• Hindi News
  • Business
  • Sugar Production Increased By 31% To 142.70 Lakh Tonnes By 15 January 2020 21, Up From 108.94 Tonnes In The Same Period Last Year.

ISMA ने जारी किए आंकड़े:15 जनवरी तक 142.70 लाख टन हुआ चीनी का उत्पादन, पिछले साल के मुकाबले 31% बढ़ा

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मार्केटिंग ईयर 2020-21 के पहले साढ़े 3 महीनों में देश में चीनी का उत्पादन पिछले साल इसी अवधि के मुकाबले 31% बढ़ा है। 1 अक्टूबर से शुरू मार्केटिंग इयर 2020-21 के पहले साढ़े 3 महीने यानी 15 जनवरी तक 142.70 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है।

इंडियन शुगर मिल्स एसोसिऐशन (ISMA) के अनुसार पिछले मार्केटिंग ईयर (2019-20) की इस अवधि में ये उत्पादन 108.94 टन रहा था। चीनी के उत्पादन के मामले से भारत ब्राजील के बाद दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है। पिछले साल इस समय 440 शुगर मिल ऑपरेट हो रही थीं जबकि मार्केटिंग ईयर 2020-21 में इनकी संख्या बढ़कर 487 हो गई।

यूपी में घटा चीनी का उत्पादन
देश के प्रमुख चीनी उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश में चीनी का उत्पादन इस मार्केटिंग ईयर में 15 जनवरी तक 42.99 लाख टन रहा जो पिछले साल के मुकाबले कम रहा। पिछले मार्केटिंग ईयर में इसी अवधि में 43.78 लाख टन का उत्पादन हुआ था। देश के दूसरे सबसे बड़े चीनी उत्पादक राज्य महाराष्ट्र में उत्पादन इस अवधि में 25.51 लाख टन से बढ़कर 51.55 लाख टन हो गया। इसी तरह, देश का तीसरा सबसे बड़ा चीनी उत्पादक राज्य कर्नाटक में उत्पादन इस साल 15 जनवरी तक बढ़कर 29.80 लाख टन हो गया, जो एक साल पहले की अवधि में 21.90 लाख टन था।

गुजरात में उत्पादन 4.40 लाख टन और तमिलनाडु में 1.15 लाख टन तक पहुंच गया। जबकि बाकि राज्यों आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, बिहार, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और ओडिशा ने 15 जनवरी तक 12.81 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है।

क्षतिग्रस्त अनाज और बचे हुए चावल से तैयार होगा 39.36 करोड़ लीटर इथनॉल
ISMA ने कहा कि तेल विपणन कंपनियां 2020-21 में लगभग 309.81 करोड़ लीटर इथनॉल का निर्माण करेंगी। जिसमें क्षतिग्रस्त अनाज और बचे हुए चावल से लगभग 39.36 करोड़ लीटर इथनॉल तैयार किया जाएगा। यह ईंधन की कुल मांग के आधार पर 7-8% के इथेनॉल-पेट्रोल मिश्रण को सक्षम करेगा।

खबरें और भी हैं...