पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कॉरपोरेट रिजल्ट:​​​​​​​स्नैपडील के ऑपरेटिंग रेवेन्यू में मामूली बढ़ोतरी, FY20 में 846.4 करोड़ रहा, FY19 में 839.4 करोड़ रुपए था

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइनेंस व अन्य आमदनी घटने से कंपनी का टोटल रेवेन्यू FY20 में मामूली घटकर 916 करोड़ रुपए पर आ गया, जो FY19 में 925.3 करोड़ रुपए था - Dainik Bhaskar
फाइनेंस व अन्य आमदनी घटने से कंपनी का टोटल रेवेन्यू FY20 में मामूली घटकर 916 करोड़ रुपए पर आ गया, जो FY19 में 925.3 करोड़ रुपए था
  • FY20 में कंपनी को 274 करोड़ रुपए का घाटा हुआ
  • FY19 में उसने करीब 186 करोड़ रुपए का घाटा दर्ज किया था

ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस स्नैपडील ने गुरुवार को कहा कि कारोबारी साल 2019-20 में उसका कंसॉलिडेटेड ऑपरेटिंग रेवेन्यू मामूली बढ़ोतरी के साथ 846.4 करोड़ रुपए रहा। कारोबारी साल 2019-20 में उसका कंपनी ने 839.4 करोड़ रुपए का कंसॉलिडेटेड ऑपरेटिंग रेवेन्यू दर्ज किया था। हालांकि फाइनेंस व अन्य आमदनी घटने से कंपनी का टोटल रेवेन्यू FY20 में मामूली घटकर 916 करोड़ रुपए पर आ गया, जो FY19 में 925.3 करोड़ रुपए था।

कंपनी ने कहा कि FY20 में भी उसने बाजार का विस्तार करने के लिए निवेश किया। इसके कारण FY20 में उसे 274 करोड़ रुपए का घाटा हुआ, जबकि FY19 में उसने करीब 186 करोड़ रुपए का घाटा दर्ज किया था। कंपनी ने कहा कि नए उपयोगकर्ताओं को जोड़ने के लिए उसने वीडियो, वर्नाक्युलर व अन्य रणनीतिक प्रॉजेक्ट्स में निवेश किया।

खरीदारों की संख्या 1.9 करोड़ से बढ़कर 2.7 करोड़ पर पहुंची

कंपनी ने कहा कि उसके प्लेटफॉर्म पर खरीदारों की संख्या FY20 में बढ़कर 2.7 करोड़ पर पहुंच गई, जो FY19 में 1.9 करोड़ थी। पिछले कारोबारी साल में कंपनी ने 85 फीसदी से ज्यादा ऑर्डर की डिलीवरी टॉप 10 शहरों से बाहर के क्षेत्रों में की। उद्योग के आंकड़ों के हवाले से कंपनी ने कहा कि भारत में नॉन-फूड प्रॉडक्ट्स (मुख्यत: होम, फैशन और जनरल मर्केंडाइज) का मार्केट करीब सालाना 282 अरब डॉलर का है। इस सेगमेंट में वैल्यू/अनब्रांडेड प्रॉडक्ट्स की बिक्री (212 अरब डॉलर) ब्रांडेड प्रॉडक्ट्स (70 अरब डॉलर) के मुकाबले करीब तीन गुनी है।