केट कैप 9.87 लाख करोड़ रुपए हो गया है। बीते दिनों शेयर में अच्छी तेजी के चलते कंपनी का मार्केट 10 लाख करोड़ रुपए के पार भी पहुंच गया था। गुरुवार को कंपनी का मार्केट कैप घटकर 13.71 लाख करोड़ रुपए हो गया है।

आरआईएल के शेयरों में बढ़त की प्रमुख वजह

1. 2020 में रिलायंस रिटेल में विदेशी निवेशकों निवेशकों ने 37 हजार करोड़ रुपए से अधिक का निवेश किया। इसमें सिंगापुर सॉवरेन वेल्थ फंड जीआईसी सहित केकेआर, जनरल अटलांटिक, मुबाडला और सिल्वर लेक पार्टनर्स के निवेश शामिल हैं। आरआईएल ने इसके एवज में रिटेल वेंचर में 7.28% की हिस्सेदारी बेची है। दूसरी ओर आरआईएल की सब्सिडियरी कंपनी रिलायंस जियो में अबतक कुल 1.52 लाख करोड़ रुपए का निवेश आ चुका है।

2. कंपनी तय समय से पहले ही कर्ज मुक्त हो चुकी है। जानकारी के मुताबिक रिलायंस ग्रुप पर कुल 1.60 लाख करोड़ रुपए का कर्ज था। इसके लिए कंपनी ने जियो में हिस्सेदारी बेंच कर तय अवधि से पहले ही नेट डेट फ्री हो गई है। ऐसे में कंपनी फ्रेश इन्वेस्टमेंट से आगे के विस्तार पर पैसे लगाएगी। जानकारों का अनुमान है कि आनेवाले समय में करीबन 10 कंपनियां रिलायंस रिटेल में हिस्सा खरीद सकती हैं। उदाहरण के तौर पर अगस्त में आरआईएल ने फ्यूचर ग्रुप की रिटेल, होलसेल और लॉजिस्टिक्स कारोबार खरीदा था।

3. इस साल जियो प्लेटफॉर्म और रिलायंस रिटेल के लिए कई अरब डॉलर की डील साइन करने के बाद अब रिलायंस इंडस्ट्रीज की नजर स्मार्ट इलेक्ट्रिसिटी मीटर के मार्केट पर है। बीते महीने कंपनी से जुड़े एक अधिकारी ने बताया था कि रिलायंस अब मीटर डेटा, कम्युनिकेशन कार्ड, टेलीकॉम और क्लाउड होस्टिंग सेवाएं पावर होस्टिंग कंपनियों को देना चाहती है।

4. आरआईएल की ओर से 22 अक्टूबर को दायर रेग्यूलेटरी फाइलिंग में कहा गया था कि सिंतबर तिमाही में विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) की हिस्सेदारी बढ़कर 25.2% हो गई है। यह जून तिमाही में 24.72% रही थी।

चालू हफ्ते में कंपनी के शेयर में गिरावट की वजह

1. ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने फ्यूचर ग्रुप और रिलायंस के बीच हुए डील के खिलाफ सिंगापुर इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन सेंटर (SIAC) में याचिका दाखिल की थी। इस पर रविवार को मध्यस्थता अदालत ने अमेजन के पक्ष में फैसला सुनाते हुए इस डील पर रोक लगा दी थी। इससे पहले रिलायंस और फ्यूचर ग्रुप के बीच अगस्त महीने में 24,71. करोड़ रुपए की डील हुई थी। इसके तहत फ्यूचर ग्रुप ने अपना रिटेल, होलसेल और लॉजिस्टिक्स कारोबार रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड को बेच दिया था।

2. दुनियाभर में कोरोना के मामलों में दोबारा बढ़त देखने को मिल रही है। इसमें यूरोप और अमेरिका के देश सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। इससे ग्लोबल मार्केट में भारी बिकवाली देखने को मिली है। इसका असर घरेलू बाजार पर भी पड़ा है। बाजार में गिरावट के चलते देश के दिग्गज कंपनियों के शेयरों में भी गिरावट देखने को मिल रही है। इसमें आरआईएल, टीसीएस, इंफोसिस, कोटक बैंक और अन्य शामिल हैं।

निवेशकों को सलाह

निवेशकों की नजर में आरआईएल एक भरोसेमंद शेयर है। हाल के दिनों में बाजार में बिकवाली के चलते शेयर में गिरावट देखने को मिली है। लेकिन, ब्रोकरेज हाउसेस ने अभी निवेशकों को शेयर में निवेश की सलाह दी है। इसमें निर्मल बंग सिक्युरिटीज ने निवेशकों को पोजिशनल खरीदारी की सलाह दी है। आरआईएल के शेयर को 2014.40 के भाव पर खरीदारी की सलाह है और ऊपर की ओर 2050 का टार्गेट है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें