• Hindi News
  • Business
  • Mukesh Ambani; Reliance Q1 Results Today Update; RIL Industries Will Release Financial Results Today

RIL के जून तिमाही के नतीजे:रिटेल से रिलायंस की बंपर कमाई, जियो का मुनाफा 45% बढ़ा, कंपनी का रेवेन्यू 1.44 लाख करोड़ रुपए रहा

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को जून तिमाही के नतीजे घोषित किए। कंपनी को इस दौरान 12,273 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। यह एक साल पहले जून 2020 की तुलना में करीब 7% कम है। तब कंपनी को 13,248 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। इस तिमाही में कंपनी का कुल रेवेन्यू 1.44 लाख करोड़ रुपए रहा। एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में 58.2% ज्यादा है। इसमें रिटेल और जियो की बड़ी हिस्सेदारी रही है।

कंपनी ने कहा कि अगर अकेले रिलायंस इंडस्ट्रीज की बात करें तो रेवेन्यू तिमाही के दौरान 94,803 करोड़ रुपए रहा है। इस दौरान कैश प्रॉफिट 10,905 करोड़ रुपए रहा। इस दौरान कंपनी ने 56,156 करोड़ रुपए का निर्यात किया है। यह पिछले साल जून तिमाही की तुलना में 71.8% ज्यादा है।

जियो के हर ग्राहक से 138.4 रुपए कमाई
डिजिटल प्लेटफॉर्म जियो का तिमाही में कुल रेवेन्यू 22,267 करोड़ रुपए रहा है, जबकि मुनाफा 3,651 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले की तुलना में फायदे में 45% की ग्रोथ रही है। कुल ग्राहकों की संख्या 44 करोड़ रही है। इसने तिमाही के दौरान 4.23 करोड़ ग्राहक जोड़े हैं। जियो की प्रति ग्राहक कमाई 138.4 रुपए रही है।

रिलायंस रिटेल का रेवेन्यू 38,547 करोड़ रुपए
रिटेल सेगमेंट का रेवेन्यू 38,547 करोड़ रुपए रहा है। फायदा 962 करोड़ रुपए रहा है। यह एक साल पहले की तुलना में 123 पर्सेंट ज्यादा रहा है। तिमाही के दौरान कंपनी ने 123 नए स्टोर खोले और कुल स्टोर की संख्या 12,803 हो गई। कंपनी ने बताया कि ऑयल टू केमिकल सेगमेंट का कुल रेवेन्यू जून तिमाही में 103,212 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले यह 58,906 करोड़ रुपए था। इसमें 75% की बढ़त रही है।

चुनौती भरे माहौल में मजबूत ग्रोथ: मुकेश अंबानी
कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा कि हम अपनी कंपनी के मजबूत ग्रोथ को लेकर खुश हैं। खासकर चुनौती भरे माहौल में ऐसा प्रदर्शन रहा। तिमाही के दौरान कोरोना की दूसरी लहर रही, फिर भी हमने अच्छी ग्रोथ दिखाई है। यह रिजल्ट रिलायंस के बेहतरीन पोर्टफोलियो को दिखाता है, जहां पर खपत के सेगमेंट को हम बड़े पैमाने पर कवर करते हैं।

बाजार बंद होने के बाद रिजल्ट आया
कंपनी ने आज बाजार बंद होने के बाद रिजल्ट जारी किया है। इसके शेयरों पर रिजल्ट का असर सोमवार को दिखेगा। रिजल्ट से पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर आज 0.79% गिरावट के साथ 2104 रुपए पर बंद हुआ।

2020-21 में 53,729 करोड़ का फायदा था वित्त वर्ष 2020-21 में कंपनी को 53,729 करोड़ रुपए का रिकॉर्ड फायदा हुआ है। एक साल पहले के लाभ की तुलना में यह 34.8% ज्यादा था। कंपनी ने 7 रुपए प्रति शेयर लाभांश यानी डिविडेंड देने की घोषणा की थी। डिविडेंड मतलब अपने फायदे में से निवेशकों को गिफ्ट के रूप में कुछ हिस्सा देने से होता है। पूरे साल के दौरान 5.39 लाख करोड़ रुपए इसका रेवेन्यू रहा था।

चौथी तिमाही में रेवेन्यू 1.72 लाख करोड़ रुपए
चौथी तिमाही की बात करें तो रिलायंस इंडस्ट्रीज ग्रुप का कुल रेवेन्यू 1 लाख 72 हजार 95 करोड़ रुपए था, जो एक साल पहले जनवरी-मार्च की तुलना में 24.9% ज्यादा रहा। शुद्ध फायदा 14,995 करोड़ रुपए रहा, जो एक साल पहले हुए 6,348 करोड़ की तुलना में 129% ज्यादा रहा था। केवल रिलायंस इंडस्ट्रीज की बात करें तो उसका रेवेन्यू 90 हजार 792 करोड़ रुपए रहा है, जिसमें 27.1% की बढ़त रही है। शुद्ध लाभ 7,617 करोड़ रुपए रहा है, जो 11.7% कम है।

शेयर की कीमतें तेजी से बढ़ेंगी
उधर, ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस जेफरीज का अनुमान है कि यह शेयर 50% यहां से बढ़ सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि कंपनी ऑयल केमिकल बिजनेस में हिस्सेदारी बेचने में सफल हो सकती है। साथ ही आने वाले दिनों में रिलायंस जियो की लिस्टिंग भी अनाउंस हो सकती है।

कई कंपनियों का किया अधिग्रहण
कंपनी ने हाल के समय में डिजिटल में नेटमेड्स, अर्बन लैडर, जिवामे जैसी कंपनियों को खरीदा तो रिटेल में इसने हाल में जस्ट डायल में 67% हिस्सेदारी खरीदने का फैसला किया है। यह डील 3,497 करोड़ रुपए में हुई है। ऐसा अनुमान है कि कंपनी वित्त वर्ष 2026 तक इसका कैश फ्लो बढ़ कर 1.5 लाख करोड़ रुपए हो सकता है। यह पूरी तरह से नेट डेट फ्री कंपनी है।

रिलायंस ने पिछले महीने एजीएम में कहा था कि वह 75 हजार करोड़ रुपए नए एनर्जी बिजनेस में निवेश करेगी। यह निवेश अगले तीन साल में होगा। यह कंपनी ऑयल से केमिकल, रिटेल और डिजिटल सेक्टर में काम करती है।

खबरें और भी हैं...