स्टेट बैंक / मार्च तिमाही में 838 करोड़ रु. का मुनाफा, पिछले साल इसी तिमाही में 7,718 करोड़ का था घाटा

Dainik Bhaskar

May 10, 2019, 04:55 PM IST


प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
X
प्रतीकात्मक फोटोप्रतीकात्मक फोटो

  • शुक्रवार को जारी रिपोर्ट में बैंक ने कहा- एनपीए भी पहले से काफी कम हुआ
  • मार्च तिमाही में बैंक की आय 10.57% बढ़कर 75 हजार 670 करोड़ रुपए हुई 

मुंबई. भारतीय स्टेट बैंक को 2018-19 की मार्च तिमाही में 838.40 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। सूत्रों का कहना है कि बैंक का यह मुनाफा नॉन पर्फामिंग असेट्स (एनपीए) कम होने से हुआ है। पिछले साल इसी तिमाही (2017-18) में बैंक को 7 हजार 718 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। उस दौरान एनपीए में बढ़ोतरी होने की वजह से बैंक को नुकसान हुआ था। 

2018-19 में बैंक का शुद्ध एकीकृत लाभ 3,069.07 करोड़ रुपए रहा

  1. शुक्रवार को जारी रिपोर्ट में बैंक ने बताया कि मार्च तिमाही में उसकी आय करीब 10.57% बढ़कर 75 हजार 670 करोड़ रुपए हो गई। एक साल पहले इसी अवधि में बैंक की आय 68 हजार 436 करोड़ रुपए थी। 2018-19 में बैंक का शुद्ध एकीकृत लाभ 3,069.07 करोड़ रुपए रहा, जबकि 2017-18 में उसे 4,187.41 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था।

  2. 2017-18 वित्त वर्ष के दौरान बैंक को बैड लोन की वजह से घाटा झेलना पड़ा था। पिछले साल की आखिरी तिमाही तक इस तरह के लोन 24% बढ़कर 17 हजार 335 करोड़ रुपए तक पहुंच गए थे। पिछले साल की तिमाही में एनपीए 8.71% था, जबकि इस बार यह आंकड़ा घटकर 7.53% तक रह गया है।

  3. 2018-19 दिसंबर की तिमाही से तुलना की जाए तो एनपीए में काफी कमी देखी गई है। बैंक का कहना है कि दिसंबर की तिमाही में एनपीए के तहत कुल रकम 1 लाख 87 हजार 764 करोड़ रुपए थी, जबकि मार्च की तिमाही में एनपीए के तहत आने वाली रकम 1 लाख 72 हजार 750 करोड़ रुपए है।

  4. बैंक के मुताबिक, मार्च तिमाही के दौरान खातों में जमा रकम 7.58% बढ़कर 29 लाख 11 हजार 386 करोड़ रुपए हो गई है। एडवांस रकम में कुल 13% की बढ़ोतरी हुई है। अब यह रकम 21 लाख 85 हजार 876 करोड़ रुपए हो गई है।
     

COMMENT