• Hindi News
  • Business
  • Mukesh Ambani | Reliance Share Price Today Update; RIL Reliance Industries Market Cap Decreased By 40000 Crores

मुकेश अंबानी के भाषण का असर:रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर आज 3% टूटा, मार्केट कैप 40 हजार करोड़ घटा

मुंबई4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कल शेयर डेढ़ पर्सेंट टूटा था और मार्केट कैप 30 हजार करोडड घटा था
  • इस समय कंपनी का शेयर 2,081 रुपए पर कारोबार कर रहा है

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी के शब्दों का बुरा असर उनके कंपनी के शेयरों पर दिख रहा है। कल करीबन डेढ़ पर्सेंट तक टूटने के बाद आज कंपनी का शेयर 3% तक टूट गया है। आज मार्केट कैपिटलाइजेशन में 40 हजार करोड़ रुपए की कमी आई है।

सुबह से शेयरों की कीमतों में गिरावट

आज सुबह से ही रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर टूट रहा है। यह इस समय 2,081 रुपए पर कारोबार कर रहा है। इसका मार्केट कैप 13.25 लाख करोड़ रुपए हो गया है। कल बाजार बंद होते समय शेयर 2,153 रुपए पर जबकि मार्केट कैप 13.65 लाख करोड़ रुपए था। यानी दो दिनों में अंबानी के शब्दों से 70 हजार करोड़ इसके मार्केट कैप में गिरावट आई है।

काफी सारी घोषणाएं की हैं

अंबानी ने कल कंपनी की 44 वीं AGM में ढेर सारी घोषणाएं कीं। इसमें 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का विभिन्न परियोजनाओं में निवेश, जियो के नए फोन और रिटेल पर ग्रोथ जैसी बातें कीं। साथ ही सउदी अरामको के साथ दो साल से अटकी डील को भी उन्होंने पूरा करने का संकेत दिया। पर बाजार के निवेशकों को उनकी इन बातों का कोई असर नहीं हुआ। AGM के पहले से ही शेयरों में गिरावट थी। उम्मीद थी कि अंबानी कुछ अच्छी घोषणाएं कर सकते हैं। हालांकि अच्छी घोषणाओं के बावजूद बाजार ने इनकी बातों को गंभीरता से नहीं लिया।

इस AGM में विभिन्न देशों से 3.5 लाख लोगों ने भाग लिया। पिछले साल 41 देशों से 3 लाख लोगों ने भाग लिया था।

44 वीं AGM में निराशा

2019 की एजीएम में मुकेश अंबानी ने सउदी अरामको के साथ 20 पर्सेंट हिस्सेदारी की डील की घोषणा थी। 2 साल बाद एक बार फिर से वही बात उन्होंने कही है कि जल्द ही इसे फाइनल किया जाएगा। निवेशकों को इस पर भी कोई स्पष्ट पिक्चर नहीं दिखी।

कंपनी का प्रदर्शन आउटस्टैंडिंग

मुकेश अंबानी ने कहा कि रिलायंस का प्रदर्शन लगातार आउटस्टैंडिंग रहा है। इसका कुल रेवेन्यू 5.40 लाख करोड़ रुपए रहा है। देश की बड़ी कंपनी के रूप में रिलायंस का देश की इकोनॉमी में योगदान अच्छा रहा है। 75 हजार नया रोजगार दिया है। हमारा ऑयल टू केमिकल बिजनेस इकोनॉमी में गिरावट के कारण चुनौतियों से जूझता रहा। अभी भी ग्लोबल लेवल पर रिलायंस ही एकमात्र कंपनी है जो पूरी क्षमता के साथ अपना ऑपरेशन चला रही है और हर तिमाही में फायदा कमा रही है।

नेट डेट फ्री बैलेंसशीट है

मुकेश अंबानी ने कहा कि रिलायंस ने नेट डेट फ्री बैलेंसशीट को मार्च 2021 के पहले ही पूरा कर लिया। हमारा लक्ष्य मार्च 2021 तक का था। इसे दो साल पहले पूरा किया गया है। रिलायंस ने सउदी अरामको के साथ रणनीतिक भागीदारी की घोषणा की है। सउदी अरामको के चेयरमैन और किंगडम के गवर्नर यासिर-अल-रुमायन रिलायंस इंडस्ट्रीज के बोर्ड में शामिल हुए हैं। किंगडम 430 अरब डॉलर का सॉवरेन वेल्थ फंड है। यानी सउदी अरामको के साथ जल्द ही डील पूरी हो सकती है।

पिछले 10 सालों में रिलायंस ने देश और शेयरहोल्डर्स की वैल्यू में 90 अऱब डॉलर का निवेश किया है। आने वाले दशक में रिलायंस 200 अरब डॉलर का डायरेक्टली और पार्टनर्स के साथ निवेश करेगा। रिलायंस ने पिछले साल 3 लाख 24 हजार 432 करोड़ रुपए जुटाया था। यह रकम जियो टेलीकॉम, रिटेल और राइट्स इश्यू के साथ अन्य तरीकों से जुटाई गई थी।

खबरें और भी हैं...