• Hindi News
  • Business
  • Reserve Bank Rule ATM, Bank ATM, SBI, HDFC Bank, ICICI Bank ATM, RBI ATM Bank, Bank ATM

RBI का नियम बैंकों पर पड़ेगा भारी:नए ATM को लगाने की रफ्तार हो सकती है धीमी, बंद हो सकते हैं दूर-दराज के ATM

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) का ATM के लिए नया नियम बैंकों को भारी पड़ने वाला है। इस वजह से बैंक अब नया ATM लगाने की रफ्तार धीमी कर सकते हैं। साथ ही दूर-दराज वाले इलाकों के ATM को बंद भी कर सकते हैं।

ATM खाली रहा तो 10 हजार की पेनाल्टी
रिजर्व बैंक ने पिछले महीने एक आदेश जारी किया था। इसमें कहा था कि ATM में अगर हर महीने 10 घंटे से ज्यादा कैश नहीं रहा तो बैंकों पर 10 हजार रुपए की पेनाल्टी प्रति ATM लगेगी। ऐसे में बैंकों के लिए यह दिक्कत वाला काम हो गया है। बैंक कहते हैं कि इस वजह से उनको अतिरिक्त खर्च करना पड़ेगा।

हर बैंक के कुछ ATM खाली रहते हैं
निजी सेक्टर के एक बैंक के अधिकारी ने कहा कि अगर हम देखें कि किसी भी बैंक के 10% से ज्यादा ATM में पैसा नहीं रहता है। इसके कई कारण हैं। पहला तो कुछ दूर दराज इलाकों में बिजली नहीं होती है। रात में रिमोट एरिया के कारण भी कुछ ATM को बंद करना होता है। कभी –कभार जनरेटर की दिक्कतें भी होती हैं।

रात में ज्यादातर ATM बंद हो जाते हैं
अधिकारी ने कहा कि सभी बैंक रात में काफी संख्या में ATM बंद करते हैं। ऐसे में इसका बहुत बड़ा असर बैंकों पर हो सकता है। क्योंकि वो दूर-दराज वाले ATM को रात में चालू नहीं कर सकते हैं। इसके कई कारण हैं। सुरक्षा के लिहाज से जहां गनमैन रखना होगा, वहीं रात भर बिजली का भी खर्च होता है। ऐसे में बैंकों के लिए यह एक अलग खर्च साबित होगा।

गनमैन रखने पर होता है 15 हजार का खर्च
एक गनमैन को रखने का महीने का खर्च 15-20 हजार रुपए है। ऐसे में बैंकों के लिए यह बहुत बड़ा खर्च होगा। देश में जून 2021 तक 2.39 लाख ATM थे। इसमें से 53% ATM मेट्रो और अर्बन शहरों में हैं जबकि 47% ATM सेबी अर्बन और ग्रामीण क्षेत्र में हैं। रिजर्व बैंक का यह नियम 1 अक्टूबर से लागू होगा।

थर्ड पार्टी कंपनियां दूर हो सकती हैं
एक अधिकारी ने कहा कि रिजर्व बैंक के इस नियम से ATM वाली जो थर्ड पार्टी कंपनियां हैं, वे भी दूर हो सकती हैं। क्योंकि हर ATM में कैश डालना भी एक चुनौती है। क्योंकि किसी भी ATM में कैश हर दिन नहीं डाला जाता है। यह रोटेशन पर होता है। ऐसे में यह भी एक चुनौती होगी कि हर दिन ATM को भरने के लिए गाड़ियों को भेजना होगा, जो एक अतिरिक्त खर्च होगा।

लोगों की जिंदगी आसान होगी
इंडियन बैंक एसोसिशएन के सीईओ सुनील मेहता ने इस बारे में कहा कि इस गाइडलाइंस से कुछ एरिया में ATM से फायदा होगा और लोगों की जिंदगी आसान होगी, पर बैंकों को इस मामले में ATM की संख्या घटाने पर भी मजबूर होना पड़ेगा। हालांकि यह बैंकों पर निर्भर है कि वो इसे किस तरह देख रहे हैं। इसका सीधा असर गांवों के ATM पर होगा।

गृहमंत्रालय का आदेश- 6 बजे के बाद ATM में कैश न डाला जाए
एक अधिकारी ने कहा कि 2018 में गृह मंत्रालय ने एक नोटिफिकेशन में कहा था कि रात 9 बजे के बाद शहरी क्षेत्र में और शाम 6 बजे के बाद ग्रामीण क्षेत्र के ATM में कैश न डाला जाए, क्योंकि इसमें खतरा है। कैश डालने का समय सुबह 9 से शाम 4 बजे तक तय किया गया था। इस नियम से कोई भी ATM महीने में 10 घंटे तक खाली रह सकता है। क्योंकि अगर शाम को 7 बजे कोई ATM खाली हो जाता है तो अगले दिन 9 बजे ही उसमें पैसा डाला जाएगा।

ATM से 2000 का नोट गायब
यही नहीं, अब तो ATM में 2 हजार रुपए का नोट भी नहीं मिलता है। इसलिए ग्राहक ज्यादा पैसा निकालते हैं। अगर 2 हजार का नोट ATM में डाला जाता है तो ग्राहक कम संख्या में नोट निकालते हैं। जबकि 500 रुपए का नोट ज्यादा संख्या में निकाला जाता है।

सबसे ज्यादा ATM SBI के पास
देश में ATM की बात करें तो सबसे ज्यादा ATM SBI के पास हैं। इसके पास 64 हजार ATM हैं। ICICI बैंक के पास 16,800 एक्सिस बैंक के पास 16,800, HDFC बैंक के पास 15 हजार और पंजाब नेशनल बैंक के पास 13,700 एटीएम हैं। कैनरा बैंक के पास 13,100, यूनियन बैंक के पास 11 हजार, बैंक ऑफ बड़ौदा के पास 11,600 और बैंक ऑफ इंडिया के पास 5,400 ATM हैं।